मसूड़ों में दर्द और खून की परेशानी दूर- Gums pain and blood problems go away

Share:

 

मसूड़ों में दर्द और खून आना एक आम समस्या बन गई  in hindi, Pain and bleeding in the gums became a common problem in hindi, Adopt if gums bleed in hindi, masoodon mein dard in hindi, masoodon mein dard  aur khoon ki pareshani door in hindi, Gums pain and blood problems go away in hindi, Healthy gums are a sign of good health in hindi, Pain and bleeding in the gums due to carelessness has become a common problem in hindi, Citrus fruit in hindi, masoodon ka pain in hindi, masoodon ke barein mein in hindi, masoodon ki jankari in hindi, masoodon ka pdf in hindi, masoodon ki photo, masoodon ki jpg, masoodon ki jpeg, masoodon ki pdf, masoodon mein dard kiyon hota hai in hindi, masoodon mein dard ki ilaj in hindi, masudo me dard ka gharelu ilaj in hindi, masudo me sujan ka karan in hindi, masudo me dard in hindi, masuda fulne ki wajah in hindi, masudo me mawad in hindi, masudo me infection ka ilaj in hindi,  masuda pain in hindi, masuda pain article in hindi, masuda pain ki photo, sakshambano ka matlab in hindi सक्षम, sakshambano in hindi, sakshambano in eglish, sakshambano meaning in hindi, sakshambano in hindi, sakshambano ka matlab in hindi, sakshambano photo, sakshambano photo in hindi, sakshambano image in hindi, sakshambano image, sakshambano jpeg, sakshambano site in hindi, sakshambano wibsite in hindi, sakshambano website, sakshambano india in hindi, sakshambano desh in hindi, sakshambano ka mission hin hindi, sakshambano ka lakshya kya hai,  sakshambano ki pahchan in hindi,  sakshambano brand in hindi,  sakshambano company in hindi,  sakshambano author in hindi,  sakshambano kiska hai hindi,
    मसूड़ों में दर्द और खून की परेशानी दूर
    (Gums pain and blood problems go away in hindi)

    स्वस्थ मसूड़े अच्छे स्वास्थ्य की निशानी है। (Healthy gums are a sign of good health) दांतों की लापरवाही करने के कारण मसूड़ों में दर्द और खून आना एक आम समस्या बन गई है। (Pain and bleeding in the gums due to carelessness has become a common problem) जब दाँतों पर प्लाक पीला सा मैल जम जाता है तो दांत और मसूड़े के बीच जगह बन जाती है और यहाँ संक्रमण के कारण मसूड़े में सूजन पैदा हो जाती है। मसूड़ों से खून आना एक मेडिकल कंडिशन है पर कई बार किसी सख्त चीज को खाने या फिर ब्रश करने के दौरान चोट लग जाने से भी मसूड़ों से खून आने लगता है। ऐसा आमतौर पर मुंह की खराब स्वच्छता के कारण होता है।

    मसूड़ों से खून बहना साधारण लगता है लेकिन इसका मतलब मसूड़ों से नियमित रूप से खून बहना है। यह आमतौर पर प्लेटलेट विकार या ल्यूकेमिया जैसे कुछ गंभीर बीमारियों के कारण हो सकता है। ठीक से देखभाल नहीं की तो यह गिंगीवाइटिस यानी मसूड़ाशोथ या मसूड़ों में सूजन का रूप ले सकता है। मसूड़ों में खून रोकने के लिये घरेलू उपचारों में खट्टे फल, दूध, कच्ची सब्जियों, बेकिंग सोडा, लौंग, लौंग का तेल, ऋषि, पुदीना तेल, कैलेंडुला पत्ती चाय, कैमोमाइल चाय, नमकीन, मसूड़ों में मालिश, धूम्रपान छोड़ना और वसायुक्त भोजन आदि शामिल हैं।


    मसूड़ों से खून आता है तो अपनाएं
    (Adopt if gums bleed)

    मसूड़ों खट्टे फल मसूड़ों में दर्द और खून की परेशानी दूर करता है (Citrus fruit) : मसूड़ों में खून बहने के बड़े कारणों में से एक है विटामिन सी की कमी। खट्टे फल जैसे नारंगी, नींबू, आदि और सब्जियां विशेष कर ब्रॉकली और बंद गोभी आपको पर्याप्त मात्रा में विटामिन सी देकर मसूड़ों में रक्तस्राव रोक सकते हैं।

    सेंधा नमक मसूड़ों में दर्द और खून की परेशानी दूर करता है (Rock salt) : सेंधा नमक बारीक पीस कर कपडे से छान लें। इसमें से तीन चुटकी नमक हथेली में लेकर इसमें सरसों का तेल मिलाकर पतला लेप बना लें। अंगुली की मदद से इसकी बहुत हलके से मसूड़ों पर मालिश करें। फिर हलके गुनगुने पानी से कुल्ला कर लें। कुछ दिन नियमित इस प्रकार रोजाना दिन में दो बार मालिश करने से मसूड़ों की सूजन, मसूड़ों में टीस चलना बंद होता है तथा फूले मसूड़ों से खून गिरना बंद होता है।

    लौंग मसूड़ों में दर्द और खून की परेशानी दूर करता है (Cloves) : लौंग को या तो आप मुंह में रख सकते हैा या धीरे-धीरे चबा सकते हैं या लौंग के तेल से मसूड़ों पर मालिश कर सकते हैं।

    नमक का पानी मसूड़ों में दर्द और खून की परेशानी दूर करता है (Salt water) :  नमक का पानी ब्रश करने के बाद हलके गर्म पानी में नमक डालकर कुल्ला करने से आराम मिलता है। मसूड़ों में खून रोकने के लिए उपयोगी होता है।

    मसूड़ों में दर्द और खून आना एक आम समस्या बन गई
    (Pain and bleeding in the gums became a common problem)

    क्रैनबेरी मसूड़ों में दर्द और खून की परेशानी दूर करता है  (Cranberry) : कैनबेरी के जूस में एंटी-बैक्टीरियल गुण होते हैं, जो मसूड़ों से बेक्टीरिया को दूर कर देता है।

    सरसों के तेल में हल्दी मसूड़ों में दर्द और खून की परेशानी दूर करता है (Turmeric in Mustard Oil) : आधा चम्मच सरसों के तेल में आधा चम्मच हल्दी मिलाएं। इसमें एक चुटकी नमक मिलाकर मसूड़ों की उंगलियों से हल्की मालिश करें। रोज दिन में दो बार इस नुस्खे का इस्तेमाल करें। हल्दी में करक्यूमिन नामक तत्व होता है जो कि सूजन और बैक्टीरिया को खत्म करता है।

    नारियल तेल मसूड़ों में दर्द और खून की परेशानी दूर करता है (Coconut Oil) : एक चम्मच नारियल तेल लें और उंगलियों की मदद से इस तेल को मसूड़ों पर लगाएं और मालिश करें। ऐसा 10 से 15 मिनट तक करना है। नारियल के तेल में सूजन-रोधी और एंटी-माइक्रोबियल गुण होते हैं जो कि दांतों को साफ रखने के साथ-साथ मसूड़ों से खून आने और सूजन की समस्या से दूर रखते है।

    कैल्शियम मसूड़ों में दर्द और खून की परेशानी दूर करता है (Calcium) : दूध में मौजूद कैल्शियम एक ऐसा तत्व है जिसकी दांतों और मसूड़ों को खास आवश्यकता होती है। इनसे जुड़ी ज्यादातर समस्याओं के पीछे कैल्शियम की कमी होती है। ऐसे में दूध का सेवन करने से कैल्शियम की पूर्ति होने से यह दिक्कत दूर हो सकती है।

    अश्वगंधा मसूड़ों में दर्द और खून की परेशानी दूर करता है (Ashwagandha) : अश्वगंधा इम्यूनिटी बढ़ाने के साथ-साथ मसूड़ों की समस्या से भी निजात दिलाता है। अश्वगंधा में भरपूर मात्रा में एंटीऑक्सीडेंट पाए जाते हैं जो मसूड़ों को हेल्दी रखने में मदद करते हैं। इसके साथ ही मसूड़ों में आई सूजन और खून को बंद करता है। मसूड़ों से खून आने की समस्या से निजात पाने के लिए अश्वगंधा से पेस्ट बनाना जरूरी है। इसलिए एक बाउल में 1 चम्मच अश्वगंधा पाउडर, आधा चम्मच नमक और आधा चम्मच बेकिंग सोड़ा डालकर मिलाएं। इसके बाद इसमें थोड़ा सा पानी डालकर गाढ़ा पेस्ट बना लें।  इस पेस्ट को रात को सोने से पहले इसे मसूड़ों में लगा लें और दूसरे दिन सुबह उठकर साफ कर लें। इसे आप चाहे तो टूथपेस्ट की तरह भी यूज कर सकते हैं। 

    सब्जियां (Vegetables) : कच्ची सब्जियों को चबाने दांत साफ होते हैं और मसूड़ों में रक्त परिसंचरण को प्रेरित करता है इसलिए प्रतिदिन कच्ची सब्जियां खाने की आदत डाल लेनी चाहिए।

    No comments