Ivermectin-आइवरमेक्टिन

Share:

Ivermectin ki jankari in hindi, Ivermectin Side effects, dosage, uses, and more in hindi,ivermectin medicine ke barein mein in hindi, आइवरमेक्टिन ke barein mein hindi, आइवरमेक्टिन in hindi, आइवरमेक्टिन dawa in hindi,akshambano in hindi, sakshambano website, sakshambano article in hindi, sakshambano pdf in hindi, sakshambano  jpeg, sakshambano sab in hindi, kaise sakshambano  in hindi, Ivermectin Research Results in hindi, Ivermectin Tablets- 2 mg in hindi, ivermectin tablet uses in hindi, ivermectin tablet uses in hindi, Ivermectin Tablet for Coronavirus COVID-19 in hindi, Ivermectin ki jankari in hindi, Ivermectin ke barein mein in hindi, Ivermectin kya hai in hindi, Ivermectin for corona ke liye in hindi, Ivermectin dawa ke barein mein in hindi,


Ivermectin-आइवरमेक्टिन

स्वास्थ्य विभाग की बैठक के बाद उत्तर प्रदेश के सभी जिलों के सीएमओ को कोरोना संक्रमण से इलाज तथा बचाव के लिए आइवरमेक्टिन टैबलेट के प्रयोग की अनुमति का आदेश जारी कर दिया गया है, स्वास्थ्य विभाग के अनुसार कोरोना पॉजिटिव रोगी के संपर्क में आये हुए लोगो के बचाव के लिए आइवरमेक्टिन दवा दी जा सकती है। जुएं मारने और दाद-खाज-खुजली के इलाज के लिए दी जाने वाली दवा से कोरोना का इलाज और बचाव दोनों ही संभव हो सकता है। 

आइवरमेक्टिन संक्रमण प्रोटीन के कोशिका के केन्द्रक में जाने की प्रक्रिया को रोकती है जिस कारण वायरस में आरएनए रैप्लिकेशन की प्रक्रिया रुक जाती है और वायरस निष्क्रिय होने लगता है यह दवा अपने इस विशेष गुण के कारण वर्तमान समय में कोविड 19 महामारी से बचाव तथा उपचार के लिए शोधकर्ताओ का प्रमुख विषय बनी हुई है कोरोना संक्रमण से संक्रमित लोग जिनमे कोरोना के लक्षण नहीं दिखाई दे रहे है या हल्के लक्षण ही है तथा कोरोना मरीज के साथ-साथ उनकी देख-भाल के लिए संपर्क में आये उन लोगो को  आइवरमेक्टिन दवा दी जा सकती है। साथ ही आइवरमेक्टिन दवा गर्भवती, दो वर्ष से कम आयु के बच्चों को नहीं दी जा सकती है। 

आइवरमेक्टिन त्वचा के संक्रमण, सूचि-कृमि संक्रमणों, सूजन-संबंधी रोग, बालों के पराश्रयी संक्रमण, सूचि-कृमि संक्रमण, पराश्रयी निमेटोड कीड़े की आंतों में संक्रमण, चेतक कृमि का संक्रमण, पराश्रयी फाइलेरिया से उत्पन्न कृमि संक्रमण, बढ़े हुए अवयव और अन्य स्थितियों के उपचार के लिए निर्देशित किया जाता है।

इस दवा का ईस्तेमाल परजीवी राउंडवॉर्म संक्रमणों के इलाज के लिए किया जाता है, आमतोर पर परजीवी राउंडवॉर्म संक्रमन  जीवन के अन्य कामो में बाधा बन सकता है, इसिलिए इसके इलाज करने से जीवन की गुणवत्ता में सुधार होता है। राउंडवॉर्म संक्रमण आगे जाके गंभीर और जानलेवा संक्रमण के रूप में भी विकसित हो सकता है, आइवरमेक्टिन एक ऐसी दवा है जिसे एंटीहेल्मिंटिक्स माना जाता है,यह परजीवियों को लकवा देती है इस वजह से परजीवियों की संक्रमन की शक्ती नष्ट कर देती है।

यह एक मौखिक गोली है जिसे एक गिलास पानी के साथ लेना चाहिये, साथ में यह भी ध्यान में रखें की इसे खाना खाने से एक पहले इसको लेने की सलाह है। आमतोर पर इसे एक खुराक में खाना पडता है लेकिन बिमारी के अनुसार डॉक्टर खुराक निश्चित करते है।

चिकित्सक के निर्देशों के अनुसार दवा का सेवन करें। बिना डॉक्टर की सलाह के नहीं लें। 

No comments