अब घर से बाहर होगा नकली घी -Now fake ghee will be out of the house

Share:

 

देसी घी रंग में मक्खन की तरह दिखता है in hindi, asali ghee ki pahchan kaise karen in hindi, asli ghee kaise pahchane in hindi, asli ghee ki jankari in hindi, asli-nakli ghee ki jankari in hindi, desi ghee ke barein in hindi,One spoon of cow's ghee every morning on an empty stomach in hindi,एक चम्मच देसी घी सुबह खाली पेट in hindi, A spoonful of desi ghee on an empty stomach in the morning in hindi, ghee in empty stomach in hindi, eating ghee in empty stomach benefits in hindi, eating ghee then benefits for skin in hindi, eating ghee for skin whitening in hindi, ghee for skin pigmentation in hindi, ghee immunity booster in hindi, ghee improves immunity in hindi, ghee se fayde in hindi, ghee jaroor khana chahiye in hindi, ghee se strong body in hindi, Desi Ghee Is Beneficial To Sharpen Memory in hindi, ghee dimag ke liye in hindi, health benefits of desi ghee for brain in hindi, Desi ghee benefits in hindi, Desi Ghee Is Beneficial For Skin And Health in hindi, sakshambano in hindi, sakshambano website, sakshambano article in hindi, sakshambano pdf in hindi, sakshambano  jpeg, sakshambano sab in hindi, kaise sakshambano  in hindi,

अब घर से बाहर होगा नकली घी 
(Now fake ghee will be out of the house)

देसी घी रंग में मक्खन की तरह दिखता है, मक्खन से बनता है और महक में मक्खन की ही तरह होता है। घी को अंग्रेजी में क्लारिफाइड बटर कहते हैं। लगभग सभी घरों में घी का इस्तेमाल किया जाता है। फिर चाहें खाने में हो या फिर दवा के रूप में कई रोगों से पीछा छुड़वाना हो। आजकल बाजार में मिलने वाली चीजें काफी मिलावटी हो गई हैं और घी भी इनसे अछूता नहीं बचा है। आसान तरीका जिसकी मदद से घर बैठे ही असनी-नकली घीे की पहचान कर सकते हैं। 

एक समस्या बन गई

घी मिलावटी है या नहीं इसकी पहचान करने के लिए सबसे पहले एक गिलास पानी लें। अब इसमें एक चम्मच घी डाल दें। अगर घी पानी के ऊपर आ जाए तो इसका मतलब घी असली है। लेकिन अगर ये पानी में ही घुल जाए या नीचे बैठ जाए तो इसमें मिलावट की गई है। 

• एक पैन में एक चम्मच घी डालकर गर्म कर लें। अगर यह शीघ्र पिघल कर भूरे रंग का हो जाए तो ये शुद्ध है। लेकिन वहीं अगर घी को पिघलने में टाइम लग रहा है और पिघलने के बाद ये हल्के पीले रंग में बदल जाता है तो इसका मतलब घी में मिलावट की गई है। 

• एक बर्तन में दो चम्मच घी, आधा चम्मच नमक और एक चुटकी हाइड्रोक्लोरिक एसिड लेकर इसे अच्छे से मिक्स कर दें। इसके बाद इसे आधे घंटे के लिए ऐसे ही छोड़ दें। अगर आधे घंटे के बाद भी घी रंग वैसा ही है तो यह असली है। लेकिन वहीं अगर घी में कोई रंग दिखाई दें तो इसमें मिलावट की गई है। 

• घी की शुद्धता चेक करने के लिए घी को सबसे पहले अच्छी तरह गर्म कर लें। इसके बाद इसे कांच के बर्तन में रखकर फ्रिज में रख दें। अगर कुछ समय बाद घी अलग अलग लेयर में दिख रहा है तो इसका मतलब घी में मिलावट की गई है।

वात-पित्त-कफ को  उखाड़ फेंके 

• घी की शुद्धता का पता लगाने के लिए इसमें 4 से 5 बूंदे आयोडीन की मिलाएं. अगर घी का रंग नीला हो जाता है तो इसका मतलब है कि घी में मिलावट की गई है. नीले घी का मतलब है कि इसमें आलू मिलाया गया है।

• एक बर्तन में एक चम्मच घी डालें, इसमें 1 पिंच चीनी और थोड़ा सा हाइड्रोक्लोरिक एसिड डालकर मिक्स करें। अगर इसमें मिलावट की गई है तो घी का रंग बदलकर लाल हो जाएगा।

सुबह खाली पेट एक चम्मच घी 

• घी दोनों हथेलियों में लेकर रब करें और स्मेल करें। अगर थोड़ी देर बाद घी में से खुशबू आनी बंद हो जाए तो इसका मतलब है कि घी शुद्ध नहीं है और इसमें मिलावट की गई है।

• एक स्पून घी में 5 मिली लीटर हाइड्रोक्लोरिक एसिड डालें। अगर घी का रंग सफेद से बदलकर लाल हो जाता है तो घी में डाई मिक्स की गई है।

• मार्केट से खरीदे हुए घी में से चार से पांच चम्मच घी निकालकर उसे किसी बर्तन में डालकर उबल लें। इसके बाद घी के इस बर्तन को लगभग 24 घंटे के लिए अलग रख दें। अगर 24 घंटे के बाद भी घी दानेदार और महक रहा है तो घी असली है। अगर ये दोनों ही चीजें घी में से गायब है तो घी नकली हो सकता है।

इस लेख में दी गई जानकारियां और सूचनाएं सामान्य जानकारी पर आधारित हैं। सक्षमबनो इनकी पुष्टि नहीं करता है। इन पर अमल करने से पहले संबंधित विशेषज्ञ से संपर्क करें।

अपनाएं आयुर्वेद लाइफस्टाइल (Adopt ayurveda lifestyle in hindi)


No comments