सहजन से बनाएं मजबूत मसल्स और हड्डियां- Drumstick make strong muscles and bones

Share:

 

Drumstick is the treasure of staying young in hindi, Drumstick is full of Ayurvedic properties, removes many diseases in hindi,सहजन खाने से हड्डियां होंगी मजबूत  in hindi, Bones will be strong by eating drumstick in hindi, सहजन से बनाएं मजबूत मसल्स और हड्डियां in hindi, Drumstick make strong muscles and bones in hindi,  Drumstick ke fayde in hindi, moringa ke fayde in hindi, Moringa image, Drumstick Benefits and Uses in Hindi सिर दर्द में सहजन का सेवन फायदेमंद in hindi, Use Drumstick for Headache relief in hindi  सहजन टाइफाइड में फायदेबंद in hindi, Drumstick is Beneficial in Typhoid in hindi, आंखों के रोगों के लिए in hindi, Drumstick for eye diseases in hindi,  मोटापे के लिए सहजन  in hindi, Drumstick for obesity in hindi,   कैंसर के लिए सहजन in hindi, Drumstick for cancer in hindi, मधुमेह के लिए सहजन in hindi, Drumstick for diabetes in hindi, हड्डियों के लिए सहजन in hindi, Drumstick for bones in hindi, हृदय को स्वस्थ रखने के लिए  in hindi, Drumstick for healthy heart in hindi, एनीमिया के लिए सहजन  in hindi, Drumstick for anemia in hindi, मस्तिष्क के लिए सहजन in hindi, Drumming to the brain in hindi, लिवर के लिए सहजन in hindi, Drumstick to the liver in hindi, इम्युनिटी के लिए सहजन in hindi, Drunkenness for immunity in hindi,  पेट के लिए सहजन  in hindi, Drumstick for stomach in hindi, सर्दी खांसी को रखें दूर in hindi, Keep away cold cough in hindi, सहजन के फूलों की चाय in hindi, Drumstick flower tea in hindi, यौन शक्ति बढ़ाने के लिए सहजन  in hindi, Drumming to increase sexual power in hindi, हाई ब्लड प्रेशर कंट्रोल करे  in hindi,Control high blood pressure in hindi, sakshambano in hindi, sakshambano website, sakshambano article in hindi, sakshambano pdf in hindi, sakshambano  jpeg, sakshambano sab in hindi, kaise sakshambano  in hindi, बेदाग स्किन के लिए सहजन (मोरिंगा) in hindi, Drumstick (Moringa) for unblemished skin sahjan leaf in hindi, sahjan leaf ke fayde in hindi, sahjan leaf benefits in hindi, sahjan skin ke liye hindi, Benefits Of Drumstick For Skin in hindi, Beauty Tips: Moringa Benefits For Glowing Skin in hindi, sahajan skincare brightening mask in hindi, sahajan skincare in hindi, moringa face pack in hindi, moringa face scrub in hindi, moringa and honey face mask in hindi, moringa for dark circles in hindi, moringa for weight loss in hindi, Drumstick (Moringa) for unblemished skin in hindi, Moringa make beautiful skin in hindi,

सहजन से बनाएं मजबूत मसल्स और हड्डियां

(Drumstick make strong muscles and bones)

सहजन एक प्रकार की फली है, जिसका उपयोग सब्जी के तौर पर किया जाता है। इसे अंग्रेजी में ड्रमस्टिक (Drumstick) या मोरिंगा (Moringa) कहा जाता है। इसका वानस्पतिक नाम मोरिंगा ओलिफेरा (Moringa Oleifera) है।  सहजन लम्बी फलियों वाली एक सब्जी का पेड़ है, जोकि भारत और दुनिया भर में उगाया जाता है। विज्ञान ने प्रमाणित किया है कि इस पेड़ का हर अंग स्वास्थ्य के लिए बहुत लाभदायक है। ज्यादातर लोग सहजन की फली को सब्जी व अन्य भोजन बनाने में करते हैं। सहजन की पत्तियां एवं फूल घरेलू उपचार में हर्बल मेडिसिन के रूप में इस्तेमाल किया जाता है। इसके फूलों एवं फलों को सब्जियों के रूप में उपयोग किया जाता है। सहजन का गुदा और बीज सूप, करी और सांभर में इस्तेमाल किया जाता है। सहजन का सूप इसकी पत्तियों, फूलों, गूदेदार बीजों से बनाया जाता है जोकि बहुत ही पोषण युक्त होता है और स्वास्थ्य के लिए फायदेमंद होता है।

बेदाग स्किन के लिए सहजन (मोरिंगा)

सहजन के फायदे

(Drumstick Benefits and Uses in Hindi)

सिर दर्द में सहजन का सेवन फायदेमंद (Use Drumstick for Headache relief ): सहजन की जड़ के रस में बराबर मात्रा में गुड़ मिला लें। इसे छानकर 1-1 बूंद नाक में डालने से सिर दर्द में लाभ होता है। सहजन के पत्तों के रस में काली मिर्च को पीस लें। इसे मस्तक पर लेप करने से मस्तक पीड़ा ठीक होती है। सहजन के पत्तों को पानी के साथ पीस लें। इसका लेप करने से सर्दी की वजह से होने वाला सिर का दर्द ठीक होता है।

सहजन टाइफाइड में फायदेबंद (Drumstick is Beneficial in Typhoid): सहजन की छाल को जल में घिस लें। इसकी एक दो बूंद नाक में डालने से तथा सेवन करने से मस्तिष्क या दिमागी बुखार में लाभ होता है। सहजन के 20 ग्राम ताजे जडों को 100 मि.ली. पानी में उबालें। इसे छानकर पिलाने से टॉयफॉयड खत्म हो जाता है।

आंखों के रोगों के लिए (Drumstick for eye diseases): कफ के कारण आँख से पानी बहने की समस्या में सहजन के पत्तों को पीसकर टिकिया बनाकर आंखों पर बांधने से लाभ होता है। सहजन के पत्ते के 50 मि.ली. रस में 2 चम्मच शहद मिला लें। इसे आँखों में काजल की तरह लगाने से आंखों के धुंधलेपन जैसी सभी प्रकार के आंखों की बीमारी में लाभ होता है।


सहजन खाने से हड्डियां होंगी मजबूत 

(Bones will be strong by eating drumstick)

हड्डियों के लिए सहजन (Drumstick for bones): मोरिंगा को कैल्शियम, मैग्नीशियम और फास्फोरस का अच्छा स्रोत माना गया है, जो हड्डियों के लिए जरूरी पोषक तत्व हैं। 

मोटापे के लिए सहजन (Drumstick for obesity):  सहजन में क्लोरोजेनिक एसिड (Chlorogenic Acid) मौजूद होता है, इसमें एंटी-ओबेसिटी गुण मौजूद होते हैं, जिससे मोटापे या वजन की परेशानी से लड़ने में मदद मिलती है।

कैंसर के लिए सहजन (Drumstick for cancer):  सहजन में मौजूद औषधीय गुण कैंसर जैसी खतरनाक बीमारी के जोखिम को कम करने में मदद कर सकते हैं। सहजन की छाल और सहजन की पत्तियों में एंटी-कैंसर और एंटी-ट्यूमर गुण मौजूद होते हैं। सहजन की पत्तियां पॉलीफेनोल्स और पॉलीफ्लोनोइड्स से समृद्ध होती हैं, जो एंटीऑक्सीडेंट और एंटी-कैंसर यौगिक होते हैं। इस घातक बीमारी के जोखिम को कम करने में मदद कर सकते हैं।

मधुमेह के लिए सहजन (Drumstick for diabetes): सहजन की फलियों, छाल और अन्य भागों में एंटी-डायबिटिक गुण मौजूद होते हैं, जो मधुमेह के लिए गुणकारी साबित हो सकते हैं और मधुमेह के स्तर को कम कर सकते हैं। 


सहजन आयुर्वेदिक गुणों से भरपूर, कई बीमारियों को दूर करता है

(Drumstick is full of Ayurvedic properties, removes many diseases) 

हृदय को स्वस्थ रखने के लिए (Drumstick for healthy heart): आहार में सहजन की पत्तियों को शामिल करें। सहजन की पत्तियों में उच्च मात्रा में एंटीऑक्सीडेंट पाए जाते हैं, जो शरीर में इंफ्लेमेशन के कारण होने वाली समस्याओं से राहत दिलाने में मदद करते हैं। सहजन की पत्तियों में मौजूद बीटा कैरोटीन एंटीऑक्सीडेंट के रूप में कार्य कर हृदय को स्वस्थ रखने में मदद कर सकता है।

एनीमिया के लिए सहजन (Drumstick for anemia): सहजन की पत्तियों का सेवन एनीमिया यानी लाल रक्त कोशिकाओं की कमी से बचाव के लिए भी किया जा सकता है। सहजन की पत्तियों के एथनोलिक एक्सट्रैक्ट में एंटी-एनीमिया गुण मौजूद होते हैं और इसके सेवन से हीमोग्लोबिन के स्तर में सुधार होता है।

मस्तिष्क के लिए सहजन (Drumstick for brain): सहजन मस्तिष्क को स्वस्थ रखने में भी मदद कर सकता है। यह अल्जाइमर रोगियों में यानी जिन्हें भूलने की बीमारी हो जाती है, उनमें याददाश्त तेज या सुधार करने में भी सहायक हो सकता है।

लिवर के लिए सहजन (Drumstick for liver): सहजन की फली या इसकी पत्तियों में क्वारसेटिन नामक फ्लैवनॉल होते हैं, जो हेपाटोप्रोटेक्टिव की तरह कार्य करते हैं। लिवर को किसी भी प्रकार की क्षति से बचाकर सुरक्षित रखने में मदद कर सकते हैं। 


जवां रहने का खजाना है सहजन

(Drumstick is the treasure of staying young)

इम्युनिटी के लिए सहजन (Drumstick for immunity): सहजन की फली या इसकी पत्तियों के सेवन से इम्यूनिटी में सुधार हो सकता है। इसका संतुलित मात्रा में सेवन रोग-प्रतिरोधक क्षमता में सुधार कर सकता है। ध्यान रहे कि इसे अगर जरूरत से ज्यादा खाया गया, तो इसमें इसोथियोसीयानेट और ग्लाइकोसाइड सायनाइड  नामक विषैले तत्व होते हैं, जो तनाव को बढ़ा सकते हैं।

पेट के लिए सहजन (Drumstick for stomach): सहजन या सहजन की पत्तियों का सेवन कई पेट संबंधी समस्याओं जैसे पेट दर्द और अल्सर से बचाव कर सकते हैं। इसमें एंटी-अल्सर गुण मौजूद होते है, जिस कारण इसके सेवन से अल्सर के जोखिम से बचाव हो सकता है। 

सर्दी खांसी को रखें दूर (Keep away cold cough): सर्दी-खांसी, जुकाम, वायरल इंफैक्शन जैसी समस्याएं आम देखने को मिलती है। मगर इस पाउडर का सेवन इन प्रॉब्लम को भी दूर करता है।

सहजन के फूलों की चाय (Drumstick flower tea): सहजन के फूलों की चाय न्यूट्रीशनल गुणों से भरपूर होती है। यह चाय यूरिन इन्फेक्शन, सर्दी-जुकाम ठीक करती ह। सहजन के फूल सलाद के रूप में भी खाए जाते हैं। 

यौन शक्ति बढ़ाने के लिए सहजन (Drumstick to increase sexual power): यौन रोगों को दूर कर यौन शक्ति बढ़ाने उत्तेजना पैदा करने और जननांगों की बीमारियों को दूर करने में सहजन का उपयोग किया जाता है। अच्छा यौन सुख प्राप्त करने के लिए सहजन के फलों का उपयोग किया जाता है।

हाई ब्लड प्रेशर कंट्रोल करे (Control high blood pressure):  हाई ब्लड प्रेशर के मरीजों को सहजन की पत्तियों का रस निकालकर काढ़ा बनाकर देने से लाभ मिलता है। साथ ही इसका काढ़ा पीने से घबराहट, चक्कर आना, उल्टी में भी राहत मिलती है। 


अपनाएं आयुर्वेद लाइफस्टाइल (Adopt ayurveda lifestyle in hindi)

No comments