विटामिन ई के अनेक फायदे-Vitamin E has many benefits

Share:


विटामिन ई के अनेक फायदे in hindi, Vitamin E has many benefits in hindi, सभी विटामिन्स स्वस्थ स्वास्थ्य के लिए बहुत आवश्यक होते है in hindi, यह शरीर की कार्यप्रणाली को सही तरह से संचालित करने में मददगार होते है in hindi, बीमारियों से भी दूर रखते है in hindi, शरीर को प्रमुख रूप से 13 विटामिन्स की सबसे ज्यादा आवश्यकता होती है in hindi, विटामिन ई भी अन्य विटामिन्स की तरह बेहद महत्वपूर्ण होता है in hindi, यह एक फैट सॉल्यूबल एंटीऑक्सीडेंट की तरह काम करता है in hindi, इसके साथ-साथ यह शरीर में एंजाइम्स की गतिविधि को नियंत्रित करता है in hindi, विटामिन ई वसा में घुलनशील विटामिन है in hindi, यह एक एंटीऑक्सीडेंट के रूप में भी कार्य करता है in hindi, इसके आठ अलग-अलग रूप होते हैं in hindi, कोशिकाएं एक दूसरे से इंटरएक्ट करने में विटामिन ई का उपयोग करती है in hindi, विटामिन ई त्वचा और बाल संबंधी कई समस्याओं को हल करने में मदद करता है in hindi, इसके हाइड्रेटिंग और ऐंटी-एजिंग गुण इसे त्वचा और बालों के लिए बहुत फायदेमंद बनाते है in hindi, विटामिन ई में घुलनशील एंटीआक्सीडेंट होते हैं in hindi, जो त्वचा को फिर से सुन्दर करते हैं in hindi, जिससे खूबसूरती बढ़ जाती है in hindi, विटामिन ई इम्यून बूस्टर in hindi, और ब्लड सर्कुलेशन को बढ़ाता है in hindi, और दिल को स्वस्थ रखता है in hindi, विटामिन ई में वे सभी गुण होते है in hindi, जो त्वचा को हाइड्रेट रखने में मदद करते हैं in hindi, और उन्हें वे सभी पोषक तत्व प्रदान करते है in hindi, विटामिन ई में एंटीऑक्सीटेंड्स पाया जाता है in hindi, जो स्किन के लिए बहुत ही ज्यादा जरूरी होता है in hindi,  यह स्किन की ऊपरी परत को पोषण और सुरक्षा देने का काम करता होता है in hindi, विटामिन ई स्किन में रूखापन आने ही नहीं देता in hindi, और साथ में झुर्रिर्यो की समस्या को भी दूर करता है in hindi, त्वचा के जो टिशू डैमेज हो चुके होते है in hindi, वह उनको ठीक करता है in hindi, विटामिन ई सूरज की यूवी किरणों के प्रभाव को रोकता है in hindi, और स्किन को नुकसान नहीं होने देता in hindi, इसीलिए बाजार में विटामिन ई के कैप्सूल भी मिलते है in hindi, जिन्हें क्रीम में लगाकर इस्तेमाल किया जाता है in hindi, अगर त्वचा अत्यधिक रूखी है in hindi, तो विटामिन ई लगाने और खाने से बदलाव नजर आता है in hindi, विटामिन ई बादाम in hindi, , एवोकैडो in hindi, ऑलिव ऑयल in hindi,  कीवी और टमाटर में भरपूर मात्रा में पाया जाता है in hindi, विटामिन ई की आवश्यकता in hindi, Vitamin E requirement in hindi, नवजात शिशु से छह माह - 4 मिलिग्राम प्रतिदिन in hindi, 7 से 12 माह  5 मिलिग्राम प्रतिदिन in hindi, 1 से 3 वर्ष  6 मिलिग्राम प्रतिदिन in hindi, 4 से 8 वर्ष 7 मिलिग्राम प्रतिदिन in hindi, 9 से 13 वर्ष 11 मिलिग्राम प्रतिदिन in hindi, 14 वर्ष से ऊपर 15 मिलिग्राम प्रतिदिन in hindi, विटामिन ई की कमी के लक्षण in hindi, Symptoms of Vitamin E deficiency in hindi, विटामिन ई की कमी से मानसिक कार्य में बाधा आ सकती है in hindi,  इसलिए विटामिन ई आधारित खाद्य पदार्थों का सेवन किया जाना चाहिए in hindi, शरीर के अंगों का सही तरह से कार्य न कर पाना in hindi, नजर कमजोर हो जाना in hindi,  दिखने में झिलमिलाहट महसूस होना in hindi, आंखों के मूवमेंट में असामान्य स्थिति पैदा हो जाना in hindi, मांसपेशियों में कमजोरी आ जाना in hindi, चलने में लड़खड़ाट होना in hindi, कई बार कमजोरी महसूस होना in hindi, विटामिन ई की कमी डायबिटीज का खतरा बढ़ा देती है in hindi, विटामिन ई की उपयोगिता in hindi, Vitamin E utility in hindi, यह सेल्स को डैमेज होने से भी रोकता है in hindi, जिससे शरीर का कई हेल्थ प्रॉब्लम से बचाव in hindi, यह लाल रक्त कणिकाओं के निर्माण में भी सहायता करता है in hindi, विटामिन ई दूसरे एंटी ऑक्सीडेंट्स के साथ मिलकर मैक्यूलर डीजनरेशन से बचाता है in hindi, यह रेटिना की सुरक्षा भी करता है in hindi, विटामिन ई ब्रेस्ट कैंसर की संभावना को कम कर देता है in hindi, विटामिन ई इम्यून सिस्टम को मजबूत बनाता है in hindi, विटामिन ई एलर्जी की रोकथाम में भी उपयोगी है in hindi, विटामिन ई शरीर में विटामिन ए और के को बनाये रखता है in hindi, विटामिन ई शरीर में कोलेस्ट्रॉल के स्तर को नियंत्रित करता है in hindi, शरीर के घावों और चोटों को दूर करने के लिए in hindi, विटामिन ई तेल का उपयोग फायदेमंद होता है in hindi,  विटामिन ई घाव, खुजली, एक्जिमा, जलन और अन्य त्वचा रोग का इलाज करने में सहायक होता है in hindi, जैतून का तेल फायदेमंद होता है in hindi, लेकिन इस तेल के लाभों में विटामिन ई का भी विशेष योगदान होता है in hindi, जैतून को फल या तेल के रूप में प्रयोग कर विटामिन ई की आवश्यकता को पूरा किया जाता है in hindi, यदि लगभग 8 ग्राम जैतून का सेवन किया जाता है तो इससे 0.1 मिलीग्राम विटामिन ई प्राप्त होता है in hindi, जैतून में ओलेइक एसिड होता है यह जो कोलेस्ट्रॉल के स्तर को नियंत्रित कर in hindi, दिल को स्वस्थ रखने में सहायता करता है in hindi, टमाटर विटामिन ई की पूर्ति करता है in hindi, 150 ग्राम मात्रा का सेवन करने पर 0.9 मिलीग्राम विटामिन ई प्राप्त होता है in hindi माटर में अन्य पोषक तत्व जैसे लाइकोपीन की अच्छी मात्रा होती है in hindi, यह एंटीऑक्सीडेंट है  in hindi, जो कैंसर के प्रभाव को कम करने में मदद करता है in hindi, ब्रोकोली विटामिन ई की कमी को दूर करने करती है in hindi, यह विटामिन ई के सबसे समृद्ध स्रोतों में से एक है in hindi,  यह हड्डियों और त्वचा को स्वस्थ रखने में मदद करता है in hindi, पपीता में एंटीऑक्सीडेंट गुण भी होते है in hindi, यह कई बीमारियों से शरीर की देख-रेख करते है in hindi, इसके अलावा पपीता अपाचन और सूजन में मदद करता है in hindi, विटामिन ई के लिए सरसों का साग महत्वपूर्ण होता है in hindi, इनमें विटामिन ई in hindi, फोलेट और विटामिन ए in hindi, विटामिन सी और के in hindi आदि अच्छी मात्रा में होते है in hindi, शतावरी में विटामिन सी in hindi, बीटा कैरोटीन in hindi, जिंक in hindi, मैंगनीज in hindi, और सेलेनियम पूर्ण मात्रा में होते है in hindi, यह कैंसर को रोकने में भी सहायक होता है in hindi,  इसके अलावा शतावरी के फायदे मधुमेह और पाचन में भी होते है in hindi, लाल शिमला मिर्च में कैप्सेसिन होता है in hindi, जो रक्त कोशिकाओं को स्वस्थ रखने और रक्तचाप को नियंत्रित रखने में मदद करता है in hindi,  यह विटामिन ई का अच्छा स्रोत माना जाता है in hindi, कीवी में विटामिन ई समृद्ध है जो प्रतिरक्षा प्रणाली को बढ़ावा देने में मदद करता है in hindi, कीवी फल में सेरोटोनिन भी होता है  in hindi, यह नींद को प्रेरित कर अनिद्रा का इलाज करने में मदद करता है in hindi, चेहरे के दाग हटाने में विटामिन ई त्वचा की स्वाभाविक रूप से रक्षा करता है in hidi और उसे बढ़ती उम्र और सूरज की किरणों के हानिकारक प्रभाव से बचाता है in hindi,  विटामिन ई की मदद से आप अपने चेहरे के दाग और निशान भी मिटा सकते है in hindi, त्वचा पर काले धब्बे होने लगते हैं in hindi, यह काले धब्बे पिगमेंटेशन के कारण होते है in hindi, जो हार्मोन और अनहेल्दी लाइफस्टाइल के कारण होते है in hindi, कई बार स्किन पर काले धब्बे खराब जीवनशैली और पर्यावरण के कारण भी हो जाते हैं in hindi, कई बार खराब लीवर और फ्री रेडिकल के डैमेज होने पर डार्क स्पाट आने लगते हैं in hindi, यदि ऐसा हो रहा है in hindi, तो आप हरी सब्जियों का ज्यादा से ज्यादा सेवन कर सकते हैं in hindi, इससे डार्क स्पाट कम हो जाते हैं in hindi, आप ऑलिव ऑयल में विटामिन ई कैप्सूल भी मिलाकर लगा सकते हैं in hindi,  इससे भी डार्क स्पाट कम हो जाते है in hindi, फटे होंठों को ठीक करने के लिए विटामिन ई का इस्तेमाल कर सकते हैं in hindi, विटामिन ई का प्रयोग अपने होठों पर कर सकते है in hindi, इससे ज्यादा असर पड़ता है in hindi, इसके लिए एक कटोरी में आधा चम्मच नींबू के रस में विटामिन ई कैप्सूल का तेल मिलाकर लगाना चाहिए in hindi, बिस्तर पर जाने से पहले इस मिश्रण का उपयोग करना चाहिए in hindi, आंखों को उनके नीचे मौजूद डार्क सर्कल विटामिन ई दूर करता है in hindi, विटामिन ई बालों को मजबूत बनाने in hindi, में और दो मुंहें बालों को ठीक करने में सहायता करता है in hindi,  यदि बाल टूट रहे हैं in hindi, तो नारियल तेल के साथ विटामिन ई का तेल मिलाकर मालिश करनी चाहिए in hindi, अगर बाल हल्के हो रहे है in hindi, तो विटामिन ई कैप्सूल के साथ एक चम्मच अरंडी का तेल मिलाकर बालों में लगाइये in hindi, बादाम सिर्फ आपके दिमाग के लिए ही अच्छे नहीं होते in hindi, बल्कि इसमें कई तरह के पोषक तत्व पाए जाते है in hindi, इसमें विटामिन ई की प्रचुरता है। अगर आप लगभग 95 ग्राम बादाम का सेवन करते हैं  in hindi, तो इससे आपको 24.9 मिलिग्राम विटामिन ई प्राप्त होता है in hindi, मूंगफली में भी विटामिन ई पाया जाता है in hindi अगर इसक अपनी डेली डाइट में शामिल करते हैं in hindi, तो इससे आपको कई तरह के लाभ प्राप्त होते हैं in hindi, जैसे इसमें विटामिन ई के अतिरिक्त फाइबर भी मौजूद होता है in hindi, जो वजन घटाने में सहायक होता है in hindi, इसके अतिरिक्त इसमें गुड फैट व मैग्नीशियम पाया जाता है in hindi, जो बोन्स को बिल्डअप करने में अहम भूमिका निभाता है in hindi, सूरजमूखी के बीज विटामिन ई का एक बेहतरीन स्त्रोत है in hindi, मात्र 46 ग्राम सूरजमूखी के बीजों का सेवन करने से आपको लगभग 15.3 मिलीग्राम विटामिन ई प्राप्त होता है in hindi, इतना ही नहीं, सूरजमूखी के बीजों में एंटीऑक्सीडेंट उच्च मात्रा में पाए जाते हैं in hindi, और अगर इसे डेली डाइट में शामिल किया जाए in hindi, तो इससे व्यक्ति को हार्ट डिसीज व कैंसर होने की संभावना न के बराबर हो जाती है in hindi, शिमला मिर्च में भी विटामिन ई मौजूद होता है in hindi, यदि 149 ग्राम लाल या हरी शिमला मिर्च का सेवन करते है in hindi, तो इससे आपको 2.4 मिलीग्राम विटामिन ई प्राप्त होता है in hindi, इसके अतिरिक्त शिमला मिर्च में कुछ ऐसे एंटीऑक्सीडेंट पाए जाते है in hindi, जो आंखों के लिए अच्छा होते है in hindi, , विटामिन ई की उपयोगिता-Vitamin E utility in hindi, विटामिन ई की कमी के लक्षण-Symptoms of Vitamin E deficiency in hindi, विटामिन ई की आवश्यकता-Vitamin E requirement in hindi, vitamin E kisme hota hai in hindi, vitamin E benefits in hindi, vitamin E foods in hindi, vitamin E ki kami in hindi, vitamin E kisme paya jata hai in hindi, vitamin E ke fayde in hindi, vitamin E tablets for skin whitening in hindi, vitamin E benefits for skin in hindi, vitamin E kya khana chahiye in hindi, vitamin E kis fruit me paya jata hai in hindi,  vitamin E kis fruit me hota hai in hindi, vitamin E ke liye kya khana chahiye in hindi, viamin E ke barein mein hindi, Vitamin E kya hai in hindi, vitamin e ke avashyakta in hindi, Vitamin E kaise milta hain hinndi,  vitamin E ki kami se kya hota hai  in hindi,  Vitamin E  ke fayde in hindi, vitamin e ke karya in hindi,

विटामिन ई के अनेक फायदे
(Many benefits of Vitamin E)
  • सभी विटामिन्स स्वस्थ स्वास्थ्य के लिए बहुत आवश्यक होते है। यह शरीर की कार्यप्रणाली को सही तरह से संचालित करने में मददगार होते है और बीमारियों से भी दूर रखते है। शरीर को प्रमुख रूप से 13 विटामिन्स की सबसे ज्यादा आवश्यकता होती है। विटामिन ई भी अन्य विटामिन्स की तरह बेहद महत्वपूर्ण होता है। यह एक फैट सॉल्यूबल एंटीऑक्सीडेंट की तरह काम करता है इसके साथ-साथ यह शरीर में एंजाइम्स की गतिविधि को नियंत्रित करता है। विटामिन ई वसा में घुलनशील विटामिन है। यह एक एंटीऑक्सीडेंट के रूप में भी कार्य करता है। इसके आठ अलग-अलग रूप होते हैं। कोशिकाएं एक दूसरे से इंटरएक्ट करने में विटामिन ई का उपयोग करती है। विटामिन ई त्वचा और बाल संबंधी कई समस्याओं को हल करने में मदद करता है। इसके हाइड्रेटिंग और ऐंटी-एजिंग गुण इसे त्वचा और बालों के लिए बहुत फायदेमंद बनाते है। विटामिन ई में घुलनशील एंटीआक्सीडेंट होते हैं जो त्वचा को फिर से सुन्दर करते हैं जिससे खूबसूरती बढ़ जाती है। विटामिन ई इम्यून बूस्टर और ब्लड सर्कुलेशन को बढ़ाता है और दिल को स्वस्थ रखता है। विटामिन ई में वे सभी गुण होते है जो त्वचा को हाइड्रेट रखने में मदद करते हैं और उन्हें वे सभी पोषक तत्व प्रदान करते है।
  • विटामिन ई में एंटीऑक्सीटेंड्स पाया जाता है जो स्किन के लिए बहुत ही ज्यादा जरूरी होता है। (Vitamin E has antioxidants which is very important for the skin) यह स्किन की ऊपरी परत को पोषण और सुरक्षा देने का काम करता होता है। विटामिन ई स्किन में रूखापन आने ही नहीं देता और साथ में झुर्रिर्यो की समस्या को भी दूर करता है। त्वचा के जो टिशू डैमेज हो चुके होते है वह उनको ठीक करता है। विटामिन ई सूरज की यूवी किरणों के प्रभाव को रोकता है और स्किन को नुकसान नहीं होने देता। इसीलिए बाजार में विटामिन ई के कैप्सूल भी मिलते है जिन्हें क्रीम में लगाकर इस्तेमाल किया जाता है। अगर त्वचा अत्यधिक रूखी है तो विटामिन ई लगाने और खाने से बदलाव नजर आता है। विटामिन ई बादाम, एवोकैडो, ऑलिव ऑयल, कीवी और टमाटर में भरपूर मात्रा में पाया जाता है।
विटामिन ई की आवश्यकता (Vitamin E requirement)
  • नवजात शिशु से छह माह - 4 मिलिग्राम प्रतिदिन
  • 7 से 12 माह  5 मिलिग्राम प्रतिदिन
  • 1 से 3 वर्ष  6 मिलिग्राम प्रतिदिन
  • 4 से 8 वर्ष 7 मिलिग्राम प्रतिदिन
  • 9 से 13 वर्ष 11 मिलिग्राम प्रतिदिन
  • 14 वर्ष से ऊपर 15 मिलिग्राम प्रतिदिन
विटामिन ई की कमी के लक्षण (Symptoms of Vitamin E deficiency)
  • विटामिन ई की कमी से मानसिक कार्य में बाधा आ सकती है। इसलिए विटामिन ई आधारित खाद्य पदार्थों का सेवन किया जाना चाहिए। (Vitamin E deficiency can hamper mental function. Therefore vitamin E based foods should be consumed).
  • शरीर के अंगों का सही तरह से कार्य न कर पाना। (Inability of body parts to function properly).
  • नजर कमजोर हो जाना। देखने में झिलमिलाहट महसूस होना। (Become weak Feeling of flicker).
  • आंखों के मूवमेंट में असामान्य स्थिति पैदा हो जाना। (An abnormal condition in the movement of the eyes).
  • मांसपेशियों में कमजोरी आ जाना। (Muscle weakness).
  • चलने में लड़खड़ाट होना। कई बार कमजोरी महसूस होना। (To stagger Feeling weakness at times).
  • विटामिन ई की कमी डायबिटीज का खतरा बढ़  जाता है। (Vitamin E deficiency increases the risk of diabetes).
विटामिन ई की उपयोगिता (Vitamin E utility)
  • सेल्स को डैमेज होने से भी रोकता है। शरीर को कई हेल्थ प्रॉब्लम से बचाव होता है। यह लाल रक्त कणिकाओं के निर्माण में भी सहायता करता है। (It also prevents cells from getting damaged. The body is protected from many health problems. It also helps in the formation of red blood cells).
  • विटामिन ई दूसरे एंटी ऑक्सीडेंट्स के साथ मिलकर मैक्यूलर डीजनरेशन से बचाता है। यह रेटिना की सुरक्षा भी करता है। (Vitamin E combines with other anti-oxidants to prevent macular degeneration. It also protects the retina).
  • विटामिन ई ब्रेस्ट कैंसर की संभावना को कम कर देता है। (Vitamin E reduces the chance of breast cancer).
  • विटामिन ई इम्यून सिस्टम को मजबूत बनाता है। (Vitamin E strengthens the immune system).
  • विटामिन ई एलर्जी की रोकथाम में भी उपयोगी है। (Vitamin E is also useful in the prevention of allergies).
  • विटामिन ई शरीर में विटामिन A और K को बनाए रखता है। (Vitamin E maintains vitamins A and K in the body).
  • विटामिन ई शरीर में कोलेस्ट्रॉल के स्तर को नियंत्रित करता है। (Vitamin E controlled cholesterol levels in the body).
  • विटामिन ई तेल का उपयोग शरीर के घावों और चोटों को दूर करने के लिए फायदेमंद होता है। विटामिन ई घाव, खुजली, एक्जिमा, जलन और अन्य त्वचा रोग का इलाज करने में सहायक होता है। (The use of vitamin E oil is beneficial to remove body sores and injuries. Vitamin E is helpful in treating wounds, itching, eczema, burns and other skin diseases).
  • जैतून का तेल फायदेमंद होता है। लेकिन इस तेल के लाभों में विटामिन ई का भी विशेष योगदान होता है।  (Olive oil is beneficial. But vitamin E also has a special contribution in the benefits of this oil) जैतून को फल या तेल के रूप में प्रयोग कर विटामिन ई की आवश्यकता को पूरा किया जाता है। (Vitamin E requirement is met by using olives as fruit or oil) यदि लगभग 8 ग्राम जैतून का सेवन किया जाता है तो इससे 0.1 मिलीग्राम विटामिन ई प्राप्त होता है। (If about 8 grams of olive is consumed, then 0.1 mg of vitamin E is obtained from it) जैतून में ओलेइक एसिड होता है यह जो कोलेस्ट्रॉल के स्तर को नियंत्रित कर दिल को स्वस्थ रखने में सहायता करता हैै। (Olive contains oleic acid which helps in keeping the heart healthy & controlled cholesterol levels).
  • टमाटर विटामिन ई की पूर्ति करता है। 150 ग्राम मात्रा का सेवन करने पर 0.9 मिलीग्राम विटामिन ई प्राप्त होता है। अन्य पोषक तत्व जैसे लाइकोपीन की अच्छी मात्रा होती है। यह एंटीऑक्सीडेंट है जो कैंसर के प्रभाव को कम करने में मदद करता है। Tomato supplies vitamin E. 0.9 milligrams of vitamin E is obtained after consuming 150 grams. Other nutrients such as lycopene have good amounts. It is an antioxidant that helps reduce the effects of cancer.
  • ब्रोकोली विटामिन ई की कमी को दूर करता है। यह विटामिन ई के सबसे समृद्ध स्रोतों में से एक है। यह हड्डियों और त्वचा को स्वस्थ रखने में मदद करता है। (Broccoli removes vitamin E deficiency. It is one of the richest sources of vitamin E. It helps to keep bones and skin healthy)
  • पपीता में एंटीऑक्सीडेंट गुण भी होते है। यह कई बीमारियों से शरीर की देख-रेख करते है। इसके अलावा पपीता अपाचन और सूजन में मदद करता है। (Papaya also has antioxidant properties. They take care of the body from many diseases. Apart from this, papaya helps in indigestion and inflammation).
  • विटामिन ई के लिए सरसों का साग महत्वपूर्ण होता है। इनमें विटामिन ई, फोलेट और विटामिन ए, विटामिन सी और के, आदि अच्छी मात्रा में होते है।
  • शतावरी में विटामिन सी, बीटा कैरोटीन, जिंक, मैंगनीज और सेलेनियम पूर्ण मात्रा में होते है। यह कैंसर को रोकने में भी सहायक होता है। इसके अलावा शतावरी के फायदे मधुमेह और पाचन में भी होते है। (Asparagus have vitamin C, beta carotene, zinc, manganese and selenium in full quantity. It is also helpful in preventing cancer. Apart from this, asparagus also has benefits in diabetes and digestion). 
  • लाल शिमला मिर्च में कैप्सेसिन होता है। यह रक्त कोशिकाओं को स्वस्थ रखने और रक्तचाप को नियंत्रित रखने में मदद करता है। यह विटामिन ई का अच्छा स्रोत माना जाता है। (Paprika has capsaicin. It helps to keep blood cells healthy and controls blood pressure. It is considered a good source of Vitamin E).
  • कीवी में विटामिन ई समृद्ध है जो प्रतिरक्षा प्रणाली को बढ़ावा देने में मदद करता है। कीवी फल में सेरोटोनिन भी होता है।  यह नींद को प्रेरित कर अनिद्रा का इलाज करने में मदद करता है। (Kiwi is rich in Vitamin E which helps boost the immune system. Kiwi fruit also contains serotonin. It helps to treat insomnia by inducing sleep). 
  • चेहरे के दाग हटाने में विटामिन ई त्वचा की स्वाभाविक रूप से रक्षा करता है। बढ़ती उम्र और सूरज की किरणों के हानिकारक प्रभाव से बचाता है। विटामिन ई की मदद से आप अपने चेहरे के दाग और निशान भी मिटा सकते है। (Vitamin E protects the skin naturally & removing facial scars. Protects against aging and harmful effects of sun rays. With the help of Vitamin E, you can also erase your facial spots and scars).
  • त्वचा पर काले धब्बे होने लगते हैं। यह काले धब्बे पिगमेंटेशन के कारण होते है। जो हार्मोन और अनहेल्दी लाइफस्टाइल के कारण होते है। कई बार स्किन पर काले धब्बे खराब जीवनशैली और पर्यावरण के कारण भी हो जाते हैं। कई बार खराब लीवर और फ्री रेडिकल के डैमेज होने पर डार्क स्पाट आने लगते हैं। यदि ऐसा हो रहा है तो आप हरी सब्जियों का ज्यादा से ज्यादा सेवन कर सकते हैं। इससे डार्क स्पाट कम हो जाते हैं। आप ऑलिव ऑयल में विटामिन ई कैप्सूल भी मिलाकर लगा सकते हैं। इससे भी डार्क स्पाट कम हो जाते है। (Dark spots appear on the skin. These dark spots are caused by pigmentation. Which are caused by hormones and unhealthy lifestyle. Many times, dark spots on the skin also occur due to poor lifestyle and environment. Many times dark spots start coming due to liver problems and free radicals. If this is happening then you can consume green vegetables as much as possible. This reduces dark spots. You can also add vitamin E capsules to olive oil. This also reduces dark spots)
  • फटे होंठों को ठीक करने के लिए विटामिन ई का इस्तेमाल कर सकते हैं। विटामिन ई का प्रयोग अपने होठों पर कर सकते है। इससे ज्यादा असर पड़ता है। इसके लिए एक कटोरी में आधा चम्मच नींबू के रस में विटामिन ई कैप्सूल का तेल मिलाकर लगाना चाहिए। बिस्तर पर जाने से पहले इस मिश्रण का उपयोग करना चाहिए। (Vitamin E can be used to treat chapped lips. You can use vitamin E on your lips. This has more impact. For this, mixing vitamin E capsule oil in half a teaspoon lemon juice in a bowl should be applied. This mixture should be used before going to bed).
  • आंखों को उनके नीचे मौजूद डार्क सर्कल विटामिन ई दूर करता है। (The dark circle under the eyes removes Vitamin E).
  • विटामिन ई बालों को मजबूत बनाने में और दो मुंहें बालों को ठीक करने में सहायता करता है। यदि बाल टूट रहे हैं तो नारियल तेल के साथ विटामिन ई का तेल मिलाकर मालिश करनी चाहिए। अगर बाल हल्के हो रहे है तो विटामिन ई कैप्सूल के साथ एक चम्मच अरंडी का तेल मिलाकर बालों में लगाइये। (Vitamin E helps in strengthening the hair and healing the two pimples. If hair is falling, then you should massage with coconut oil mixed with vitamin E oil. If the hair is getting lighter then apply one teaspoon of castor oil with vitamin E capsules and apply it on the hair).
  • बादाम सिर्फ आपके दिमाग के लिए ही अच्छे नहीं होते बल्कि इसमें कई तरह के पोषक तत्व पाए जाते है। इसमें विटामिन ई की प्रचुरता है। अगर आप लगभग 95 ग्राम बादाम का सेवन करते हैं तो इससे आपको 24.9 मिलिग्राम विटामिन ई प्राप्त होता है। (Almonds are not only good for your brain, but many types of nutrients are found in it. It is rich in Vitamin E. If you consume about 95 grams of almonds, then you get 24.9 milligrams of vitamin E).
  • मूंगफली में भी विटामिन ई पाया जाता है। अगर इसक अपनी डेली डाइट में शामिल करते हैं तो इससे आपको कई तरह के लाभ प्राप्त होते हैं। जैसे इसमें विटामिन ई के अतिरिक्त फाइबर भी मौजूद होता है जो वजन घटाने में सहायक होता है। इसके अतिरिक्त इसमें गुड फैट व मैग्नीशियम पाया जाता है जो बोन्स को बिल्डअप करने में अहम भूमिका निभाता है। (Vitamin E is also found in peanuts. If you include it in your daily diet then you get many benefits from it. As such, it also contains fiber in addition to vitamin E, which helps in weight loss. In addition, it contains good fat and magnesium, which plays an important role in the build-up of bones).
  • सूरजमूखी के बीज विटामिन ई का एक बेहतरीन स्त्रोत है। मात्र 46 ग्राम सूरजमूखी के बीजों का सेवन करने से आपको लगभग 15.3 मिलीग्राम विटामिन ई प्राप्त होता है। इतना ही नहीं, सूरजमूखी के बीजों में एंटीऑक्सीडेंट उच्च मात्रा में पाए जाते हैं और अगर इसे डेली डाइट में शामिल किया जाए तो इससे व्यक्ति को हार्ट डिसीज व कैंसर होने की संभावना न के बराबर हो जाती है। (Sunflower seeds are an excellent source of vitamin E. By consuming only 46 grams of sunflower seeds, you get about 15.3 mg of vitamin E. Not only this, antioxidants are found in high amounts in sunflower seeds and if it is included in the daily diet then it makes the person unlikely to develop heart disease and cancer).
  • शिमला मिर्च में भी विटामिन ई मौजूद होता है। यदि 149 ग्राम लाल या हरी शिमला मिर्च का सेवन करते है तो इससे आपको 2.4 मिलीग्राम विटामिन ई प्राप्त होता है। इसके अतिरिक्त शिमला मिर्च में कुछ ऐसे एंटीऑक्सीडेंट पाए जाते है जो आंखों के लिए अच्छा होते है। (Capsicum also contains vitamin E. If you eat 149 grams of red or green capsicum, then you get 2.4 mg of vitamin E. Apart from this, some antioxidants are found in capsicum which are good for the eyes). 

स्वस्थ स्वास्थ्य के लिए विटामिन जरूरी हैं