हल्दी के अनेकों लाभ - Many benefits of Turmeric

Share:

हल्दी के अनेकों लाभ in hindi,  Many benefits of Turmeric in hindi हल्दी एक वनस्पति है in hindi इसका वैज्ञानिक नाम करकुमा लोंगा है in hindi प्राकृतिक रूप से इसका रंग पीला होता है in hindi कच्ची हल्दी बिलकुल अदरक की तरह ही दिखती है in hindi हल्दी के पाउडर को भोजन में एक मसाले की तरह इस्तेमाल किया जाता हैin hindi हल्दी के औषधीय गुण अनेक हैं in hindi जिनमें एंटीइन्फ्लेमेटरी in hindi एंटीऑक्सीडेंट in hindi एंटीट्यूमर in hindi एंटीसेप्टिक in hindi एंटीवायरल in hindi कार्डियोप्रोटेक्टिव in hindi (हृदय को स्वस्थ रखने वाला गुण in hindi), हेपटोप्रोटेक्टिव in hindi (लिवर स्वस्थ रखने वाला गुण in hindi) और नेफ्रोप्रोटेक्टिव in hindi (किडनी स्वस्थ रखने वाला गुण in hindi) गुण मुख्य हैं in hindi हल्दी में मौजूद करक्यूमिन एंटी-इन्फ्लेमेट्री गुणों से भरपूर है in hindi एक स्वस्थ व्यक्ति को दिनभर में in hindi 500 से 1000 मिलीग्राम करक्यूमिन की जरूरत होती है in hindi एक चम्मच हल्दी में लगभग 200 मिलीग्राम करक्यूमिन होता है in hindi और इसलिए दिनभर में चार या पांच चम्मच हल्दी ले सकते हैं in hindi इसका सीधा सेवन करने की बजाए हल्दी से बने in hindi अन्य प्रोडक्ट्स का सेवन करने से भी करक्यूमिन की कमी पूरी होती है in hindi इसलिए यह स्वास्थ्य के लिए अति लाभदायक होती है in hindi  हल्दी के कई फायदे in hindi (Haldi multiple benefits in hindi), हल्दी लिवर को विषैले तत्व से दूर रखती है in hindi (Turmeric keep away to liver from toxic elements in hindi) : लिवर से विषैले तत्व निकालने और लिवर को डिटॉक्सीफाई करने में हल्दी अपना महत्वपूर्ण कार्य करती है in hindi हल्दी रोगाणुओं को रोकने वाली in hindi (रोगाणुरोधक या एंटीसेप्टिक in hindi) होती है। यह तरह-तरह के इन्फेक्शंस से लड़ने की ताकत देती है in hindi अब चाहे अंदरूनी घाव हो या शरीर के बाहर के घाव in hindi, हल्दी उन्हें भरने का काम करती है in hindi स्वस्थ-स्वास्थ्य के लिए in hindi (For healthy lifestyle in hindi) :  रोग-प्रतिरोधक क्षमता का सही होना आवश्यक in hindi होता है। हल्दी का महत्वपूर्ण घटक करक्यूमिन एंटी-इन्फ्लेमेटरी in hindi गुणों से भरपूर होने के साथ-साथ इम्यूनोमॉड्यूलेटरी एजेंट की तरह भी काम कर सकता है in hindi यह टी व बी सेल्स (श्वेत रक्त कोशिकाएं in hindi) जैसे विभिन्न इम्यून सेल्स की कार्यप्रणाली in hindi को बेहतर करने में भी मदद कर सकता है in hindi जिससे शरीर कई तरह की बीमारियों जैसे एलर्जी in hindi, अस्थमा in hindi, मधुमेह और हृदय रोग से लड़ सकता ह in hindi कैंसर से बचाता है  in hindi,  (Prevents cancer in hindi) : हल्दी का उपयोग कैंसर के जोखिम से भी बचाव करने में सहायक हो सकता है  in hindi,  करक्यूमिन ट्यूमर सेल्स को कम करने  in hindi,  या उसके प्रसार को रोकने में मदद कर सकता है।  in hindi,  इसमें एंटीनियोप्लास्टिक गुण मौजूद होते हैं  in hindi,  इसमें एंटीकैंसर गुण भी मौजूद होता है  in hindi,  जो स्वस्थ-स्वास्थ्य के लिए लाभदायक होता है  in hindi,  सूजन पर नियंत्रण  in hindi,  (Inflammation control  in hindi, ) : सूजन की समस्या के लिए भी हल्दी लाभकारी हो सकती है  in hindi,  मनुष्यों पर किए गए शोध  in hindi,  में हल्दी का उपयोग सुरक्षित पाया गया  in hindi,  इसके साथ ही करक्यूमिन में एंटीइन्फ्लेमेटरी गुण  in hindi, की भी पुष्टि हुई, जो कि सूजन की समस्या से बचाव करने में लाभदायी है  in hindi,  तेज स्मरण शक्ति  in hindi,  (Fast memory  in hindi, ) : हल्दी में एंटीऑक्सीडेंट गुण भी पाया जाता है  in hindi,  जो शरीर को फ्री रेडिकल्स से मुक्त रखने  in hindi,  और आयरन के प्रभाव को संतुलित करने में मदद करता है  in hindi,  हल्दी में पाया जाने वाला एंटीऑक्सीडेंट गुण  in hindi,  मनुष्यों की स्मरण शक्ति को बढ़ाता है  in hindi,  पेट की परेशानी से राहत  in hindi,  (Stomach ache relief  in hindi, )  : पाचन संबंधी समस्या में हल्दी का उपयोग  in hindi,  न सिर्फ गैस और पेट फूलने की परेशानी से राहत दिला सकता है  in hindi,  बल्कि आंत संबंधी समस्या और पाचन संबंधी समस्याओं  in hindi,  से भी राहत दिलाने में सहायता करता है in hindi,  हल्दी में मौजूद एंटी-इन्फ्लेमेटरी और एंटीऑक्सीडेंट गुण in hindi,  अल्सर के जोखिम को भी कम करने में मदद कर सकते हैं in hindi,  मस्तिष्क संबंधी समस्या से राहत  in hindi,  (Relief from neurological problem  in hindi, ) :  अल्जाइमर  in hindi,  जो कि एक मस्तिष्क संबंधी  in hindi,  समस्या है, जिसमें व्यक्ति धीरे-धीरे अपनी याददाश्त खोने लगता है  in hindi,  इसके कारण अभी भी अज्ञात हैं  in hindi, , लेकिन बढ़ती उम्र इस बीमारी का एक जोखिम कारक हो सकता है in hindi,  हल्दी में एंटीऑक्सीडेंट  in hindi,  और एंटी-इन्फ्लेमेटरी गुण अल्जाइमर  in hindi,  की स्थिति में सुधार करने में सहायक होते है  in hindi,  स्किन के लिए लाभकारी  in hindi,  (Beneficial for skin  in hindi, ) : सेहत के लिए ही नहीं बल्कि हल्दी के फायदे  in hindi,  स्किन के लिए भी अनेक हैं  in hindi,  त्वचा संबंधी विकारों का उपचार करने में भी हल्दी के फायदे होता है  in hindi,  हल्दी में एंटीबैक्टीरियल  in hindi, , एंटीइंफ्लेमेटरी  in hindi,  एंटीऑक्सीडेंट गुण होते हैं  in hindi,  जिस कारण यह सोरायसिस के कारण त्वचा पर हुए जख्मों को जल्द भरने में मददगार होती है  in hindi,  हल्दी  त्वचा को सोरायसिस जैसी समस्या से राहत दिला सकती है  in hindi,  इसके अलावा  in hindi,  यह कील-मुंहासों की समस्या  in hindi,  पर भी प्रभावकारी हो सकती है  in hindi,  बालों के लिए फायदेमंद  in hindi,  (Beneficial for hair  in hindi, ) : हल्दी लगाने के फायदे बालों के लिए भी हैं  in hindi,  डैंड्रफ की परेशानी के लिए हल्दी  in hindi,  के साथ नारियल तेल का उपयोग एंटी-फंगल एजेंट की तरह काम कर सकता है  in hindi,  जिससे कि डैंड्रफ  in hindi,  और उससे होने वाली खुजली की समस्या से राहत मिल सकती है  in hindi,  रक्त साफ करने के लिए फायदेमंद  in hindi,  (Beneficial for blood cleansing  in hindi, ) : हल्दी का उपयोग खून के रिसाव को रोकने  in hindi, चोट को ठीक करने के लिए किया जाता है  in hindi,  कई बार हाथ पैरों में होने वाले दर्द से राहत पाने के लिए  in hindi,  भी हल्दी वाले दूध का इस्तेमाल किया जाता है  in hindi,  रक्षातंत्र मजबूत  in hindi,  (Strong immunity  in hindi, ) : हल्दी में एंटीसेप्टिक  in hindi,   और एंटीबायोटिक गुण होते हैं  in hindi,  और दूध में मौजूद कैल्शियम हल्दी के साथ मिलकर शरीर को फायदा पहुँचाता है  in hindi,  प्रतिदिन एक गिलास दूध में सुबह के समय आधा चम्मच हल्दी मिलाकर पीना स्वास्थ्य के लिए लाभकारी होता है  in hindi,  मोटापा कम करने के लिए  in hindi,  (To reduce obesity  in hindi, ) : गुनगुने दूध के साथ हल्दी के सेवन से शरीर में जमा अतिरिक्त फैट  in hindi,  धीरे-धीरे कम होने लगता है  in hindi,  इसमें उपस्थित कैल्शियम  in hindi,  और अन्य तत्व वजन कम करने में भी मददगार होते हैं  in hindi,  खून में से विषैले तत्व बाहर निकलता है  in hindi,  (Toxic substances come out of the blood  in hindi, )  आयुर्वेद में हल्दी को रक्त शोधन में  in hindi,  महत्वपूर्ण बताया गया है  in hindi,  हल्दी के सेवन से रक्त शोधित होता रहता है  in hindi,  इसे खाने से रक्त में मौजूद विषैले तत्व बाहर निकल जाते हैं  in hindi,  और इससे खून का संचालन अच्छी तरह से होता है  in hindi,  खून पतला होने के बाद रक्त का धमनियों में प्रवाह बढ़ जाता है  in hindi,  इसके कारण व्यक्ति को हृदय संबंधी परेशानियां नही रहती  in hindi, घाव में भरने में मददगार  in hindi,  (Wound healing  in hindi ) : हल्दी को चूने में मिलाकर गुम चोट में लगाने  in hindi,  से यह दर्द को कम देती है  in hindi,  और अलावा दूध में हल्दी मिलाकर पीने से कान दर्द  in hindi,  जैसी कई समस्याओं में आराम मिलता है  in hindi,  हल्दी में किसी भी चोट के घाव को तेजी से भरने का भी गुण होता है  in hindi,  यदि चोट लगने पर तेजी से खून बह रहा है  in hindi,  तो उस जगह तुरंत हल्दी डाल दें  in hindi,  इससे आपकी चोट का खून बहना कम हो जाएगा  in hindi,  सर्दी, जुकाम,कफ के लिए  in hindi,  (For colds, colds, phlegm  in hindi, ) : सर्दी, जुकाम या कफ होने पर दूध में हल्दी का सेवन लाभकारी साबित होता है  in hindi,  इससे सर्दी-जुकाम ठीक होता है  in hindi,  और फेफड़ों में जमा हुआ कफ भी निकल जाता है  in hindi,  मजबूत हड्डियां के लिए  in hindi,  (Strong bones  in hindi, ) : दूध में हल्दी मिलाकर पीने से हड्डियां मजबूत होती हैं  in hindi,  दूध में मौजूद कैल्शियम हड्डियों को मजबूत कर देता है  in hindi,  हल्दी रोग प्रतिरोधक क्षमता को बढ़ाती है  in hindi,  जिससे हड्डी संबंधित समस्याओं से छुटकारा मिलता है  in hindi,  अच्छी नींद के लिए  in hindi,  (To sleep well  in hindi, ) : नींद न आने की समस्या अपने विचारों में खोए रहना  in hindi,  जैसी समस्याओं के लिए सोने से आधे घंटे पहले हल्दी वाला दूध पीएं ऐसा करने से अच्छी नींद आती है  in hindi,  ब्लड शुगर में मददगार  in hindi, (Helpful in blood sugar  in hindi, ) : खून में ब्लड शुगर बढ़ने पर हल्दी  in hindi,  वाले दूध का सेवन फायदेमंद रहता है  in hindi,  दूध में हल्दी मिलाकर पीने से शुगर लेवल कम होता है  in hindi,  , हल्दी के कई फायदे in hindi, Haldi multiple benefits in hindi, To sleep well in hindi, haldi ke fayde in hindi,  haldi ke fayde or nuksan in hindi, haldi benefits in hindi, haldi milk in hindi, turmeric milk for cough in hindi, turmeric milk for cough for toddlers in hindi, haldi pepper milk in hindi, haldi se fayda in hindi, haldi kya hai in hindi, haldi ki jankari in hindi, haldi ka upyog karein in hindi, haldi se swasth swasthya in hindi, turmeric kya hota hai in hindi, turmeric water in hindi, Turmeric tea Benefits in hindi, The Unknown Facts & Benefits of Turmeric Water in hindi, Proven Health Benefits of Turmeric and Curcumin in hindi, turmeric water at night in hindi, How To Make Turmeric in hindi, benefits of drinking turmeric water for skin in hindi, turmeric benefits for men in hindi, turmeric benefits for women in hindi, turmeric benefits immunity in hindi, turmeric benefits for brain in hindi, turmeric benefits for liver in hindi, turmeric benefits for cough in hindi, हल्दी के अनेकों लाभ in hindi, Many benefits of Turmeric in hindi,   लिवर से विषैले तत्व निकालने और लिवर को डिटॉक्सीफाई करने में हल्दी अपना महत्वपूर्ण कार्य करती है in hindi, हल्दी रोगाणुओं को रोकने वाली (रोगाणुरोधक या एंटीसेप्टिक) होती है in hindi,  यह तरह-तरह के इन्फेक्शंस से लड़ने की ताकत देती है in hindi, अब चाहे अंदरूनी घाव हो या शरीर के बाहर के घाव in hindi, हल्दी उन्हें भरने का काम करती है in hindi, स्वस्थ-स्वास्थ्य के लिए रोग-प्रतिरोधक क्षमता का सही होना आवश्यक होता है in hindi, हल्दी का महत्वपूर्ण घटक करक्यूमिन एंटी-इन्फ्लेमेटरी गुणों से भरपूर होने के साथ-साथ इम्यूनोमॉड्यूलेटरी एजेंट की तरह भी काम कर सकता है in hindi, यह टी व बी सेल्स (श्वेत रक्त कोशिकाएं) जैसे विभिन्न इम्यून सेल्स की कार्यप्रणाली को बेहतर करने में भी मदद कर सकता है in hindi, जिससे शरीर कई तरह की बीमारियों जैसे एलर्जी, in hindi, अस्थमा in hindi,  मधुमेह और हृदय रोग से लड़ सकता है in hindi, हल्दी का उपयोग कैंसर के जोखिम से भी बचाव करने में सहायक हो सकता है in hindi,  करक्यूमिन ट्यूमर सेल्स को कम करने या उसके प्रसार को रोकने में मदद कर सकता है in hindi,  इसमें एंटीनियोप्लास्टिक गुण मौजूद होते हैं in hindi,  इसमें एंटीकैंसर गुण भी मौजूद होता है in hindi, जो स्वस्थ-स्वास्थ्य के लिए लाभदायक होता है in hindi, सूजन की समस्या के लिए भी हल्दी लाभकारी हो सकती हैj in hindi,  मनुष्यों पर किए गए शोध में हल्दी का उपयोग सुरक्षित पाया गया in hindi,  इसके साथ ही करक्यूमिन में एंटीइन्फ्लेमेटरी गुण की भी पुष्टि हुई in hindi,  जो कि सूजन की समस्या से बचाव करने में लाभदायी है in hindi,  हल्दी में एंटीऑक्सीडेंट गुण भी पाया जाता है in hindi, जो शरीर को फ्री रेडिकल्स से मुक्त रखने और आयरन के प्रभाव को संतुलित करने में मदद करता है in hindi, हल्दी में पाया जाने वाला एंटीऑक्सीडेंट गुण मनुष्यों की स्मरण शक्ति को बढ़ाता है in hindi, पाचन संबंधी समस्या में हल्दी का उपयोग न सिर्फ गैस  in hindi, पेट फूलने की परेशानी से राहत दिला सकता है in hindi, बल्कि आंत संबंधी समस्या और पाचन संबंधी समस्याओं से भी राहत दिलाने में सहायता करता है in hindi,  हल्दी में मौजूद एंटी-इन्फ्लेमेटरी और एंटीऑक्सीडेंट गुण अल्सर के जोखिम को भी कम करने में मदद कर सकते हैं in hindi, अल्जाइमर, जो कि एक मस्तिष्क संबंधी समस्या है in hindi,  जिसमें व्यक्ति धीरे-धीरे अपनी याददाश्त खोने लगता है in hindi,  इसके कारण अभी भी अज्ञात हैं, लेकिन बढ़ती उम्र इस बीमारी का एक जोखिम कारक हो सकता है in hindi,  हल्दी में एंटीऑक्सीडेंट और एंटी-इन्फ्लेमेटरी गुण अल्जाइमर की स्थिति में सुधार करने में सहायक होते है in hindi, सेहत के लिए ही नहीं बल्कि हल्दी के फायदे स्किन के लिए भी अनेक हैं in indi, त्वचा संबंधी विकारों का उपचार करने में भी हल्दी के फायदे होता है in hindi,  हल्दी में एंटीबैक्टीरियल, एंटीइंफ्लेमेटरी और एंटीऑक्सीडेंट गुण होते हैं in hindi, जिस कारण यह सोरायसिस के कारण त्वचा पर हुए जख्मों को जल्द भरने में मददगार होती है in hindi, हल्दी त्वचा को सोरायसिस जैसी समस्या से राहत दिला सकती है in hindi, इसके अलावा, यह कील-मुंहासों की समस्या पर भी प्रभावकारी हो सकती है in hindi, हल्दी लगाने के फायदे बालों के लिए भी हैं in hindi, डैंड्रफ की परेशानी के लिए हल्दी के साथ नारियल तेल का उपयोग एंटी-फंगल एजेंट की तरह काम कर सकता है in hindi, जिससे कि डैंड्रफ और उससे होने वाली खुजली की समस्या से राहत मिल सकती है in hindi, हल्दी का उपयोग खून के रिसाव को रोकने या चोट को ठीक करने के लिए किया जाता है in hindi, कई बार हाथ पैरों में होने वाले दर्द से राहत पाने के लिए भी हल्दी वाले दूध का इस्तेमाल किया जाता है in hindi, हल्दी में एंटीसेप्टिक और एंटीबायोटिक गुण होते हैं in hindi, और दूध में मौजूद कैल्शियम हल्दी के साथ मिलकर शरीर को फायदा पहुँचाता है in hindi, प्रतिदिन एक गिलास दूध में सुबह के समय आधा चम्मच हल्दी मिलाकर पीना स्वास्थ्य के लिए लाभकारी होता है in hindi, गुनगुने दूध के साथ हल्दी के सेवन से शरीर में जमा अतिरिक्त फैट धीरे-धीरे कम होने लगता है in hindi, इसमें उपस्थित कैल्शियम और अन्य तत्व वजन कम करने में भी मददगार होते हैं in hindi, आयुर्वेद में हल्दी को रक्त शोधन में महत्वपूर्ण बताया गया है in hindi,  हल्दी के सेवन से रक्त शोधित होता रहता है in hindi, इसे खाने से रक्त में मौजूद विषैले तत्व बाहर निकल जाते हैं in hindi, और इससे खून का संचालन अच्छी तरह से होता है in hindi, खून पतला होने के बाद रक्त का धमनियों में प्रवाह बढ़ जाता है in hindi, इसके कारण व्यक्ति को हृदय संबंधी परेशानियां नही रहती in hindi, हल्दी को चूने में मिलाकर गुम चोट में लगाने से यह दर्द को कम देती है in hindi, और अलावा दूध में हल्दी मिलाकर पीने से कान दर्द जैसी कई समस्याओं में आराम मिलता है in hindi,  हल्दी में किसी भी चोट के घाव को तेजी से भरने का भी गुण होता है in hindi, यदि चोट लगने पर तेजी से खून बह रहा है in hindi, तो उस जगह तुरंत हल्दी डाल दें in hindi,  इससे आपकी चोट का खून बहना कम हो जाएगा in hindi, सर्दी, जुकाम या कफ होने पर दूध में हल्दी का सेवन लाभकारी साबित होता है in hindi, इससे सर्दी-जुकाम ठीक होता है in hindi, और फेफड़ों में जमा हुआ कफ भी निकल जाता है in hindi, दूध में हल्दी मिलाकर पीने से हड्डियां मजबूत होती हैं in hindi, दूध में मौजूद कैल्शियम हड्डियों को मजबूत कर देता है in hindi,  हल्दी रोग प्रतिरोधक क्षमता को बढ़ाती है in hindi, जिससे हड्डी संबंधित समस्याओं से छुटकारा मिलता है in hindi, नींद न आने की समस्या अपने विचारों में खोए रहना जैसी समस्याओं के लिए in hindi, सोने से आधे घंटे पहले हल्दी वाला दूध पीएं in hindi, ऐसा करने से अच्छी नींद आती है in hindi, खून में ब्लड शुगर बढ़ने पर हल्दी वाले दूध का सेवन फायदेमंद रहता है in hindi,  दूध में हल्दी मिलाकर पीने से शुगर लेवल कम होता है in hindi,

 Many benefits of Turmeric  
हल्दी के अनेकों लाभ
  • हल्दी एक वनस्पति है इसका वैज्ञानिक नाम करकुमा लोंगा है। प्राकृतिक रूप से इसका रंग पीला होता है। कच्ची हल्दी बिलकुल अदरक की तरह ही दिखती है। हल्दी के पाउडर को भोजन में एक मसाले की तरह इस्तेमाल किया जाता है। हल्दी के औषधीय गुण अनेक हैं, जिनमें एंटीइन्फ्लेमेटरी, एंटीऑक्सीडेंट, एंटीट्यूमर, एंटीसेप्टिक, एंटीवायरल, कार्डियोप्रोटेक्टिव (हृदय को स्वस्थ रखने वाला गुण), हेपटोप्रोटेक्टिव (लिवर स्वस्थ रखने वाला गुण) और नेफ्रोप्रोटेक्टिव (किडनी स्वस्थ रखने वाला गुण) गुण मुख्य हैं। हल्दी में मौजूद करक्यूमिन एंटी-इन्फ्लेमेट्री गुणों से भरपूर है। एक स्वस्थ व्यक्ति को दिनभर में 500 से 1000 मिलीग्राम करक्यूमिन की जरूरत होती है। एक चम्मच हल्दी में लगभग 200 मिलीग्राम करक्यूमिन होता है और इसलिए दिनभर में चार या पांच चम्मच हल्दी ले सकते हैं। इसका सीधा सेवन करने की बजाए हल्दी से बने अन्य प्रोडक्ट्स का सेवन करने से भी करक्यूमिन की कमी पूरी होती है। इसलिए यह स्वास्थ्य के लिए अति लाभदायक होती है। 
हल्दी के कई फायदे
(Haldi multiple benefits in hindi)
  • हल्दी लिवर को विषैले तत्व से दूर रखती है (Turmeric keep away to liver from toxic elements) : लिवर से विषैले तत्व निकालने और लिवर को डिटॉक्सीफाई करने में हल्दी अपना महत्वपूर्ण कार्य करती है। हल्दी रोगाणुओं को रोकने वाली (रोगाणुरोधक या एंटीसेप्टिक) होती है। यह तरह-तरह के इन्फेक्शंस से लड़ने की ताकत देती है। अब चाहे अंदरूनी घाव हो या शरीर के बाहर के घाव, हल्दी उन्हें भरने का काम करती है।
  • स्वस्थ-स्वास्थ्य के लिए (For healthy lifestyle) :  रोग-प्रतिरोधक क्षमता का सही होना आवश्यक होता है। हल्दी का महत्वपूर्ण घटक करक्यूमिन एंटी-इन्फ्लेमेटरी गुणों से भरपूर होने के साथ-साथ इम्यूनोमॉड्यूलेटरी एजेंट की तरह भी काम कर सकता है। यह टी व बी सेल्स (श्वेत रक्त कोशिकाएं) जैसे विभिन्न इम्यून सेल्स की कार्यप्रणाली को बेहतर करने में भी मदद कर सकता है। जिससे शरीर कई तरह की बीमारियों जैसे एलर्जी, अस्थमा, मधुमेह और हृदय रोग से लड़ सकता है।
  • कैंसर से बचाता है (Prevents cancer) : हल्दी का उपयोग कैंसर के जोखिम से भी बचाव करने में सहायक हो सकता है। करक्यूमिन ट्यूमर सेल्स को कम करने या उसके प्रसार को रोकने में मदद कर सकता है। इसमें एंटीनियोप्लास्टिक गुण मौजूद होते हैं। इसमें एंटीकैंसर गुण भी मौजूद होता है जो स्वस्थ-स्वास्थ्य के लिए लाभदायक होता है।
  • सूजन पर नियंत्रण (Inflammation control) : सूजन की समस्या के लिए भी हल्दी लाभकारी हो सकती है। मनुष्यों पर किए गए शोध में हल्दी का उपयोग सुरक्षित पाया गया। इसके साथ ही करक्यूमिन में एंटीइन्फ्लेमेटरी गुण की भी पुष्टि हुई, जो कि सूजन की समस्या से बचाव करने में लाभदायी है।
  • तेज स्मरण शक्ति (Fast memory) : हल्दी में एंटीऑक्सीडेंट गुण भी पाया जाता है, जो शरीर को फ्री रेडिकल्स से मुक्त रखने और आयरन के प्रभाव को संतुलित करने में मदद करता है। हल्दी में पाया जाने वाला एंटीऑक्सीडेंट गुण मनुष्यों की स्मरण शक्ति को बढ़ाता है।
  • पेट की परेशानी से राहत (Stomach ache relief)  : पाचन संबंधी समस्या में हल्दी का उपयोग न सिर्फ गैस और पेट फूलने की परेशानी से राहत दिला सकता है, बल्कि आंत संबंधी समस्या और पाचन संबंधी समस्याओं से भी राहत दिलाने में सहायता करता है। हल्दी में मौजूद एंटी-इन्फ्लेमेटरी और एंटीऑक्सीडेंट गुण अल्सर के जोखिम को भी कम करने में मदद कर सकते हैं।
  • मस्तिष्क संबंधी समस्या से राहत (Relief from neurological problem) :  अल्जाइमर, जो कि एक मस्तिष्क संबंधी समस्या है, जिसमें व्यक्ति धीरे-धीरे अपनी याददाश्त खोने लगता है। इसके कारण अभी भी अज्ञात हैं, लेकिन बढ़ती उम्र इस बीमारी का एक जोखिम कारक हो सकता है। हल्दी में एंटीऑक्सीडेंट और एंटी-इन्फ्लेमेटरी गुण अल्जाइमर की स्थिति में सुधार करने में सहायक होते है।
  • स्किन के लिए लाभकारी (Beneficial for skin) : सेहत के लिए ही नहीं बल्कि हल्दी के फायदे स्किन के लिए भी अनेक हैं। त्वचा संबंधी विकारों का उपचार करने में भी हल्दी के फायदे होता है। हल्दी में एंटीबैक्टीरियल, एंटीइंफ्लेमेटरी और एंटीऑक्सीडेंट गुण होते हैं, जिस कारण यह सोरायसिस के कारण त्वचा पर हुए जख्मों को जल्द भरने में मददगार होती है। हल्दी त्वचा को सोरायसिस जैसी समस्या से राहत दिला सकती है। इसके अलावा, यह कील-मुंहासों की समस्या पर भी प्रभावकारी हो सकती है।
  • बालों के लिए फायदेमंद (Beneficial for hair) : हल्दी लगाने के फायदे बालों के लिए भी हैं। डैंड्रफ की परेशानी के लिए हल्दी के साथ नारियल तेल का उपयोग एंटी-फंगल एजेंट की तरह काम कर सकता है। जिससे कि डैंड्रफ और उससे होने वाली खुजली की समस्या से राहत मिल सकती है।
  • रक्त साफ करने के लिए फायदेमंद (Beneficial for blood cleansing) : हल्दी का उपयोग खून के रिसाव को रोकने या चोट को ठीक करने के लिए किया जाता है। कई बार हाथ पैरों में होने वाले दर्द से राहत पाने के लिए भी हल्दी वाले दूध का इस्तेमाल किया जाता है।
  • रक्षातंत्र मजबूत (Strong immunity) : हल्दी में एंटीसेप्टिक और एंटीबायोटिक गुण होते हैं और दूध में मौजूद कैल्शियम हल्दी के साथ मिलकर शरीर को फायदा पहुँचाता है। प्रतिदिन एक गिलास दूध में सुबह के समय आधा चम्मच हल्दी मिलाकर पीना स्वास्थ्य के लिए लाभकारी होता है।
  • मोटापा कम करने के लिए (To reduce obesity) : गुनगुने दूध के साथ हल्दी के सेवन से शरीर में जमा अतिरिक्त फैट धीरे-धीरे कम होने लगता है। इसमें उपस्थित कैल्शियम और अन्य तत्व वजन कम करने में भी मददगार होते हैं।
  • खून में से विषैले तत्व बाहर निकलता है (Toxic substances come out of the blood) : आयुर्वेद में हल्दी को रक्त शोधन में महत्वपूर्ण बताया गया है। हल्दी के सेवन से रक्त शोधित होता रहता है। इसे खाने से रक्त में मौजूद विषैले तत्व बाहर निकल जाते हैं और इससे खून का संचालन अच्छी तरह से होता है। खून पतला होने के बाद रक्त का धमनियों में प्रवाह बढ़ जाता है इसके कारण व्यक्ति को हृदय संबंधी परेशानियां नही रहती।
  • घाव में भरने में मददगार (Wound healing) : हल्दी को चूने में मिलाकर गुम चोट में लगाने से यह दर्द को कम देती है और अलावा दूध में हल्दी मिलाकर पीने से कान दर्द जैसी कई समस्याओं में आराम मिलता है। हल्दी में किसी भी चोट के घाव को तेजी से भरने का भी गुण होता है। यदि चोट लगने पर तेजी से खून बह रहा है तो उस जगह तुरंत हल्दी डाल दें. इससे आपकी चोट का खून बहना कम हो जाएगा।
  • सर्दी, जुकाम,कफ के लिए (For colds, colds, phlegm) : सर्दी, जुकाम या कफ होने पर दूध में हल्दी का सेवन लाभकारी साबित होता है। इससे सर्दी-जुकाम ठीक होता है और फेफड़ों में जमा हुआ कफ भी निकल जाता है।
  • मजबूत हड्डियां के लिए (Strong bones) : दूध में हल्दी मिलाकर पीने से हड्डियां मजबूत होती हैं दूध में मौजूद कैल्शियम हड्डियों को मजबूत कर देता है। हल्दी रोग प्रतिरोधक क्षमता को बढ़ाती है जिससे हड्डी संबंधित समस्याओं से छुटकारा मिलता है।
  • अच्छी नींद के लिए- (To sleep well) : नींद न आने की समस्या अपने विचारों में खोए रहना जैसी समस्याओं के लिए सोने से आधे घंटे पहले हल्दी वाला दूध पीएं ऐसा करने से अच्छी नींद आती है।
  • ब्लड शुगर में मददगार (Helpful in blood sugar) : खून में ब्लड शुगर बढ़ने पर हल्दी वाले दूध का सेवन फायदेमंद रहता है। दूध में हल्दी मिलाकर पीने से शुगर लेवल कम होता है। 


स्वस्थ स्वास्थ्य के लिए विटामिन जरूरी हैं