विटामिन बी6 (Vitamin B6)

Share:


Vitamin B6kisme hota hai in hindi, Vitamin B6benefits in hindi, Vitamin B6foods in hindi, Vitamin B6ki kami in hindi, Vitamin B6kisme paya jata hai in hindi, Vitamin B6ke fayde in hindi, Vitamin B6tablets for skin whitening in hindi, Vitamin B6benefits for skin in hindi, Vitamin B6kya khana chahiye in hindi, Vitamin B6kis fruit me paya jata hai in hindi,  Vitamin B6kis fruit me hota hai in hindi, Vitamin B6ke liye kya khana chahiye in hindi, viamin E ke barein mein hindi, Vitamin B6kya hai in hindi, Vitamin B6ke avashyakta in hindi, Vitamin B6kaise milta hain hinndi,  Vitamin B6ki kami se kya hota hai  in hindi,  Vitamin B6 ke fayde in hindi, Vitamin B6ke karya in hindi,
विटामिन बी6 (Vitamin B6) 
  • विटामिन-बी6 (पायरीडॉक्सीन) यह हमारे शरीर में प्रोटीन और कार्बोहाइड्रेट से एनर्जी स्टोर करने में मदद करता है। Vitamin-B6 (Pyridoxine) It helps to store energy in our body from protein and carbohydrates. यह लाल रक्त कोशिकाओं में मौजूद हीमोग्लोबिन को बनाने में मदद करता है, ताकि शरीर में ऑक्सीजन का संचालन आसानी से हो सके। विटामिन बी6 के सबसे महत्वपूर्ण लाभ में से एक यह है कि यह मनुष्य की त्वचा को अच्छी स्थिति में बनाए रखने में सहायता करता है। विटामिन बी6 एक सोल्यूबल विटामिन है यह शरीर में बहुत अधिक मात्रा में जमा नहीं किया जा सकता। शरीर को सही तरीके से काम करने में विटामिन बी6 की अहम भूमिका है। इसी तरह शरीर में 100 से अधिक एंजाइम्स को सक्रिय बनाने में भी विटामिन बी6 की भूमिका होती है। विटामिन बी6 अनेक त्वचा संबंधी समस्याओं जैसे एक्जिमा, रूसी, मुंहासें, बालों का झड़ना और सुखी त्वचा के उपचार में सहायता करता है। इसके अधिक यह गंभीर त्वचा रोगों जैसे मेलेनोमा और सोराइसिस आदि के उपचार में सहायता करता है। विटामिन-बी6 रुमेटी गठिया में होने वाली सूजन और दर्द को कम करने में सहायक है। विटामिन-बी6 की कमी से मानसिक तनाव, अवसाद, चिड़चिड़ापन रहता है। यह आलू, गाजर, मीट, चिकन, मछली, ब्रेड, दलिया, ब्राउन राइस, अंडे, सोयाबीन, मूंगफली, दूध और दूध से बने पदार्थों से प्राप्त होता है।  
विटामिन बी6 की कमी के लक्ष्ण (Vitamin B6 Deficiency Symptoms)
  • विटामिन बी6 सेहत के लिए काफी जरूरी होता है। (Vitamin B6 is very important for health) विटामिन बी6 की कमी से शरीर में कई सारी समस्याएं पैदा हो जाती है। विटामिन बी6 का असर ना सिर्फ सेहत पर बल्कि मूड पर भी उतना ही पड़ता है।
  • विटामिन बी6 की कमी के कारण शरीर की ऊर्जा तेजी से कम होने लगती है। (Due to deficiency of Vitamin B6, the energy of the body starts decreasing rapidly) इससे शरीर में लाल रक्त कोशिकाओं की कमी और एनीमिया जैसी परेशानियां हो सकती है। इसके कारण हर समय थका हुआ महसूस होना, भोजन करने के बाद भी आप भूखा क्यों महसूस होना इत्यादि।
  • विटामिन बी6 की कमी से त्वचा में केमिकल्स के रुप में बदलाव होने लगते हैं, (Lack of vitamin B6 causes changes in the skin in the form of chemicals) जिससे त्वचा संबंधी परेशानियों होने लगती है।
  • विटामिन बी6 कमी से इम्यून सिस्टम कमजोर हो जाता है। विटामिन बी6 इम्यून सिस्टम के लिए जरुरी होता है, जो बीमारियों से रक्षा करता है। इम्यून सिस्टम कमजोर होने से बार-बार बीमार होने की संभावना बढ़ जाती है।
  • नर्वस सिस्टम के काम को सही बनाए रखने के लिए विटामिन बी6 जरुरी होता है। (Vitamin B6 is necessary to maintain the functioning of the nervous system) इसकी कमी से नर्वस सिस्टम सही से काम नही कर पाते और हाथ-पैरों में सूनेपन की समस्या पैदा हो जाती है।
  • मुंह और जीभ में सूजन भी इसकी कमी के लक्षण है। (Swelling in the mouth and tongue is also a symptom of its deficiency) इसके अलावा जीभ में दर्द भी हो सकता है। इसके अलावा इसकी कमी होने पर इमोशनल डिस्आर्डर, दिल से जुड़ी बीमारियां, किडनी रोग, मल्टीपल स्क्लेरोसिस, एनीमिया जैसी समस्याओं हो सकती है।
एंजाइमेटिक देख-रेख (Enzymatic Activities)
  • विटामिन बी6 शरीर के एंजाइम तंत्रों की देख-रेख करता है। विभिन्न एंजाइम तंत्रों के साथ मिलकर शरीर के अनेक एंजाइमों से उनका उपयोगी कार्य ठीक प्रकार से करवाने में मदद करता है। एंजाइमों और विटामिन बी6 के बीच का अच्छा ताल-मेल होता है. जो शरीर में तंत्रिका तंत्र का सही प्रकार से संचालन और शरीर की प्रतिरोधक क्षमता में वृद्धि करने में सहायता करता है।
  • पथरी नही बनने देता (Helps in stone) : विटामिन बी6 हृदय में जमा होने वाले वसा के स्तर को नियंत्रित करने में सहायता करता है। विटामिन बी6 किडनी में पथरी के निर्माण को भी रोकता है जिससे शरीर के इस महत्वपूर्ण अंग को सही आकार में बनाए रखता है।
  • प्रतिरक्षा तंत्र के लिए उपयोगी (Useful for the immune system) : विटामिन बी6 शरीर के प्रतिरक्षा तंत्र को जरुरी नवीनता प्रदान करके उसे उचित कार्य स्तर तक पहुंचाने में अत्यंत लाभकारी होता हैकरता है। इसके कारण शरीर अनेक प्रकार के संक्रमणों और रोगों से लड़ने में सक्षम बनता है।
  • चयापचय के लिए लाभप्रद है (Beneficial for Metabolism) : विटामिन बी6 का प्रयोग आप कार्बोहाइड्रेट, विटामिन, वसा व अन्य उपयोगी व पोषक पदार्थों जैसे अमीनो एसिड्स के उचित मेटाबॉलिज्म (चयापचय) के लिए कर सकते हैं। विटामिन ब6 उक्त अत्यंत पोषक तत्वों का उचित पाचन करके, इनसे ऊर्जा उत्पन्न करने में पूर्णतः सक्षम होता है। इस प्रकार यह सही मेटाबॉलिज्म के द्वारा शरीर को आवश्यक ऊर्जा प्रदान करने में समर्थ होता है।
  • हृदय और किडनी के लिए लाभकारी (Beneficial for Heart and Kidney) : विटामिन बी6 शरीर के दोनों महत्वपूर्ण अंगों, हृदय और किडनी के लिए अत्यंत उपयोगी होता है। विटामिन बी6 हृदय को कई प्रकार के रोगों से बचाने में सक्षम होता है। यह हृदय और इसके चारों ओर जमा होने वाले वसा की मात्रा को नियंत्रित करने और उसे कम रखने में हमारी सहायता करता है। यहा किडनी के लिए अत्यंत उपयोगी होता है। इसे उचित आकार में बनाए रखने व इसमें पथरी को बनने से रोकने में भी बहुत उपयोगी होता है।
  • हार्मोन नियंत्रण में करता है (Hormone controls) : विटामिन बी6 शरीर में विभिन्न आवश्यक हार्मोनों का उचित स्तर बनाए रखने में मदद करता  है। शरीर में होने वाली अनेक आंतरिक कार्यकलापों और चयापचय क्रियाओं को उचित प्राकर से संचालित करने व उनके संतुलन को नियंत्रित करने में अत्यंत उपयोगी होता है।
विटामिन बी6 कमी की पूर्ति (Vitamin B6 Sources)
  • पत्तेदार हरी सब्जी ना केवल आयरन का अच्छा स्रोत है बल्कि यह विटामिन बी6 से भी भरपूर होती है। (The leafy green vegetable is not only a good source of iron but it is also rich in Vitamin B6) इससे, विटामिन बी6 के अलावा फोलेट, विटामिन के, ई और सी भी मिलते हैं।  मैग्नीशियम, कैल्शियम और आयरन के अलावा अन्य कई मिनरल्स भी इससे प्राप्त होते है।
  • केले  में विटामिन बी6 की रोजाना जरूरत का 18 फीसदी हिस्सा प्राप्त किया जा सकता है। (18% of daily requirement of Vitamin B6 can be obtained in banana.) इसीलिए, केले को विटामिन बी6 का एक बेहतरीन स्रोत बताया जाता है।
  • सभी प्रकार के चने में विटामिन बी6 की अच्छी मात्रा होती है। (There is a good amount of Vitamin B6 in all types of gram) इन्हें विटामिन बी6 के वेजिटेरियन या शाकाहारी स्रोत्रों में सबसे बेहतरीन माना जाता है  चने में विटामिन बी6 की रोजाना जरूरत का लगभग 50 प्रतिशत हिस्सा प्राप्त किया जा सकता है।
  • आम विटामिन बी6 का अच्छा स्रोत है। आम में लगभग इतना विटामिन बी6 होता है। जो रोजाना जरूरत का 10 फीसदी हिस्सा बन सकती है। (Mango is a good source of Vitamin B6. Mango contains almost this much vitamin B6. Which can become 10% of daily requirement).
  • साबुत अनाज विटामिन बी6 का सबसे अच्छे स्त्रोत होता है, (Whole grains are the best sources of Vitamin B6) जैसे गेंहू, बाजरा, जौ, मक्का, मटर, ग्रीन बीन्स, अखरोट आदि हैं। इसके अलावा केले, बंद गोभी, सोया बीन्स, गाजर और हरी सब्जियाँ।

स्वस्थ स्वास्थ्य के लिए विटामिन जरूरी हैं