धनतेरस के दिन ऐसा कीजिये- Do it on the day of Dhanteras

Share:


संक्षमबनों इन हिन्दी में, संक्षम बनों इन हिन्दी में, sakshambano in hindi, saksham bano in hindi, ignificance of Dhanteras Pooja in hindi, ignificance of Dhanteras Story in hindi,Dhanteras ka mahatva in hindi, Dhanteras kya hai in hindi, Dhanteras kise kahte hai in hindi, Dhanteras se kya mitla hai in hindi, Dhanteras se subh-labh in hindi, Dhanteras se bane dhani in hindi, dhanwan ke liye Dhanteras in hindi, Dhanteras pooja vidhi in hindi, lakshmi pooja in hindi, dhyan rahe maa lakshmi pratima aisee honi chahie in hindi, dhanateras ke din aisa kijiye in hindi, sabut dhaniya in hindi,  batasha ka mahatv in hindi, kumkum se shubh-labh in hindi, maa lakshmi ke padchin se lakshmi ki prapti hoti hai in hindi, dhanateras ke din aisee cheejen na khareeden aur na hee ghar mein lani chahiye in hindi,   माँ लक्ष्मी की ऐसी प्रतिमा अपने घर लाएं हिन्दी में, जिसमें माँ लक्ष्मी कमल के पुष्प पर बैठी हुईं हो हिन्दी में, माँ लक्ष्मी की ऐसी प्रतिमा अपने घर न लाएं जिसमें माँ लक्ष्मी खड़ी मुद्रा हो हिन्दी में, जिस प्रतिमा में माँ लक्ष्मी के हाथ से गिरते हुए सिक्के हो हिन्दी में, इससे वैभव का वरदान मिलता है हिन्दी में, सिक्के किसी बर्तन में गिर रहे हों हिन्दी में, तो अच्छा होता है हिन्दी में, प्रतिमा में यदि माता के दोनों ओर ऐरावत हाथी मौजूद हो और धन की वर्षा कर रहे हो हिन्दी में, तो इससे घर में कभी धन की कमी नहीं होती है हिन्दी में, सूंड में कलश लिए हुए हाथी हो तो अति शुभ माना जाता है हिन्दी में, लक्ष्मी माँ लक्ष्मी की प्रतिमा में हाथियों को पानी फेंकते हुए दिखाया जाता है हिन्दी में, यह चार हाथी चारों दिशाओं का प्रतिनिधित्व करते है हिन्दी में,  माँ लक्ष्मी की अकेली प्रतिमा की पूजा नही करनी चाहिए हिन्दी में, गणेश व सरस्वती के साथ उनका पूजन शुभ-कल्याणकारी माना जाता है हिन्दी में, गणेश जी लक्ष्मी जी के दाहिने और एवं विष्णु जी लक्ष्मी जी के बाएं होने चाहिए हिन्दी में, माँ लक्ष्मी जिस चित्र में उल्लू पर बैठी हो हिन्दी में, वह प्रतिमा नही लानी चाहिए हिन्दी में, इससे घर में नकारात्मक ऊर्जा आती है हिन्दी में, पूजा की जगह में माँ लक्ष्मी की दो मूर्तियाँ नही रखनी चाहिए हिन्दी में, ऐसा होने पर उस घर में कलह होती है हिन्दी में, धन प्राप्ति के साथ अकाल मृत्यु का भय दूर करता है  हिन्दी में, धनतेरस के दिन ऐसा कीजिये हिन्दी में, साबुत धनिया हिन्दी में, थोड़ा साबुत धनिया धनतेरस के दिन खरीदे और माँ लक्ष्मी और भगवान धनवंतरी के चरणों में रखें हिन्दी में, कुछ समय बाद इस धनिया को प्रसाद के रूप में वितरित कर दे हिन्दी में, बताशा का महत्व हिन्दी में, सफेद रंग माँ लक्ष्मी को अति प्रिय है हिन्दी में, इसलिए इसका महत्व अधिक बढ़ जाता है हिन्दी में, सफेद बताशा धनतेरस पर ही खरीदें हिन्दी में,और उसी दिन माँ लक्ष्मी को अर्पित करें हिन्दी में, बताशा माँ का सबसे प्रिय भोग है हिन्दी में, इसलिए माँ की प्रसन्नता स्वाभाविक है हिन्दी में, कुमकुम से शुभ-लाभ हिन्दी में, कुमकुम खरीदकर माँ लक्ष्मी के चरणों में अर्पित करें हिन्दी में, और उसे अपने को भी लगाएं हिन्दी में, ऐसा करने से धन के साथ-साथ आत्मविश्वास बढ़ता है हिन्दी में, माँ लक्ष्मी के पदचिन्ह से लक्ष्मी की प्राप्ति होती है हिन्दी में, घर के मुख्य द्वार पर माँ लक्ष्मी के पदचिन्ह लगाएं हिन्दी में,  इसे धनतेरस पर इसे खरीदें हिन्दी में,  और दीवाली वाले दिन इसे लगाएं हिन्दी में,  सबसे पहले मां के चरणचिन्ह पर आरती करे हिन्दी में, यह माँ लक्ष्मी के आने का संकेत होता है हिन्दी में,  और कुमकुम लगाकर हिन्दी में,  उन्हें अपने घर में आमंत्रित करें हिन्दी में, धनतेरस के दिन ऐसी चीजें न खरीदें और न ही घर में लायें हिन्दी में, धनतेरस के दिन लोहे से बनी हुईं चीजें घर में नहीं लानी चाहिए हिन्दी में, धनतेरस के दिन किचन में काम आने वाली नुकीली वस्तुएं, चाकू इत्यादि नही खरीदने चाहिए हिन्दी में, धनतेरस के दिन शीशे का सामान नही खरीदना चाहिए हिन्दी में,  क्योंकि इसका संबंध राहु से होता है हिन्दी में, और राहु को नीच ग्रह माना जाता है हिन्दी में,  इसलिए कांच का सामान खरीदना शुभ नही माना जाता हिन्दी में, धनतेरस पर एल्युमिनियम का बर्तन भी खरीदना वर्जित है हिन्दी में,  इसका संबंध भी राहु से होता है हिन्दी में, इसलिए इसको शुभ नही माना जाता है हिन्दी में,  इसी कारण कि एल्युमिनियम का प्रयोग पूजा-पाठ में नही किया जाता है हिन्दी में, काले रंग की वस्तुओं को धनतेरस के दिन घर लाने से बचना चाहिए हिन्दी में, धनतेरस-के-दिन-ऐसा-कीजिये-हिन्दी में, ध्यान-रहे-माँ-लक्ष्मी-प्रतिमा-ऐसी-होनी-चाहिए-ध्यान in hindi, धन-प्राप्ति-के-साथ-अकाल-मृत्यु-का-भय-दूर-करता-है in hindi, Dhyan rahe  Maa Lakshmi pratima aisi honi chahiye in hindi, क्यों सक्षमबनो इन हिन्दी में, क्यों सक्षमबनो अच्छा लगता है इन हिन्दी में?, कैसे सक्षमबनो इन हिन्दी में? सक्षमबनो ब्रांड से कैसे संपर्क करें इन हिन्दी में, सक्षमबनो हिन्दी में, सक्षमबनो इन हिन्दी में, सब सक्षमबनो हिन्दी में,अपने को सक्षमबनो हिन्दीं में, सक्षमबनो कर्तव्य हिन्दी में, सक्षमबनो भारत हिन्दी में, सक्षमबनो देश के लिए हिन्दी में,खुद सक्षमबनो हिन्दी में, पहले खुद सक्षमबनो हिन्दी में, एक कदम सक्षमबनो के ओर हिन्दी में, आज से ही सक्षमबनो हिन्दीें में,सक्षमबनो के उपाय हिन्दी में, अपनों को भी सक्षमबनो का रास्ता दिखाओं हिन्दी में, सक्षमबनो का ज्ञान पाप्त करों हिन्दी में,सक्षमबनो-सक्षमबनो हिन्दीें में, kiyon saksambano in hindi, kiyon saksambano achcha lagta hai in hindi, kaise saksambano in hindi, kaise saksambano brand se sampark  in hindi, sampark karein saksambano brand se in hindi, saksambano brand in hindi, sakshambano bahut accha hai in hindi, gyan ganga sakshambnao se in hindi, apne aap ko saksambano in hindi, ek kadam saksambano ki or in hindi,saksambano phir se in hindi, ek baar phir saksambano in hindi, ek kadam saksambano ki or in hindi, self saksambano in hindi, give advice to others for saksambano, saksambano ke upaya in hindi, saksambano-saksambano india in hindi, saksambano-saksambano phir se in hindi, Dhanteras in hindi, Dhanteras kya hai in hindi, Dhanteras ki pooja in hindi, Dhanteras ki kahani in hindi, Dhanteras kab hai in hindi, Dhanteras se dhan in hindi, Dhanteras ki photo, Dhanteras image, Dhanteras JPEG,

  धनतेरस के दिन ऐसी चीजें न खरीदें और न ही घर में लायें 
ध्यान रहे  माँ लक्ष्मी प्रतिमा ऐसी होनी चाहिए 
(Keep in mind that Maa Lakshmi image should be like this)
  • माँ लक्ष्मी की ऐसी प्रतिमा अपने घर लाएं जिसमें माँ लक्ष्मी कमल के पुष्प पर बैठी हुईं हो। (Dhyan rahe  Maa Lakshmi pratima aisi honi chahiye in hindi) माँ लक्ष्मी की ऐसी प्रतिमा अपने घर न लाएं जिसमें माँ लक्ष्मी खड़ी मुद्रा हो। जिस प्रतिमा में माँ लक्ष्मी के हाथ से गिरते हुए सिक्के हो इससे वैभव का वरदान मिलता है। सिक्के किसी बर्तन में गिर रहे हों तो अच्छा होता है। प्रतिमा में यदि माता के दोनों ओर ऐरावत हाथी मौजूद हो और धन की वर्षा कर रहे हो तो इससे घर में कभी धन की कमी नहीं होती है। सूंड में कलश लिए हुए हाथी हो तो अति शुभ माना जाता है। लक्ष्मी माँ लक्ष्मी की प्रतिमा में हाथियों को पानी फेंकते हुए दिखाया जाता है। यह चार हाथी चारों दिशाओं का प्रतिनिधित्व करते है। माँ लक्ष्मी की अकेली प्रतिमा की पूजा नही करनी चाहिए। गणेश व सरस्वती के साथ उनका पूजन शुभ-कल्याणकारी माना जाता है। गणेश जी लक्ष्मी जी के दाहिने और एवं विष्णु जी लक्ष्मी जी के बाएं होने चाहिए। माँ लक्ष्मी जिस चित्र में उल्लू पर बैठी हो वह प्रतिमा नही लानी चाहिए। इससे घर में नकारात्मक ऊर्जा आती है। पूजा की जगह में माँ लक्ष्मी की दो मूर्तियाँ नही रखनी चाहिए। ऐसा होने पर उस घर में कलह होती है। 
धनतेरस के दिन ऐसा कीजिए (Do this on the day of Dhanteras)
  • साबुत धनिया : थोड़ा साबुत धनिया धनतेरस के दिन खरीदे और माँ लक्ष्मी और भगवान धनवंतरी के चरणों में रखें। कुछ समय बाद इस धनिया को प्रसाद के रूप में वितरित कर देें।
  • बताशा का महत्व : सफेद रंग माँ लक्ष्मी को अति प्रिय है इसलिए इसका महत्व अधिक बढ़ जाता है। सफेद बताशा धनतेरस पर ही खरीदें और उसी दिन माँ लक्ष्मी को अर्पित करें। बताशा माँ का सबसे प्रिय भोग है इसलिए माँ की प्रसन्नता स्वाभाविक है।
  • कुमकुम से शुभ-लाभ : कुमकुम खरीदकर माँ लक्ष्मी के चरणों में अर्पित करें और उसे अपने को भी लगाएं। ऐसा करने से धन के साथ-साथ आत्मविश्वास बढ़ता है।
  • माँ लक्ष्मी के पदचिन्ह से लक्ष्मी की प्राप्ति होती है : घर के मुख्य द्वार पर माँ लक्ष्मी के पदचिन्ह लगाएं। इसे धनतेरस पर इसे खरीदें और दीवाली वाले दिन इसे लगाएं। सबसे पहले मां के चरणचिन्ह पर आरती करे यह माँ लक्ष्मी के आने का संकेत होता है। और कुमकुम लगाकर उन्हें अपने घर में आमंत्रित करें।
click here » माता लक्ष्मी का दत्रक पुत्र श्री गणेश- Maa Lakshmi Ka Dattak Putra Shree Ganesh
धनतेरस के दिन ऐसी चीजें न खरीदें और न ही घर में लायें 
(Do not buy or bring such things at home on the day of Dhanteras)
  • धनतेरस के दिन लोहे से बनी हुईं चीजें घर में नहीं लानी चाहिए।
  • धनतेरस के दिन किचन में काम आने वाली नुकीली वस्तुएं, चाकू इत्यादि नही खरीदने चाहिए।
  • धनतेरस के दिन शीशे का सामान नही खरीदना चाहिए क्योंकि इसका संबंध राहु से होता है और राहु को नीच ग्रह माना जाता है। इसलिए कांच का सामान खरीदना शुभ नही माना जाता।
  • धनतेरस पर एल्युमिनियम का बर्तन भी खरीदना वर्जित है। इसका संबंध भी राहु से होता है इसलिए इसको शुभ नही माना जाता है। इसी कारण कि एल्युमिनियम का प्रयोग पूजा-पाठ में नही किया जाता है।
  • काले रंग की वस्तुओं को धनतेरस के दिन घर लाने से बचना चाहिए।