तेज पत्ता (डालचीनी) हर तरह से फायदेमंद- Bay leaf (Dalchini) beneficial in every way

Share:

Tej Patta ke Fayde in hindi, tej patta (dalchini) har tarah se faydemand in hindi,tej patta in hindi, tej patta chhal in hindi, tej patta tree in hindi, tej patta tree images image, tej patta tree photo, tej patta tree jpeg, tej patta tree images jpg, tej patta benefits in hindi, तेज पत्ता एक आयुर्वेदिक जड़ी बूटी है in hindi,  इसकी पत्तियों और तेल का उपयोग दवा बनाने के लिए किया जाता है in hindi, कैंसर और गैस के इलाज के लिए तेज पत्ते का उपयोग किया जाता है in hindi, यह पित्त प्रवाह को उत्तेजित करता है जोin hindi,  पसीने का कारण बनता हैin hindi, तेजपात मसाले के रुप में अति प्रचलित हैin hindi, दालचीनी के रुप में इसकी छाल तथा सूखी पत्तियां गरम मसाले में प्रयोग होती हैin hindi, यह एक तरह का गर्म मसाला हैin hindi, जिसका उपयोग खाने में खुशबू तथा स्वाद बढ़ाने के लिए किया जाता हैin hindi, तेज पत्ते में काफी मात्रा में कॉपर in hindi,, पौटेशियम in hindi,, कैल्शियम, मैग्नीशियम in hindi,, सेलेनियम और आयरन पाया जाता है in hindi, जो हमारे शरीर के लिए बहुत ही फायदेमंद होते हैंin hindi, अपच, गले के रोग तथा कफ निस्सारक औषधियों का यह मुख्य अवयव है in hindi, तेज पत्ता एक ऐसी आयुर्वेदिक जड़ी बूटी है in hindi, और इसमें शरीर के कई रोगों का उपचार है in hindi, सदियों से तेज पत्ता को राजा-महाराजाओं के मुकुट के अंदर लगाया जाता था in hindi, ताकि वे तनाव से दूर रहें in hindi, और तेज पत्ता में मौजूद एंटी इंफ्लेमेटरी गुण के कारण उनके सिर में होने वाली समस्या भी दूर होती थी in hindi, इसकी पत्तियों और तेल का उपयोग गैस कम करने in hindi, और जोड़ों का दर्द कम करने के लिए किया जाता हैin hindi, तेज पत्ता में कई तरह के प्रमुख लवण जैसे कॉपर in hindi,, पोटैशियम, कैल्शियम, सेलेनियम और आयरन पाए जाते हैं in hindi, जो शरीर के लिए बहुत ही फायदेमंद होते हैंin hindi, खाने में इसका इस्तेमाल इसलिए भी किया जाता है in hindi, क्योंकि इससे पाचन संबंधी बीमारियां दूर होती हैं in hindi, जो लोग चाय में तेज पत्ता डालते हैं in hindi, उन्हें कब्ज, एसिडिटी और मरोड़ जैसी समस्याएं नहीं होती in hindi, तेज पत्ता खाने से शरीर में रक्त का संतुलन बना रहता है in hindi, जिससे मधुमेह की समस्या नहीं होती in hindi, तेज पत्ते में एंटीऑक्सिडेंट गुण होते हैं in hindi, जो शरीर के इंसुलिन को स्वस्थ बनाते हैं in hindi, इस प्रकार मधुमेह और इंसुलिन प्रतिरोध वाले लोगों के लिए तेज पत्ता अति लाभदायक होता है in hindi, डायबिटीज के रोगी भी तेज पत्ता इस्तेमाल कर सकते हैं in hindi, क्योंकि यह रक्त ग्लूकोज, कोलेस्ट्रॉल और ट्राइग्लिसराइड के स्तर को कम करने में मदद करते हैं in hindi, पाउडर बनाकर भी तेज पत्ते का सेवन किया जा सकता है in hindi, चिंता को दूर करें in hindi, (Remove Anxiety in hindi,) : तेज पत्ते में दिमाग को शांत करने की ताकत होती है in hindi, इससे स्ट्रेस दूर होता है in hindi, और शांति मिलती है in hindi, तेज पत्ता जलाने के फायदे क्या हैं? in hindi, इसे जलाने पर मिलने वाली गंध थकान in hindi, और चिड़चिड़ाहट भी दूर करती है v इसके अलावा तेज पत्ते के धुएं से इम्यून सिस्टम भी मजबूत होता है in hindi, इम्यून सिस्टम के मजबूत होने से रोग आसानी से पनप नहीं पाते in hindi, इसके साथ ही यह भी माना जाता है in hindi, कि तेज पत्ता आसपास के वातावरण में मौजूद बैक्टीरिया को खत्म करता है in hindi, थकान दूर करें- in hindi, (Relieve fatigue in hindi,) : तेज पत्ता कमरे में जलाने से व्यक्ति की थकान दूर हो जाती है in hindi, इसके खुशबू दिमाग को शांति देती है in hindi, इससे दिमाग की नसों को आराम मिलता है in hindi, इतना ही नहीं इसका धुंआ जब सांस के साथ शरीर के अंदर जाता है in hindi, तो इम्यून सिस्टम मजबूत बनता है in hindi, कब्ज मे लिए लाभदायक in hindi, (Beneficial for constipation in hindi,) : कब्ज, एसिड और ऐंठन से जुड़ी समस्या के लिए तेज पत्ता बहुत फायदेमंद होता है in hindi, इसके साथ-साथ तेज पत्ते को पीसकर उसके पाउडर में संतरे के छिलके का पाउडर मिलायें in hindi, और इस मिश्रण से हफ्ते में तीन दिन ब्रश करें इससे दांतों का पीलापन कम दूर हो जाता है in hindi, नींद-आलस भगाएं in hindi, (Slumber away in hindi,) : एक तेज पत्ता को पानी में कम से कम छह घंटे तक भिगोए in hindi, सुबह को उठने के बाद उस पानी को पी लें in hindi, इससे काफी राहत मिलेगी और नींद का नशा उतर जाएगा in hindi, अच्छी नींद के लिए in hindi, (For sleep well in hindi,) : तेज पत्ता रात को अच्छी नींद के लिए भी इस्तेमाल किया जाता है in hindi, इसके लिए तेज पत्ते के तेल की बूंदों को मिलाकर कुछ देर के लिए रख लें in hindi, उसके बाद उसे अच्छी तरह से सिर पर लगाएं in hindi, यह अच्छी नींद के लिए बहुत फायदेमंद है in hindi, मजबूत किडनी के लिए in hindi, (For strong kidney in hindi,) : किडनी से जुड़ी कोई भी समस्या होने पर तेज पत्ते को पानी में उबालें in hindi, उबले हुए पानी को ठंडा करने के बाद पी लें in hindi, तेज पत्ता में कैंसर से लड़ने के गुण पाए जाते हैं in hindi, इसमें कैफीक एसिड, क्वेरसेटिन और इयूगिनेल तत्व होते हैं in hindi, जो मेटाबोलिज्म को कैंसर जैसी घातक बीमारी होने से बचाता है in hindi, दर्द-निवारण- (Pain relief in hindi,) : तेज पत्ते के तेल को दर्द होने वाली जगह पर लगाने से दर्द में आराम मिलता है in hindi, गठिया के लिए in hindi, (Cardiovascular benefits in hindi,) : तेज पत्ते का एंटी-इन्फ्लैमटोरी गुण गठिया के दर्द से राहत दिलाने में मदद करता है in hindi, कैस्टर ऑयल और तेज पत्ते के तेल को एक साथ मिलाकर गठिया के दर्द वाली जगह पर लगाने से राहत मिलती है in hindi, कार्डियोवस्कुलर लाभ in hindi, (Cardiovascular benefits in hindi,) : दिल संबंधी परेशानियों में तेज पत्ता लाभदायक होता है in hindi, इसका सेवन करने वाले को दिल का दौरा पड़ने की आशंका नही बनती है in hindi, कोलेस्ट्रॉल स्तर को कम करता है in hindi, (Reduces Cholestrol level in hindi,) : कोलेस्ट्रॉल शरीर के लिए जरूरी होता है in hindi, लेकिन कहते हैं न कि जरूरत से ज्यादा कोई भी चीज अच्छी नहीं होती in hindi, उसी तरह शरीर में अधिक कोलेस्ट्रॉल से कई सारी बीमारियां पैदा हो जाती है in hindi, बॉडी से हानिकारक कोलेस्ट्रॉल को हटाने के लिए तेज पत्ता सबसे अच्छी दवा होता है in hindi, बस इसके लिए तेज पत्तों के 10- 15 टुकड़े लें in hindi, और उन्हें पानी में साफ करके अच्छी तरह से उबाल लें in hindi, ठंडा होने के बाद रात को सोने से पहले इनका सेवन करें in hindi, ये आपके शरीर से कोलेस्ट्रॉल के स्तर को कम करने में मदद करेगा in hindi, हालांकि यह प्रक्रिया कई दिनों तक अपनानी पड़ेगी in hindi, उसके बाद ही अच्छा परिणाम मिलेगा in hindi, हिचकी की परेशानी में दालचीनी का सेवन in hindi, (For Hiccup Problem in hindi,) : हिचकी आना बहुत ही साधारण सी बात है in hindi,, लेकिन कई ऐसे भी लोग होते हैं in hindi, जिन्हें हमेशा हिचकी आने की शिकायत रहती है in hindi, ऐसे लोग दालचीनी का उपयोग कर सकते हैं in hindi, दालचीनी के 10-15 मिली काढ़ा को पिएं in hindi, भूख को बढ़ाने के लिए दालचीनी  in hindi, (Cinnamon for Appetite Problem in hindi,) : 600 मिग्रा शुंठी चूर्ण, 400 मिग्रा इलायची in hindi,, तथा 400 मिग्रा दालचीनी को पीस लें। भोजन के पहले सुबह-शाम लेने से भूख बढ़ती है in hindi, उल्टी को रोकने के लिए in hindi, (Cinnamon to Stop Vomiting in hindi,) : दालचीनी का प्रयोग उल्टी रोकने के लिए भी किया जाता है in hindi, दालचीनी, और लौंग का काढ़ा बनाकर पीयें in hindi, आंखों के रोग में दालचीनी in hindi, (Eye Disease Treatment in hindi,) : आँख का बार-बार फड़कना परेशानी का विषय बना जाता है in hindi, इसके लिए दालचीनी का तेल आंखों के ऊपर लगाएं in hindi, इससे आंखों का फड़कना बन्द हो जाता है in hindi, और आंखों की रोशनी भी बढ़ती है in hindi, दांत के दर्द से आराम in hindi, (Cinnamon for Dental Pain in hindi,) : जिन्हें दांत में दर्द की शिकायत रहती है in hindi, वे लोग दालचीनी का फायदा ले सकते हैं in hindi, दालचीनी के तेल को रूई से दांतों में लगाएंin hindi, इससे आराम मिलेगा in hindi, दालचीनी के 4-5 पत्तों को पीसकर मंजन करें in hindi, इससे दांत साफ, और चमकीले हो जाते हैं in hindi, जुकाम में दालचीनी in hindi, (Cinnamon Uses for Common Cold in hindi,) : एक चैथाई चम्मच दालचीनी के चूर्ण in hindi, में 1 चम्मच मधु को मिला लें in hindi, इसे दिन में तीन बार सेवन करने से खांसी in hindi,, जुकाम और दस्त में फायदा होता है in hindi, नाक की बीमारी के लिए दालचीनी in hindi, (Cinnamon for Nasal Disease in hindi,) : दालचीनी 5 ग्राम, लौंग 500 मिग्रा, सोंठ 3 ग्राम को एक लीटर पानी में उबाल लें in hindi, जब यह पानी 250 मिली रह जाए in hindi,, तो इसे छान लें in hindi, इसको दिन में 3 बार लेने से नाक के रोग में लाभ होता है in hindi, पेट फूलने पर दालचीनी का फायदा in hindi, (Cinnamon benefits on flatulence in hindi,) : पेट से संबंधित कई तरह के रोगों में दालचीनी बहुत ही फायदेमंद होती है in hindi, 5 ग्राम दालचीनी चूर्ण में 1 चम्मच मधु मिला लें in hindi, इसे दिन में 3 बार सेवन करें। पेट के फूलने की बीमारी दूर होती है in hindi, दालचीनी आमाशय विकार के लिए in hindi, (Cinnamon Uses for Stomach Problem in hindi,) : दालचीनी, इलायची, और तेजपत्ता को बराबर-बराबर लेकर काढ़ा बना लें in hindi, इसके सेवन से आमाशय की ऐंठन दूर होती है in hindi, दालचीनी आंतों के रोग के लिए in hindi, (Cinnamon Treat for  Intestine Disorder in hindi,) : दालचीनी का तेल पेट पर मलने से आंतों का खिंचाव दूर हो जाता है in hindi, दालचीनी चर्म रोग के लिए in hindi, (Cinnamon for Skin Disease in hindi,) : चर्म रोग को ठीक करने के लिए शहद एवं दालचीनी को मिलाकर लगाएं in hindi, खुजली-खाज, तथा फोड़े-फुन्सी ठीक होते है in hindi, दालचीनी टीबी में लाभदायक in hindi, (Cinnamon in TB Disease in hindi,) : टीबी के इलाज के लिए दालचीनी से लाभ मिलता है in hindi, टीबी मरीज को दालचीनी के तेल को थोड़ी मात्रा में पीना है in hindi, इससे टीबी के कीटाणु खत्म हो जाते हैं in hindi, वजन कम करने के लिए in hindi, (For Losing Weight in hindi,): वजन कम करने में तेज पत्ते का उपयोग आपके लिए लाभकारी हो सकता है in hindi, तेज पत्ते और दाल चीनी के मिश्रण का उपयोग आपके पाचन तंत्र के लिए बहुत अच्छा होता है in hindi, यह आपके शरीर में अवांछित वसा दूर करने में मदद करता है in hindi, और वजन कम करता है in hindi, नियमित रूप से इसका सेवन करने से यह महिलाओं के मासिक धर्म को नियमित करने में भी मदद करता है in hindi, इसके साथ ही इसके इस्तेमाल से मासिक धर्म में होने वाली परेशानियां भी दूर होती हैं in hindi, चमकदार दांतों के लिए in hindi, (For Bright Teeth in hindi,) : अगर आप चमकदार दांत चाहते हैं in hindi, और महंगे टूथ पेस्ट के इस्तेमाल से थक गए हैं in hindi, तो तेज पत्ता आपको चमकदार दांत दे सकता है in hindi,। तेज पत्ते और संतरे के सूखे छिल्कों के पाउडर में पानी मिलाकर टूथपेस्ट की तरह उपयोग किया जा सकता है in hindi,। यह हमारे दांतों को सफेद और स्वस्थ बनाने में मदद करता है in hindi,। साबुत तेज पत्ते को दांत पर रगड़ने से दांत के पीलेपन से होने वाली शर्मिंदगी से भी बचा जा कसता है in hindi, बालों का टूटना और झड़ना रोके in hindi, (Prevent Hair Fall in hindi,) :  अगर आपके बाल झड़ रहे हैं और लाखों उपाय करने के बाद भी बालों का झड़ना बंद नहीं हो रहा है in hindi, तो तेज पत्ते को पानी में उबालें और उससे बालों को अच्छी तरह से धो लें। in hindi, हालांकि ध्यान रहे कि उससे पहले बालों को शैम्पू से धोना जरूरी है in hindi, ताकि वे अच्छे से साफ हो जाएं in hindi,। यह बालों को झड़ने से रोकने में आपकी मदद करेगा। in hindi, तेज पत्ता बालों की गंदगी और चिपचिपाहट को दूर करने के साथ ही कंडीशन भी करता है in hindi, इसके उपयोग से बालों में चमक आती है in hindi, अगर तेज पत्ता पाउडर को पीसकर दही के साथ बालों में लगाया जाए in hindi, तो इससे सिर की रूसी भी दूर हो जाती है in hindi, सौंदर्य के लिए in hindi, (For Beauty in hindi,) : सुंदर दिखने के लिए लोग अक्सर महंगी क्रीम से लेकर महंगे in hindi, फेशियल तक, हर चीज का इस्तेमाल करते हैं in hindi, लेकिन कोई फर्क नहीं पड़ता in hindi, हालांकि तेज पत्ते का इस्तेमाल करने से खूबसूरती में फर्क दिखने लगता है in hindi, इसे चेहरे पर लगाने से न सिर्फ दाग- धब्बे दूर होते हैं in hindi, बल्कि स्किन ग्लो भी करती है in hindi, तेज पत्ते का पानी  in hindi, (Bay leaves drink in hindi,) : तेज पत्ते के पानी को दिन में तीन बार पीना है in hindi, एक बार सुबह खाली पेट in hindi,, दूसरी बार दोपहर के भोजन के कुछ देर in hindi, पहले और तीसरी बार डिनर करने के आधे घंटे के बाद। पानी को पीने से पहले हल्का गरम जरूर करें in hindi,, , तेज पत्ता (डालचीनी) हर तरह से फायदेमंद in hindi, tej patta chhal  Bay leaf in hindi, तेज पत्ता के फायदे in hindi, tej patta for weight loss in hindi तेज पत्ता के फायदे in hindi, Tej Patta Ke Fayde In Hindi, tej patta khane se fayde in hindi,दालचीनी के लाभ in hindi, dalchini uses in hindi, दालची in hindi, What is Dalchiniin hindi, दालचीनी चाययौन शक्ति बढ़ाती है in hindi, जरा सी दालचीनी in hindi, dalchini photo in hindi, Important uses of Dalchini in hindi,dalchini image in hindi, dalchini jpeg, dalchini jpg in hindi, burning bay leaf benefits in hindi, bay leaf benefits for weight loss  in hindi, bay leaf benefits for skin  in hindi, bay leaf benefits for hair  in hindi, bay leaf tea for diabetes in hindi, bay leaf recipes  in hindi, how to make bay leaf oil  in hindi, chewing bay leaves  in hindi, Bay leaf (Dalchini) beneficial in every way in hindi, तेज पत्ता एक आयुर्वेदिक जड़ी बूटी है  in hindi, इसकी पत्तियों और तेल का उपयोग दवा बनाने के लिए किया जाता है in hindi, कैंसर और गैस के इलाज के लिए तेज पत्ते का उपयोग किया जाता है in hindi, यह पित्त प्रवाह को उत्तेजित करता है जो in hindi, पसीने का कारण बनता है in hindi, तेजपात मसाले के रुप में अति प्रचलित है in hindi, दालचीनी के रुप में इसकी छाल तथा सूखी पत्तियां गरम मसाले में प्रयोग होती है in hindi, यह एक तरह का गर्म मसाला है in hindi, जिसका उपयोग खाने में खुशबू तथा स्वाद बढ़ाने के लिए किया जाता है in hindi, तेज पत्ते में काफी मात्रा में कॉपर, पौटेशियम, कैल्शियम, मैग्नीशियम, सेलेनियम और आयरन पाया जाता है  in hindi,जो हमारे शरीर के लिए बहुत ही फायदेमंद होते हैं in hindi, अपच, गले के रोग तथा कफ निस्सारक औषधियों का यह मुख्य अवयव है in hindi, तेज पत्ता एक ऐसी आयुर्वेदिक जड़ी बूटी है  in hindi, और इसमें शरीर के कई रोगों का उपचार है in hindi, सदियों से तेज पत्ता को राजा-महाराजाओं के मुकुट के अंदर लगाया जाता था  in hindi, ताकि वे तनाव से दूर रहें  in hindi, और तेज पत्ता में मौजूद एंटी इंफ्लेमेटरी गुण के कारण उनके सिर में होने वाली समस्या भी दूर होती थी in hindi, इसकी पत्तियों और तेल का उपयोग गैस कम करने और जोड़ों का दर्द कम करने के लिए किया जाता है in hindi, तेज पत्ता में कई तरह के प्रमुख लवण  in hindi, जैसे कॉपर, पोटैशियम, कैल्शियम, सेलेनियम और आयरन पाए जाते हैं  in hindi, जो शरीर के लिए बहुत ही फायदेमंद होते हैं in hindi, खाने में इसका इस्तेमाल इसलिए भी किया जाता है  in hindi, क्योंकि इससे पाचन संबंधी बीमारियां दूर होती हैं in hindi, जो लोग चाय में तेज पत्ता डालते हैं,  in hindi, उन्हें कब्ज, एसिडिटी और मरोड़ जैसी समस्याएं नहीं होती in hindi, तेज पत्ता खाने से शरीर में रक्त का संतुलन बना रहता है in hindi,, जिससे मधुमेह की समस्या नहीं होती in hindi, तेज पत्ते में एंटीऑक्सिडेंट गुण होते हैं,  in hindi, जो शरीर के इंसुलिन को स्वस्थ बनाते हैं in hindi, इस प्रकार मधुमेह और इंसुलिन प्रतिरोध वाले लोगों के लिए तेज पत्ता अति लाभदायक होता है in hindi, डायबिटीज के रोगी भी तेज पत्ता इस्तेमाल कर सकते हैं  in hindi, क्योंकि यह रक्त ग्लूकोज, कोलेस्ट्रॉल और ट्राइग्लिसराइड के स्तर को कम करने में मदद करते हैं in hindi, पाउडर बनाकर भी तेज पत्ते का सेवन किया जा सकता है in hindi, चिंता को दूर करें  in hindi, Remove Anxiety in hindi, तेज पत्ते में दिमाग को शांत करने की ताकत होती है  in hindi, इससे स्ट्रेस दूर होता है  in hindi,और शांति मिलती है in hindi, तेज पत्ता जलाने के फायदे क्या हैं?  in hindi, इसे जलाने पर मिलने वाली गंध थकान और चिड़चिड़ाहट भी दूर करती है in hindi, इसके अलावा तेज पत्ते के धुएं से इम्यून सिस्टम भी मजबूत होता है in hindi, इम्यून सिस्टम के मजबूत होने से रोग आसानी से पनप नहीं पाते in hindi, इसके साथ ही यह भी माना जाता है  in hindi,कि तेज पत्ता आसपास के वातावरण में मौजूद बैक्टीरिया को खत्म करता है in hindi, थकान दूर करें-Relieve fatigue  in hindi, तेज पत्ता कमरे में जलाने से व्यक्ति की थकान दूर हो जाती है  in hindi, इसके खुशबू दिमाग को शांति देती है in hindi, इससे दिमाग की नसों को आराम मिलता है in hindi, इतना ही नहीं इसका धुंआ जब सांस के साथ शरीर के अंदर जाता है  in hindi, तो इम्यून सिस्टम मजबूत बनता है in hindi, कब्ज मे लिए लाभदायक in hindi, Beneficial for constipation in hindi, कब्ज, एसिड और ऐंठन से जुड़ी समस्या के लिए तेज पत्ता बहुत फायदेमंद होता हैin hindi, इसके साथ-साथ तेज पत्ते को पीसकर उसके पाउडर में संतरे के छिलके का पाउडर मिलायें in hindi, और इस मिश्रण से हफ्ते में तीन दिन ब्रश करें इससे दांतों का पीलापन कम दूर हो जाता है in hindi, नींद-आलस भगाएं in hindi, Slumber away in hindi, एक तेज पत्ता को पानी में कम से कम छह घंटे तक भिगोए in hindi, सुबह को उठने के बाद उस पानी को पी लें in hindi, इससे काफी राहत मिलेगी in hindi, और नींद का नशा उतर जाएगा in hindi, अच्छी नींद के लिए in hindi,  For sleep well in hindi, तेज पत्ता रात को अच्छी नींद के लिए भी इस्तेमाल किया जाता हैin hindi, इसके लिए तेज पत्ते के तेल की बूंदों को मिलाकर कुछ देर के लिए रख लेंin hindi, उसके बाद उसे अच्छी तरह से सिर पर लगाएंin hindi, यह अच्छी नींद के लिए बहुत फायदेमंद हैin hindi, मजबूत किडनी के लिए in hindi, For strong kidney in hindi, किडनी से जुड़ी कोई भी समस्या होने पर तेज पत्ते को पानी में उबालेंin hindi,  उबले हुए पानी को ठंडा करने के बाद पी लेंin hindi, तेज पत्ता में कैंसर से लड़ने के गुण पाए in hindi, जाते हैं इसमें कैफीक एसिड, क्वेरसेटिन और इयूगिनेल तत्व होते हैं in hindi, जो मेटाबोलिज्म को कैंसर जैसी घातक बीमारी होने से बचाता है in hindi, दर्द-निवारण in hindi, Pain relief in hindi, तेज पत्ते के तेल को दर्द होने वाली जगह पर लगाने से दर्द में आराम मिलता है in hindi, गठिया के लिए in hindi, Cardiovascular benefits in hindi, तेज पत्ते का एंटी-इन्फ्लैमटोरी गुण गठिया के दर्द से राहत दिलाने में मदद करता हैin hindi, कैस्टर ऑयल और तेज पत्ते के तेल को एक साथ मिलाकर गठिया के दर्द वाली जगह पर लगाने से राहत मिलती है in hindi, कार्डियोवस्कुलर लाभ in hindi, Cardiovascular benefits in hindi, दिल संबंधी परेशानियों में तेज पत्ता लाभदायक होता है in hindi, इसका सेवन करने वाले को दिल का दौरा पड़ने की आशंका नही बनती है in hindi, कोलेस्ट्रॉल स्तर को कम करता है in hindi, Reduces Cholestrol level  in hindi, कोलेस्ट्रॉल शरीर के लिए जरूरी होता है in hindi, लेकिन कहते हैं in hindi, न कि जरूरत से ज्यादा कोई भी चीज अच्छी नहीं होतीin hindi, उसी तरह शरीर में अधिक कोलेस्ट्रॉल से कई सारी बीमारियां पैदा हो जाती हैin hindi, बॉडी से हानिकारक कोलेस्ट्रॉल को हटाने के लिए तेज पत्ता सबसे अच्छी दवा होता हैin hindi, बस इसके लिए तेज पत्तों के 10- 15 टुकड़े लें और उन्हें पानी में साफ करके अच्छी तरह से उबाल लेंin hindi, ठंडा होने के बाद रात को सोने से पहले इनका सेवन करेंin hindi, ये आपके शरीर से कोलेस्ट्रॉल के स्तर को कम करने में मदद करेगाin hindi, हालांकि यह प्रक्रिया कई दिनों तक अपनानी पड़ेगीin hindi, उसके बाद ही अच्छा परिणाम मिलेगा in hindi, हिचकी की परेशानी में दालचीनी का सेवन in hindi, For Hiccup Problem in hindi, हिचकी आना बहुत ही साधारण सी बात हैin hindi, लेकिन कई ऐसे भी लोग होते हैंin hindi, जिन्हें हमेशा हिचकी आने की शिकायत रहती हैin hindi, ऐसे लोग दालचीनी का उपयोग कर सकते हैंin hindi, दालचीनी के 10-15 मिली काढ़ा को पिएंin hindi, भूख को बढ़ाने के लिए दालचीनी in hindi, Dalchini for Appetite Problem in hindi, 600 मिग्रा शुंठी चूर्ण, 400 मिग्रा इलायची, तथा 400 मिग्रा दालचीनी को पीस लेंin hindi, भोजन के पहले सुबह-शाम लेने से भूख बढ़ती हैin hindi, उल्टी को रोकने के लिए- in hindi, Dalchini to Stop Vomiting in hindi,  दालचीनी का प्रयोग उल्टी रोकने के लिए भी किया जाता हैin hindi, दालचीनी, और लौंग का काढ़ा बनाकर पीयेंin hindi, आंखों के रोग में दालचीनी in hindi, Eye Disease Treatment in hindi, आँख का बार-बार फड़कना परेशानी का विषय बना जाता हैin hindi, इसके लिए दालचीनी का तेल आंखों के ऊपर लगाएंin hindi, इससे आंखों का फड़कना बन्द हो जाता हैin hindi, और आंखों की रोशनी भी बढ़ती हैin hindi, दांत के दर्द से आरामin hindi, Dalchini for Dental Pain in hindi, जिन्हें दांत में दर्द की शिकायत रहती हैin hindi, वे लोग दालचीनी का फायदा ले सकते हैंin hindi, दालचीनी के तेल को रूई से दांतों में लगाएंin hindi, इससे आराम मिलेगाin hindi, दालचीनी के 4-5 पत्तों को पीसकर मंजन करें। इससे दांत साफ, और चमकीले हो जाते हैंin hindi, जुकाम में दालचीनी in hindi, Dalchini Uses for Common Cold in hindi, एक चैथाई चम्मच दालचीनी के चूर्ण में 1 चम्मच मधु को मिला लें। इसे दिन में तीन बार सेवन करने से खांसी, जुकाम और दस्त में फायदा होता हैin hindi, नाक की बीमारी के लिए दालचीनी in hindi,Dalchini for Nasal Disease in hindi, दालचीनी 5 ग्राम, लौंग 500 मिग्रा, सोंठ 3 ग्राम को एक लीटर पानी में उबाल लें in hindi, जब यह पानी 250 मिली रह जाए, तो इसे छान लें। in hindi, इसको दिन में 3 बार लेने से नाक के रोग में लाभ होता हैin hindi, पेट फूलने पर दालचीनी का फायदा in hindi, Dalchini for Abdominal Problem in hindi, पेट से संबंधित कई तरह के रोगों में दालचीनी बहुत ही फायदेमंद होती हैin hindi, 5 ग्राम दालचीनी चूर्ण में 1 चम्मच मधु मिला लें। इसे दिन में 3 बार सेवन करें। पेट के फूलने की बीमारी दूर होती हैin hindi, दालचीनी आमाशय विकार के लिए in hindi, Dalchini Uses for Stomach Problem in hindi, दालचीनी, इलायची, और तेजपत्ता को बराबर-बराबर लेकर काढ़ा बना लेंin hindi, इसके सेवन से आमाशय की ऐंठन दूर होती हैin hindi, दालचीनी आंतों के रोग के लिएin hindi, Dalchini Treat for  Intestine Disorder in hindi, दालचीनी का तेल पेट पर मलने से आंतों का खिंचाव दूर हो जाता हैin hindi, दालचीनी चर्म रोग के लिए in hindi, Dalchini for Skin Disease in hindi, चर्म रोग को ठीक करने के लिए शहद एवं दालचीनी को मिलाकर लगाएंin hindi,  खुजली-खाज, तथा फोड़े-फुन्सी ठीक होते हैin hindi, दालचीनी टीबी में लाभदायक in hindi, Dalchini in TB Disease in hindi, : टीबी के इलाज के लिए दालचीनी से लाभ मिलता हैin hindi, टीबी मरीज को दालचीनी के तेल को थोड़ी मात्रा में पीना हैin hindi, इससे टीबी के कीटाणु खत्म हो जाते हैंin hindi, वजन कम करने के लिए in hindi, For Losing Weight in hindi, वजन कम करने में तेज पत्ते का उपयोग in hindi, आपके लिए लाभकारी हो सकता हैin hindi, तेज पत्ते और दाल चीनी के मिश्रण का उपयोग आपके पाचन तंत्र के लिए बहुत अच्छा होता हैin hindi, यह आपके शरीर में अवांछित वसा दूर करने में मदद करता है in hindi,और वजन कम करता है। नियमित रूप से इसका सेवन करने से यह महिलाओं के मासिक धर्म को नियमित करने में भी मदद करता हैin hindi, इसके साथ ही इसके इस्तेमाल से मासिक धर्म में होने वाली परेशानियां भी दूर होती हैंin hindi, चमकदार दांतों के लिए in hindi, For Bright Teeth in hindi, अगर आप चमकदार दांत चाहते हैं और महंगे टूथ पेस्ट के इस्तेमाल से थक गए हैं in hindi, तो तेज पत्ता आपको चमकदार दांत दे सकता हैin hindi, तेज पत्ते और संतरे के सूखे छिल्कों के पाउडर में पानी मिलाकर टूथपेस्ट की तरह उपयोग किया जा सकता हैin hindi, यह हमारे दांतों को सफेद और स्वस्थ बनाने में मदद करता हैin hindi, साबुत तेज पत्ते को दांत पर रगड़ने से दांत के पीलेपन से होने वाली शर्मिंदगी से भी बचा जा कसता हैin hindi, बालों का टूटना और झड़ना रोके in hindi, Prevent Hair Fall in hindi, अगर आपके बाल झड़ रहे हैं और लाखों उपाय करने के बाद भी बालों का झड़ना बंद नहीं हो रहा है in hindi, तो तेज पत्ते को पानी में उबालें in hindi, और उससे बालों को अच्छी तरह से धो लें। in hindi, हालांकि ध्यान रहे कि उससे पहले बालों को शैम्पू से धोना जरूरी है in hindi, ताकि वे अच्छे से साफ हो जाएं in hindi, यह बालों को झड़ने से रोकने में आपकी मदद करेगाin hindi, तेज पत्ता बालों की गंदगी और चिपचिपाहट को दूर करने के साथ ही कंडीशन भी करता हैin hindi, इसके उपयोग से बालों में चमक आती हैin hindi, अगर तेज पत्ता पाउडर को पीसकर दही के साथ बालों में लगाया जाए in hindi, तो इससे सिर की रूसी भी दूर हो जाती हैin hindi,सौंदर्य के लिए in hindi, For Beauty in hindi, सुंदर दिखने के लिए लोग अक्सर महंगी क्रीम से लेकर महंगे फेशियल तक, हर चीज का इस्तेमाल करते हैं in hindi, लेकिन कोई फर्क नहीं पड़ताin hindi, हालांकि तेज पत्ते का इस्तेमाल करने से खूबसूरती में फर्क दिखने लगता हैin hindi, इसे चेहरे पर लगाने से न सिर्फ दाग- धब्बे दूर होते हैं, बल्कि स्किन ग्लो भी करती हैin hindi, तेज पत्ते का पानी in hindi,  Bay leaves drink in hindi, तेज पत्ते के पानी को दिन में तीन बार पीना हैin hindi, एक बार सुबह खाली पेट, दूसरी बार दोपहर के भोजन के कुछ देर पहले और तीसरी बार डिनर करने के आधे घंटे के बादin hindi, पानी को पीने से पहले हल्का गरम जरूर करेंin hindi,
तेज पत्ता (डालचीनी) हर तरह से फायदेमंद
(Bay leaf (Dalchini) beneficial in every way in hindi) 

तेज पत्ता tej patta dalchini एक आयुर्वेदिक Ayurvedic जड़ी बूटी है। इसकी पत्तियों leaves और तेल oil का उपयोग दवा medicine बनाने के लिए किया जाता है। कैंसर और गैस के इलाज के लिए तेज पत्ते का उपयोग किया जाता है। यह पित्त प्रवाह को उत्तेजित excited करता है जो पसीने sweat का कारण बनता है। तेजपत्ता tejpatta मसाले के रुप में अति प्रचलित है। दालचीनी dalchini के रुप में इसकी छाल तथा सूखी पत्तियां गरम मसाले में प्रयोग होती है। यह एक तरह का गर्म मसाला है, जिसका उपयोग खाने में खुशबू तथा स्वाद बढ़ाने के लिए किया जाता है।

तेज पत्ते tej patta में काफी मात्रा में कॉपर copper, पोटेशियम potassium, कैल्शियम calcium, मैग्नीशियम magnesium, सेलेनियम selenium और आयरन iron पाया जाता है जो हमारे शरीर के लिए बहुत ही फायदेमंद होते हैं। अपच indigestion, गले के रोग throat diseases तथा कफ निस्सारक औषधियों का यह मुख्य अवयव है। तेज पत्ता एक ऐसी आयुर्वेदिक जड़ी बूटी है और इसमें शरीर के कई रोगों का उपचार है। सदियों से तेज पत्ता को राजा-महाराजाओं के मुकुट के अंदर लगाया जाता था ताकि वे तनाव से दूर रहें और तेज पत्ता में मौजूद एंटी इंफ्लेमेटरी anti inflammatory गुण के कारण उनके सिर में होने वाली समस्या भी दूर होती थी। इसकी पत्तियों और तेल का उपयोग गैस कम करने और जोड़ों का दर्द कम करने के लिए किया जाता है। 

तेज पत्ता tej patta में कई तरह के प्रमुख लवण जैसे कॉपर, पोटैशियम, कैल्शियम, सेलेनियम और आयरन पाए जाते हैं, जो शरीर के लिए बहुत ही फायदेमंद होते हैं। खाने में इसका इस्तेमाल इसलिए भी किया जाता है क्योंकि इससे पाचन संबंधी बीमारियां दूर होती हैं। जो लोग चाय में तेज पत्ता डालते हैं, उन्हें कब्ज, एसिडिटी और मरोड़ जैसी समस्याएं नहीं होती। तेज पत्ता खाने से शरीर में रक्त का संतुलन बना रहता है, जिससे मधुमेह की समस्या नहीं होती। तेज पत्ते में एंटीऑक्सिडेंट गुण होते हैं, जो शरीर के इंसुलिन को स्वस्थ बनाते हैं। इस प्रकार मधुमेह और इंसुलिन प्रतिरोध वाले लोगों के लिए तेज पत्ता अति लाभदायक होता है। डायबिटीज के रोगी भी तेज पत्ता इस्तेमाल कर सकते हैं क्योंकि यह रक्त ग्लूकोज, कोलेस्ट्रॉल और ट्राइग्लिसराइड के स्तर को कम करने में मदद करते हैं। पाउडर बनाकर भी तेज पत्ते का सेवन किया जा सकता है।

तेज पत्ते में दिमाग को शांत करने की क्षमता (The ability to calm the mind in bay leaves in hindi)

तेज पत्ता चिंता को दूर करें (Bay leaf relieve anxiety): तेज पत्ते में दिमाग को शांत करने की ताकत होती है, इससे स्ट्रेस दूर होता है और शांति मिलती है। तेज पत्ता जलाने के फायदे क्या हैं? इसे जलाने पर मिलने वाली गंध थकान और चिड़चिड़ाहट भी दूर करती है। इसके अलावा तेज पत्ते के धुएं से इम्यून सिस्टम भी मजबूत होता है। इम्यून सिस्टम के मजबूत होने से रोग आसानी से पनप नहीं पाते। इसके साथ ही यह भी माना जाता है कि तेज पत्ता आसपास के वातावरण में मौजूद बैक्टीरिया को खत्म करता है।

तेज पत्ता थकान दूर करें (Bay leaf relieve fatigue): तेज पत्ता कमरे में जलाने से व्यक्ति की थकान दूर हो जाती है, इसके खुशबू दिमाग को शांति देती है। इससे दिमाग की नसों को आराम मिलता है, इतना ही नहीं इसका धुंआ जब सांस के साथ शरीर के अंदर जाता है तो इम्यून सिस्टम मजबूत बनता है।

तेज पत्ता अच्छी नींद के लिए (Bay leaf for good sleep): तेज पत्ता रात को अच्छी नींद के लिए भी इस्तेमाल किया जाता है। इसके लिए तेज पत्ते के तेल की बूंदों को मिलाकर कुछ देर के लिए रख लें। उसके बाद उसे अच्छी तरह से सिर पर लगाएं। यह अच्छी नींद के लिए बहुत फायदेमंद है।

तेज पत्ता नींद-आलस भगाएं (Bay leaf remove sleeplessness): एक तेज पत्ता को पानी में कम से कम छह घंटे तक भिगोए सुबह को उठने के बाद उस पानी को पी लें। इससे काफी राहत मिलेगी और नींद का नशा उतर जाएगा।

कब्ज, एसिड और ऐंठन की दवा (Medicine for constipation, acid and cramps in hindi)

तेज पत्ता कब्ज मे लिए लाभदायक (Bay leaf beneficial for constipation): कब्ज, एसिड और ऐंठन से जुड़ी समस्या के लिए तेज पत्ता बहुत फायदेमंद होता है। इसके साथ-साथ तेज पत्ते को पीसकर उसके पाउडर में संतरे के छिलके का पाउडर मिलायें और इस मिश्रण से हफ्ते में तीन दिन ब्रश करें इससे दांतों का पीलापन कम दूर हो जाता है।

तेज पत्ता भूख को बढ़ाने के लिए (Bay leaf to increase appetite): 600 मिग्रा शुंठी चूर्ण, 400 मिग्रा इलायची, तथा 400 मिग्रा दालचीनी को पीस लें। भोजन के पहले सुबह-शाम लेने से भूख बढ़ती है।

तेज पत्ता मजबूत किडनी के लिए (Bay leaf for strong kidney): किडनी से जुड़ी कोई भी समस्या होने पर तेज पत्ते को पानी में उबालें, उबले हुए पानी को ठंडा करने के बाद पी लें। तेज पत्ता में कैंसर से लड़ने के गुण पाए जाते हैं इसमें कैफीक एसिड, क्वेरसेटिन और इयूगिनेल तत्व होते हैं जो मेटाबोलिज्म को कैंसर जैसी घातक बीमारी होने से बचाता है।

तेज पत्ता दर्द-निवारण (Bay leaf pain reliever): तेज पत्ते के तेल को दर्द होने वाली जगह पर लगाने से दर्द में आराम मिलता है।

तेज पत्ता स्वस्थ स्वास्थ्य के लिए (Bay leaf for healthy health in hindi)

तेज पत्ता गठिया के लिए (Bay leaf for arthritis): तेज पत्ते का एंटी-इन्फ्लैमटोरी गुण गठिया के दर्द से राहत दिलाने में मदद करता है। कैस्टर ऑयल और तेज पत्ते के तेल को एक साथ मिलाकर गठिया के दर्द वाली जगह पर लगाने से राहत मिलती है।

तेज पत्ता हृदय तथा रक्त वाहिकाओं संबंधी रोग के लिए (Bay leaves for heart and blood vessel diseases): दिल संबंधी परेशानियों में तेज पत्ता लाभदायक होता है इसका सेवन करने वाले को दिल का दौरा पड़ने की आशंका नही बनती है।

तेज पत्ता कोलेस्ट्रॉल स्तर को कम करता है (Bay leaf reduce Cholestrol level): कोलेस्ट्रॉल शरीर के लिए जरूरी होता है लेकिन कहते हैं न कि जरूरत से ज्यादा कोई भी चीज अच्छी नहीं होती। उसी तरह शरीर में अधिक कोलेस्ट्रॉल से कई सारी बीमारियां पैदा हो जाती है। बॉडी से हानिकारक कोलेस्ट्रॉल को हटाने के लिए तेज पत्ता सबसे अच्छी दवा होता है। बस इसके लिए तेज पत्तों के 10- 15 टुकड़े लें और उन्हें पानी में साफ करके अच्छी तरह से उबाल लें। ठंडा होने के बाद रात को सोने से पहले इनका सेवन करें। ये आपके शरीर से कोलेस्ट्रॉल के स्तर को कम करने में मदद करेगा। हालांकि यह प्रक्रिया कई दिनों तक अपनानी पड़ेगी, उसके बाद ही अच्छा परिणाम मिलेगा।

तेज पत्ता रोग निवारण के लिए (Bay leaf for disease prevention in hindi)

तेज पत्ता उल्टी को रोकने के लिए (Bay leaf to stop vomiting): दालचीनी का प्रयोग उल्टी रोकने के लिए भी किया जाता है। दालचीनी, और लौंग का काढ़ा बनाकर पीयें।

दालचीनी चर्म रोग के लिए (Cinnamon for Skin Disease): चर्म रोग को ठीक करने के लिए शहद एवं दालचीनी को मिलाकर लगाएं। खुजली-खाज, तथा फोड़े-फुन्सी ठीक होते है।

दालचीनी टीबी में लाभदायक (Cinnamon in TB Disease): टीबी के इलाज के लिए दालचीनी से लाभ मिलता है। टीबी मरीज को दालचीनी के तेल को थोड़ी मात्रा में पीना है। इससे टीबी के कीटाणु खत्म हो जाते हैं।

तेज पत्ता हिचकी की परेशानी के लिए (Bay leaf for hiccup problem): हिचकी आना बहुत ही साधारण सी बात है, लेकिन कई ऐसे भी लोग होते हैं, जिन्हें हमेशा हिचकी आने की शिकायत रहती है। ऐसे लोग दालचीनी का उपयोग कर सकते हैं। दालचीनी के 10-15 मिली काढ़ा को पिएं।

तेज पत्ता आँख, दांत, नाक की परेशानी से  रखे दूर (Bay leaf kept away from eye, teeth, nose problems in hindi)

तेज पत्ता आंखों के रोग के लिए (Bay leaf for eye disease): आँख का बार-बार फड़कना परेशानी का विषय बना जाता है। इसके लिए दालचीनी का तेल आंखों के ऊपर लगाएं। इससे आंखों का फड़कना बन्द हो जाता है, और आंखों की रोशनी भी बढ़ती है।
तेज पत्ता दांत के दर्द से आराम के लिए (Cinnamon for Dental Pain): जिन्हें दांत में दर्द की शिकायत रहती है, वे लोग दालचीनी का फायदा ले सकते हैं। दालचीनी के तेल को रूई से दांतों में लगाएं। इससे आराम मिलेगा। दालचीनी के 4-5 पत्तों को पीसकर मंजन करें। इससे दांत साफ, और चमकीले हो जाते हैं।

तेज पत्ता चमकदार दांतों के लिए (Bay leaf for shiny teeth): अगर आप चमकदार दांत चाहते हैं और महंगे टूथ पेस्ट के इस्तेमाल से थक गए हैं तो तेज पत्ता आपको चमकदार दांत दे सकता है। तेज पत्ते और संतरे के सूखे छिल्कों के पाउडर में पानी मिलाकर टूथपेस्ट की तरह उपयोग किया जा सकता है। यह हमारे दांतों को सफेद और स्वस्थ बनाने में मदद करता है। साबुत तेज पत्ते को दांत पर रगड़ने से दांत के पीलेपन से होने वाली शर्मिंदगी से भी बचा जा कसता है।
नाक की बीमारी के लिए दालचीनी (Cinnamon for nose disease): दालचीनी 5 ग्राम, लौंग 500 मिग्रा, सोंठ 3 ग्राम को एक लीटर पानी में उबाल लें। जब यह पानी 250 मिली रह जाए, तो इसे छान लें। इसको दिन में 3 बार लेने से नाक के रोग में लाभ होता है।

अब नहीं कफ, अपच, गले की परेशानी (No more phlegm, indigestion, throat problem in hindi)

जुकाम में दालचीनी (Cinnamon Uses for Common Cold): एक चैथाई चम्मच दालचीनी के चूर्ण में 1 चम्मच मधु को मिला लें। इसे दिन में तीन बार सेवन करने से खांसी, जुकाम और दस्त में फायदा होता है।

पेट फूलने पर दालचीनी का फायदा (Cinnamon benefits on flatulence): पेट से संबंधित कई तरह के रोगों में दालचीनी बहुत ही फायदेमंद होती है। 5 ग्राम दालचीनी चूर्ण में 1 चम्मच मधु मिला लें। इसे दिन में 3 बार सेवन करें। पेट के फूलने की बीमारी दूर होती है।

दालचीनी आमाशय विकार के लिए (Cinnamon Uses for Stomach Problem): दालचीनी, इलायची, और तेजपत्ता को बराबर-बराबर लेकर काढ़ा बना लें। इसके सेवन से आमाशय की ऐंठन दूर होती है।

दालचीनी आंतों के रोग के लिए (Cinnamon for intestinal diseases): दालचीनी का तेल पेट पर मलने से आंतों का खिंचाव दूर हो जाता है।

तेज पत्ता वजन कम करने के लिए (Bay leaf to lose weight)

वजन कम करने में तेज पत्ते का उपयोग आपके लिए लाभकारी हो सकता है। तेज पत्ते और दाल चीनी के मिश्रण का उपयोग आपके पाचन तंत्र के लिए बहुत अच्छा होता है। यह आपके शरीर में अवांछित वसा दूर करने में मदद करता है और वजन कम करता है। नियमित रूप से इसका सेवन करने से यह महिलाओं के मासिक धर्म को नियमित करने में भी मदद करता है। इसके साथ ही इसके इस्तेमाल से मासिक धर्म में होने वाली परेशानियां भी दूर होती हैं।

तेज पत्ता सौंदर्य बनाए (Bay leaf make beauty in hindi)

तेज पत्ता बालों का टूटना और झड़ना रोके (Bay leaves stop hair fall and fall):  अगर आपके बाल झड़ रहे हैं और लाखों उपाय करने के बाद भी बालों का झड़ना बंद नहीं हो रहा है तो तेज पत्ते को पानी में उबालें और उससे बालों को अच्छी तरह से धो लें। हालांकि ध्यान रहे कि उससे पहले बालों को शैम्पू से धोना जरूरी है ताकि वे अच्छे से साफ हो जाएं। यह बालों को झड़ने से रोकने में आपकी मदद करेगा। तेज पत्ता बालों की गंदगी और चिपचिपाहट को दूर करने के साथ ही कंडीशन भी करता है। इसके उपयोग से बालों में चमक आती है। अगर तेज पत्ता पाउडर को पीसकर दही के साथ बालों में लगाया जाए तो इससे सिर की रूसी भी दूर हो जाती है।
तेज पत्ता सौंदर्य के लिए (For Beauty): सुंदर दिखने के लिए लोग अक्सर महंगी क्रीम से लेकर महंगे फेशियल तक, हर चीज का इस्तेमाल करते हैं लेकिन कोई फर्क नहीं पड़ता। हालांकि तेज पत्ते का इस्तेमाल करने से खूबसूरती में फर्क दिखने लगता है। इसे चेहरे पर लगाने से न सिर्फ दाग- धब्बे दूर होते हैं, बल्कि स्किन ग्लो भी करती है।
तेज पत्ते का पानी (Bay leaves drink): तेज पत्ते के पानी को दिन में तीन बार पीना है। एक बार सुबह खाली पेट, दूसरी बार दोपहर के भोजन के कुछ देर पहले और तीसरी बार डिनर करने के आधे घंटे के बाद। पानी को पीने से पहले हल्का गरम जरूर करें।

अपनाएं आयुर्वेद लाइफस्टाइल
(Adopt ayurveda lifestyle in hindi)

click here » बस हर रोज खाली पेट खा लें
    click here » आओ एक कप प्याज की चाय
      click here » हल्दी, अदरक और दालचीनी युक्त चाय से फायदे
        click here » अदरक के औषधीय गुणों से कई फायदे
          click here » सर्दियों में अब नहीं कोई दिक्कत
            click here » गेहूं के ज्वार का जूस खाली पेट प्रतिदिन
              click here » नारियल तेल पिए एक चम्मच खाली पेट
                click here » नारियल पानी, काम अमृत जैसा
                  click here » जमा चर्बी से जल्द ही छुटकारा 
                    click here » प्याज करें सर्दी-जुकाम दूर
                      click here » दही के साथ भुने जीरे के अनेक फायदे
                        click here » एक सेब हर सुबह और फिर देखें फायदे
                          click here » नाशपाती खाने से कई फायदे
                            click here » अमरूद करे कई बीमारियों का काम तमाम
                              click here » आम खाने से लाजवाब फायदे
                                click here » केसर का उपयोग और फायदे
                                  click here » मूली के फायदे और नुकसान
                                    click here » लहसुन का उपयोग और इसके फायदे और नुकसान
                                      click here » खजूर से बीमारियाँ भागे दूर
                                        click here » बेलपत्र का औषधीय महत्व
                                          click here » पवित्रता की शक्ति तुलसी
                                            click here » जीवन में पीपल की उपयोगिता
                                              click here » लाभदायक गुणों से भरपूर निर्गुंडी
                                                click here » भृंगराज अति-उपयोगी
                                                  click here » पारिजात का पौराणिक महत्व
                                                    click here » पत्थरचट्टा पथरी निकालने में मददगार
                                                      click here » करौंदा- Karonda
                                                        click here » कटहल के सेवन से फायदा कम नुकसान ज्यादा न हो जाए
                                                          click here » इस समस्या से खून में प्लेटलेट्स की संख्या कम हो जाती है
                                                            click here » कीवी के औषधीय गुण
                                                              click here » तेज पत्ता (डालचीनी)
                                                                click here » एक साथ ये चीजें नहीं खानी चाहिए
                                                                  click here » स्वस्थ-स्वास्थ्य के लिए कचनार    
                                                                    click here » सहजन से बनाएं मजबूत मसल्स और हड्डियां    
                                                                      click here » सत्तू का शरबत गर्मियों में जरूर पिएं    
                                                                        click here » खाली पेट खाएं शहद में भिगोया लहसुन    
                                                                          click here » अंजीर के अनगिनत फायदे  
                                                                            click here » गुनगुने दूध में मिश्री मिलाकर पीने से फायदे  
                                                                              click here » पान के पत्ते का औषधीय फायदे   
                                                                                click here » कोरोना काल में करेला बहुत फायदेमंद  
                                                                                  click here » अनदेखी नहीं, औषधीय गुणों से भरपूर
                                                                                    click here » अब घर से बाहर होगा नकली घी
                                                                                      click here » शुगर पीड़ितों के अच्छे दिन अवश्य आते हैं