औषधीय गुणों का भंडार सौंफ- Fennel has sufficient medicinal properties

Share:


औषधीय गुणों का भंडार सौंफ 
(Health benefits of aniseed)

सौंफ को ज्यादातर खाना खाने के बाद माउथ फ्रेशनर की तरह इस्तेमाल किया जाता है लेकिन सौंफ के कई फायदे होते हैं। (Aniseed is mostly used as a mouth freshener after meals, but fennel has many benefits) सौंफ एक औषधि है और इसके बारे में आयुर्वेद में बहुत सारी बातें बताई गई हैं। (Fennel is a medicine and many things have been told about it in Ayurveda) वात तथा पित्त को शांत करता है, भूख बढ़ाता है, भोजन को पचाता है, वीर्य की वृद्धि करता है। हृदय, मस्तिष्क तथा शरीर के लिए लाभकारी होता है। 

यह बुखार, गठिया आदि वात रोग, घावों, दर्द, आँखों के रोग, योनि में दर्द, अपच, कब्ज की समस्या में फायदा पहुंचाता है। इसके साथ ही यह पेट में कीड़े, प्यास, उल्टी, पेचिश, बवासीर, टीबी आदि रोगों को ठीक करने में भी सहायता करता है। सौंफ का उपयोग सबसे अधिक पाचन संबंधी समस्याओं से छुटकारा पाने के लिए किया जाता है। इसके एंटीस्पास्मोडिक पेट और आंत में ऐंठन दूर करने वाली दवाई और कार्मिनेटिव एक तरह की दवा जो पेट फूलने या गैस बनने से रोकती है। गुण इरिटेबल बाउल सिंड्रोम जैसी पेट की गंभीर समस्याओं से छुटकारा दिलाने में काफी कारगर होते हैं। 

सौंफ खाने के फायदे (Benefits of eating fennel)

सौंफ वजन कम करने में मदद करता है (Fennel helps in weight loss): फाइबर से भरपूर सौंफ बढ़ते वजन को नियंत्रित करने में भी लाभदायक होता है। शरीर में अतिरिक्त वसा को बनने से रोकता है। सौंफ की एक कप चाय पीने से भी बढ़ते वजन को रोका जा सकता है।

सौंफ सिरदर्द के लिए उपयोगी (Fennel is useful for headache): सौंफ को पानी के साथ पीसकर ललाट पर लगाने से सिरदर्द से आराम मिलती है। सौंफ खाने से सिरदर्द से आराम मिलता है। 

सौंफ आंखों के लिए उपयोगी (Fennel useful for eyes): सौंफ के पत्ते के रस में रूई को भिगोकर आँखों पर रखें। इससे आँखों की जलन, दर्द तथा लालिमा की परेशानी ठीक होती है। 2 ग्राम सौंफ चूर्ण में 60 मि.ग्रा. खसखस यानी पोस्त के दानों का चूर्ण मिला लें। इसे नियमित सेवन करने से आँखों के रोग ठीक होते हैं तथा आँखों की रोशनी बढ़ती है। 3-4 ग्राम सौंफ चूर्ण में बराबर भाग खाँड मिलाकर सेवन करें। इससे मानसिक रोग तथा गाय के दूध के साथ सेवन करने से आँख के रोग ठीक होते हैं।

औषधीय  गुणों का भंडार सौंफ fennel has sufficient medicinal properties in hindi, health benefits of aniseed in hindi, सौंफ खाने के फायदे benefits of eating fennel in hindi, सौंफ वजन कम करने में मदद करता है fennel helps in weight loss in hindi, सौंफ सिरदर्द के लिए उपयोगी fennel is useful for headache in hindi, सौंफ आंखों के लिए उपयोगी fennel useful for eyes in hindi, सौंफ जुकाम में फायदेमंद fennel is beneficial in cold in hindi, सौंफ मुँह के छालों के लिए उपयोगी fennel is useful for mouth ulcers in hindi, सौंफ वात तथा पित्त को शांत करता है fennel reduces acidity in hindi, सौंफ पेट दर्द दूर करता है fennel relieves stomach pain in hindi, सौंफ भूख बढ़ाता है fennel increases appetite in hindi, सौंफ स्तनपान के लिए फायदेमंद fennel beneficial for breastfeeding in hindi, सौंफ रक्तचाप को कंट्रोल करता है fennel controls blood pressure in hindi, सौंफ अच्छी नींद के लिए फायदेमंद fennel is beneficial for good sleep in hindi, सौंफ मधुमेह से बचाव करता है fennel prevents diabetes in hindi, सौंफ गुर्दे की पथरी रोकने में फायदेमंद fennel is beneficial in preventing kidney stones in hindi, सौंफ भूख बढ़ाता है fennel increases appetite in hindi, सौंफ लीवर की क्षमता बढ़ाता है fennel enhances the efficiency of the liver in hindi, सौंफ खून साफ करता है fennel purifies the blood in hindi, सौंफ त्वचा के लिए फायदेमंद fennel beneficial for skin in hindi, सौंफ बालों की करे देख-रेख fennel for hair in hindi, अपनाएं आयुर्वेद लाइफस्टाइल adopt ayurveda lifestyle in hindi, सक्षमबनो, sakshambano, sakshambano ka uddeshya, latest viral post of sakshambano website, sakshambano pdf hindi,

सौंफ जुकाम में फायदेमंद  (Fennel is beneficial in cold): 25-30 मिली सौंफ के काढ़ा या सौंफ का पानी पीने के फायदे से जुकाम में लाभ होता है। अंजीर के साथ सौंफ का सेवन करने से सूखी खाँसी, गले की सूजन से राहत जल्दी मिलती है। 

सौंफ मुँह के छालों के लिए उपयोगी (Fennel is useful for mouth ulcers): सौंफ का काढ़ा बनाकर उसमें फिटकरी मिलाकर गरारा करने से मुँह के छालों में लाभ होता है। सौंफ में बराबर मिश्री मिलाकर सेवन करने से मुँह से बदबू आने की परेशानी ठीक होती है।

सौंफ वात तथा पित्त को शांत करता है (Fennel reduces acidity)

सौंफ पेट दर्द दूर करता है (Fennel relieves stomach pain): सौंफ चबाने से या चूर्ण का सेवन करने से पेट में मरोड़, उल्टी, पेट के कीड़े की परेशानी आदि में लाभ होता है। भुनी हुई सौंफ में 2 ग्राम बिना भुनी सौंफ तथा 4 ग्राम मिश्री मिलाकर सेवन करने से पेचिश ठीक होता है। 

सौंफ भूख बढ़ाता है (Fennel increases appetite): सौंफ के साथ काली मिर्च का चूर्ण लें। इसे 2-5 ग्राम की मात्रा में गुनगुने जल के साथ सेवन करने से भूख बढ़ती है।

सौंफ स्तनपान के लिए फायदेमंद (Fennel beneficial for breastfeeding): सौंफ में एथनॉल नामक तत्व पाया जाता है जो फाइटोएस्ट्रोजन है और महिलाओं में दूध बनने की क्षमता को बढ़ाता है। 

सौंफ रक्तचाप को कंट्रोल करता है (Fennel controls blood pressure): सौंफ में मौजूद पोटैशियम खून में सोडियम की मात्रा को नियंत्रित करता है और इसके दुष्प्रभाव से बचाता है। सौंफ में नाइट्रेट की भी मात्रा होती है जो बल्ड प्रेशर को कम करता है। साथ ही इसमें मैग्नीशियम भी अत्यधिक मात्रा में पाया जाता है, जो महिलाओं में हाई बल्ड प्रेशर के खतरे को कम कर सकता है।

सौंफ अच्छी नींद के लिए फायदेमंद (Fennel is beneficial for good sleep): सौंफ में मैग्नीशियम पाया जाता है कहा जाता है कि यह अच्छी नींद और नींद के समय को बढ़ा सकता है। साथ ही यह भी कहा जाता है कि मैग्नीशियम अनिद्रा दूर भगाने में भी मददगार होता है।

सौंफ मधुमेह से बचाव करता है (Fennel prevents diabetes): सौंफ खून में शर्करा की मात्र को कम कर मधुमेह के खतरे को भी कम करता है। सौंफ में पाए जाने वाले एंटीऑक्सीडेंट गुण भी कोलेस्ट्रॉल के स्तर को कम कर सकते हैं।

सौंफ गुर्दे की पथरी रोकने में फायदेमंद (Fennel is beneficial in preventing kidney stones): गुर्दे की पथरी को रोकने में सहायक है क्योंकि फेनल में एंटीयूरोलिथियासिस का गुण पाया जाता है।

सौंफ भूख बढ़ाता है (Fennel increases appetite)

सौंफ लीवर की क्षमता बढ़ाता है (Fennel enhances the efficiency of the liver): सौंफ में एंटीऑक्सीडेंट और अन्य मिनरल्स पाए जाते हैं जो लीवर को सेहतमंद बनाए रखने में मददगार साबित होते हैं। सौंफ में सेलेनियम की मात्रा भी पाई जाती है जो लीवर की क्षमता को बढ़ाता है और शरीर से हानिकारक तत्वों को निकालने में सहायक हो सकता है।

सौंफ खून साफ करता है (Fennel purifies the blood): सौंफ रक्त शोधक का कार्य भी बहुत अच्छे से करती है। यह मूत्र की प्रवृत्ति को बढ़ाते हुए शरीर से सभी विषैले पदार्थों को बाहर निकाल फेंकने में मदद करते हैं।

सौंफ त्वचा के लिए फायदेमंद (Fennel beneficial for skin): सौंफ में मौजूद एंटी-इंफ्लेमेटरी, एंटीमाइक्रोबियल और एंटीएलर्जिक गुण त्वचा की सुंदरता बनाए रखने में मददगार साबित होते हैं। सौंफ की भाप आपके चेहरे के स्किन टैक्सचर को बनाए रख सकती है। इसके लिए एक लीटर उबलते पानी में एक चम्मच सौंफ डाले। उसके बाद तौलिये से अपने सिर को गले तक कवर करके पांच मिनट तक भाप लें। ऐसा सप्ताह में दो बार करने से त्वचा की चमक बढ़ सकती है।

सौंफ बालों की करे देख-रेख (Fennel for hair): सौंफ में पाए जाने वाले एंटीऑक्सीडेंट और एंटी-माइक्रोबियल जैसे गुण बालों की विभिन्न समस्याओं से छुटकारा दिला सकते है। बालों में डैंड्रफ, सिर में खुजली और बालों का गिरना आदि के लिए लाभकारी। दो कप पानी, तीन चम्मच सौंफ का पाउडर, सौंफ के पाउडर को पानी में डालकर अच्छी तरह से मिला लें।  मिश्रण तैयार होने के बाद उसे 15 मिनट के लिए रख दें। बालों को अच्छी तरह से शैंपू करने के बाद तैयार किए गए मिश्रण से बालों को धोएं। ऐसा करने से बालों के गिरने की समस्या से छुटकारा मिल सकता है।  

अपनाएं आयुर्वेद लाइफस्टाइल (Adopt ayurveda lifestyle in hindi)