शहद का इस्तेमाल कहाँ और कैसे?- Where and how to use honey?

Share:


शरीर में एंटीबॉडी का निर्माण in hindi, Make antibodies in the body in hindi, बेहतरीन औषधि शहद  in hindi, Best medicine honey in hindi, Benefits of honey for health in hindi, Benefits of honey for health in hindi, Where and how to use honey? in hindi, शहद इस्तेमाल कहाँ और कैसे? hindi, shahad ka istemal kahan aur kaise? hindi, honey increase immunity in hindi, Honey reduces stress in hindi, Honey for burns and wounds in hindi, Honey helpful in high blood pressure in hindi, Honey for cholesterol in hindi, Honey for energy in hindi, Honey for bones in hindi, Honey for heart diseases in hindi, Honey for asthma in hindi, Honey prevents cancer in hindi, Honey helpful in weight loss in hindi, Olive oil with honey in hindi, Banana with honey in hindi, Egg with honey in hindi, Avocado with honey in hindi, Coconut oil with honey in hindi, Porridge with honey in hindi, Honey for skin in hindi, raat ko shahad khane ke fayde hindi, honey benefits for health in hindi, benefits of honey and lemon in hindi, lemon and honey for cough in hindi, shahad ka istemal kahan aur kaise? in hindi, sakshambano in hindi, saksham bano in hindi, in hindi, kiyon saksambano in hindi, kiyon saksambano achcha lagta hai in hindi, kaise saksambano in hindi, kaise saksambano brand se sampark  in hindi, sampark karein saksambano brand se in hindi, saksambano brand in hindi, sakshambano bahut accha hai in hindi, gyan ganga sakshambnao se in hindi,apne aap ko saksambano in hindi, ek kadam saksambano ki or in hindi,saksambano phir se in hindi, ek baar phir saksambano in hindi, ek kadam saksambano ki or in hindi, self saksambano in hindi, give advice to others for saksambano, saksambano ke upaya in hindi, saksambano-saksambano india in hindi,

शहद का इस्तेमाल कहाँ और कैसे?
(Where and how to use honey? in hindi)

प्राचीन काल से ही शहद को खाने के साथ-साथ एक बेहतरीन औषधि भी माना जाता रहा है। शहद कई गुणों और पोषक तत्वों से भरपूर होता है। इसका उपयोग आयुर्वेद में कई बीमारियों को दूर करने के लिए किया जाता रहा है और प्राचीन काल में इसे देवताओं का अमृत भी कहा जाता है। शहद सेहत के लिए कई प्रकार से फायदेमंद तो हैं और साथ में कमजोरी और बीमारियों को भी दूर करने में मददगार होता है। 

शहद में त्वचा को हाइड्रेट करने का गुण पाया जाता है, साथ ही एंटी-माइक्रोबियल गुण के कारण यह चेहरे पर होने वाले मुहांसे-फुन्सियों से छुटकारा दिलाता है। शहद का इस्तेमाल त्वचा को सेहतमंद और चमक लाने के लिए किया जा सकता है। इसके साथ ही यह बालों में भारीपन लाने में भी मदद करता है। शहद में 80 प्रतिशत चीनी और 20 प्रतिशत पानी से बना होता है। 

चीनी- पानी के टैक्शर के कारण यह गाढ़ा होता है। शहद के फायदे कई हैं जैसे वजन कम करना, ब्लड प्रेशर को लो रखना, कोलेस्टॉल को सामान्य बनाए रखना आदि। एक गिलास गर्म पानी में शहद और नींबू का रस मिक्स करके भी पी सकते हैं। यह मिश्रण डिटॉक्स का काम करता है। इसे सुबह खाली पेट पीने की सलाह दी जाती है।

स्वास्थ्य के लिए शहद के फायदे 
(Benefits of honey for health)

शहद रोग प्रतिरोधक क्षमता बढ़ाने के लिए: रोग प्रतिरोधक क्षमता के कमजोर होने से कई प्रकार की बीमारियां हो सकती हैं जैसे कि सर्दी, खांसी व जुकाम आदि। रोग प्रतिरोधक क्षमता को बेहतर करने के लिए शहद का उपयोग किया जा सकता है। शहद का सेवन करने से शरीर में एंटीबॉडी का निर्माण तेज गति से होता है, जो रोग प्रतिरोधक क्षमता को बेहतर करने में मदद कर सकता है।

शहद तनाव कम करता है:  शहद में एंटीडिप्रेसेंट प्रभाव पाया जाता है। इस प्रभाव के कारण शहद में अवसाद या तनाव को कम करने वाला गुण शामिल होते हैं। शहद का सेवन करने से तनाव कम हो सकता है। चिंता को कम करने के साथ-साथ शहद के गुण स्मृति में भी सुधार कर सकता है।

शहद जले हुए और घाव के लिए: शहद का उपयोग जलने पर और घावों की स्थिति को सुधारने के लिए किया जा सकता है। शहद न सिर्फ जलने की समस्या को ठीक करने में मददगार हो सकता है, बल्कि घाव को भरने में भी फायदेमंद हो सकता है। शहद में एंटी इंफेक्शन, एंटी-इंफ्लेमेटरी, एंटीऑक्सीडेंट और घाव भरने वाले गुण पाए जाते हैं। 

शहद उच्च रक्तचाप में मददगार: शहद में क्वेरसेटिन नामक फ्लेवोनोइड पाया जाता है। यह क्वेरसेटिन रक्तचाप की समस्या को कुछ कम करने में मददगार हो सकता है।

शहद कोलेस्ट्रॉल  के लिए: शहद के सेवन से कुल कोलेस्ट्रॉल, एलडीएल और ट्राइग्लिसराइड्स कोलेस्ट्रॉल के स्तर को कम किया जा सकता है। इसके अलावा, यह फायदेमंद कोलेस्ट्रॉल यानी एचडीएल को बढ़ाने में मददगार हो सकता है। शहद में पाए जाने वाले फ्लेवोनोइड्स हानिकारक कोलेस्ट्रॉल को कम करने में मददगार हो सकते हैं।

शहद एनर्जी के लिए : शहद का सेवन करने से शरीर में ऊर्जा को बनाए रखने में भी मदद मिल सकती है। शहद में विभिन्न तरह के मिनरल्स और विटामिन पाए जाते हैं जो ऊर्जा के स्तर को बढ़ाने में फायदेमंद हो सकते हैं।

बेहतरीन औषधि शहद 
(Best medicine honey)

शहद  हड्डियों के लिए: हड्डियों को मजबूत बनाने और हड्डियों के स्वास्थ्य के लिए शहद का उपयोग किया जा सकता है। शहद में एंटीऑक्सीडेंट के साथ-साथ एंटी-इंफ्लेमेटरी गुण भी पाए जाते हैं जो फ्री रेडिकल्स की समस्या के साथ ही सूजन को दूर करने में मदद कर सकते हैं।

शहद  हृदय रोगों के लिए: शहद का उपयोग करने पर हानिकारक कोलेस्ट्रॉल के स्तर को कम करने में मदद मिल सकती है जिससे हृदय रोग का खतरा होता है। शहद में क्वेरसेटिन, कैफिक एसिड फेनिथाइल एस्टर जैसे कई फेनोलिक कंपाउंड पाए जाते हैं। शहद में पाए जाने वाले ये आवश्यक तत्व और एंटीऑक्सीडेंट गुण हृदय रोगों के उपचार में कुछ फायदेमंद होते हैं।

शहद  अस्थमा के लिए: शहद का उपयोग बुखार और संक्रमण के लिए भी कारगर हो सकता है। हनी के एंटीऑक्सीडेंट, एंटी-इम्यूनो मॉड्यूलेटरी और एंटीबैक्टीरियल गुण शरीर में अस्थमा के प्रभाव को काफी कम कर सकते हैं।

शहद  कैंसर से बचाता है: शहद में पाए जाने वाले फेनोलिक कंपाउंड्स में एंटी-कैंसर गुण पाए जाते हैं जो कैंसर के कई प्रकारों से बचाने में फायदेमंद हो सकते हैं। शहद में एंटी-इंफ्लेमेटरी गुण होते हैं जो इसे कैंसर को रोकने का सबसे खास खाद्य पदार्थ बनाते हैं। शहद प्रतिरक्षा प्रणाली को भी सुधारने का काम कर सकता है जिससे कैंसर को बढ़ने से रोकने में कुछ मदद मिलती है।

शहद  एसिडिटी के लिए: शहद में एंटीऑक्सीडेंट गुण के साथ ही एंटीबैक्टीरियल गुण होते हैं, जो एसिडिटी का कारण बनने वाले रिफ्लक्स एसोफैगिटिस के इलाज में फायदेमंद होते हैं।

शहद  वजन घटाने में मददगार: शहद में वजन को बढ़ने से रोकने के गुण पाए जाते हैं और यह वजन के बढ़ने की गति को धीमा कर देता है। मोटापे को नियंत्रित करने के लिए शहद का इस्तेमाल दवा की तरह किया जा सकता है।

शहद के साथ ऑलिव ऑयल: यह दोनों ही बालों को नमी औ स्वस्थ बनाए रखने में मदद करते हैं। इससे बालों की उम्र बढ़ती है और सुखे बाल को स्वस्थ बनाने में भी मदद करता है। ऑलिव ऑयल से बालों को चमक और नमी मिलती है वहीं शहद बालों को पोषण देने में मदद करता है।


अपनाएं आयुर्वेद लाइफस्टाइल (Adopt ayurveda lifestyle in hindi)

शरीर में एंटीबॉडी का निर्माण
(Make antibodies in the body)

शहद के साथ केला: शहद और केले को अच्छे से मिक्स करना जरुरी है। यह मास्क कंडीशनर के तरह इस्तेमाल किया जा सकता है। यह मास्क बालों को पोषण से भरपूर करता है जिससे जडें मजबूत हो जाती हैं।

शहद के साथ अंडा: बालों का झड़ना और रूसी से बालों को दूर रखने के लिए शहद और अंडे को मिलाने के बाद क्रीम की तरह बन जाती है। बालों का झड़ना और रूसी कम होने में मदद मिलती है।

शहद के साथ एवोकाडो: एवोकाडो और शहद को एक साथ अच्छे से पीसकर बनाया जाता है। इस मिश्रण को बालों में 30 मिनट के लिए लगाएं और फिर ठंडे पानी से धो लें।

शहद के साथ नारियल तेल: नारियल तेल को शहद में मिलाने के बाद पोषण बढ़ जाता है। यह बालों को मिनरल्स और जरुरी पोषण देने में मदद करते हैं। बालों की जडों को मजबूत करने के लिए मास्क को लगाया जाता है।

शहद के साथ दलिया: शहद, दही और ओट्स का मिश्रण से बनाया जाता है। प्रदूषण के कारण बालों में होनी वाली गंदगी को हटाने के लिए इस मास्क को इस्तेमाल किया जाता है। इसके साथ ही बालों से एक्स्ट्रा तेल को भी निकालने में मदद मिलती है।

शहद त्वचा के लिए: बालों के साथ- साथ शहद को त्वचा के लिए भी फायदेमंद माना जाता है। शहद के फायदे त्वचा के लिए कई सारे हैं जैसे कि सूजन से लड़ना, सेल का खराब होना, मुहांसे आदि। 

जिन्हें एलर्जी होती है वो शहद का सेवन न करें। साथ ही भोजन में शहद की अधिकता शहद से संबंधित एलर्जी को बढ़ा सकती हैं। शहद के नुकसान में एनाफिलेक्सिसका नाम भी आता है जो एक प्रकार का एलर्जिक रिएक्शन और शहद के अधिक सेवन से पेट दर्द की समस्या खड़ी हो सकती है। 

इसमें फ्रुक्टोज की मात्रा पाई जाती है जो छोटी आंतों के पोषक तत्व को अवशोषित करने की क्षमता को बाधित कर सकता है। शहद के नुकसान के अंतर्गत फूड पॉइजनिंग भी आ सकती है। शहद के अधिक सेवन से बोटुलिज्म पॉइजनिंग हो सकती है।