लहसुन का उपयोग और इसके फायदे और नुकसान - Garlic advantages and disadvantages

Share:

लहसुन पाचन  के लिए उपयोगी in hindi, Garlic useful for digestion) in hindi, सर्दी-खांसी-जुकाम रोकने में भी मददगार in hindi, Also helpful in preventing cold and cough in hindi,Garlic advantages and disadvantages in hindi, Garlic for the prevention of kidney infection in hindi, Garlic to lose weight in hindi, Garlic for high blood pressure in hindi, Garlic to cholesterol in hindi, Garlic for healthy heart in hindi, Garlic for diabetes in hindi, Garlic for bones and arthritis in hindi, Garlic for liver in hindi, (Garlic for the intestines in hindi, Garlic prevents cancer in hindi, Garlic for Alzheimer's in hindi, Garlic for eyes in hindi, Garlic for the prevention of psoriasis in hindi, Garlic for wrinkles in hindi, Garlic for colds in hindi, Who should not eat garlic? in hindi,Garlic for immunity in hindi, Garlic for the prevention of kidney infection in hindi,Garlic for iron and zinc in hindi, Consuming garlic on an empty stomach in the morning gives many benefits to the body in hindi,lahsun ka upyog aur iske fayde aur nuksan hindi, lahsun ka upyog aur iske fayde aur nuksan in hindi, lahsun ka upyog aur iske fayde aur nuksan image, lahsun ka upyog aur iske fayde aur nuksan pdf in hindi, lahsun ka upyog aur iske fayde aur nuksan jpeg, lahsun ka upyog aur iske fayde aur nuksan article in hindi, gupt rog me lahsun ke fayde in hindi, lahsun ke fayde mardana taqat in hindi, benefits of garlic sexually in hindi, लहसुन का उपयोग और इसके फायदे और नुकसान hindi, Use of garlic and its advantages and disadvantages in hindi, lahsun ka upyog aur iske fayde aur nuksan hindi, lahsun ka upyog aur iske fayde aur nuksan image, lahsun ka upyog aur iske fayde aur nuksan photo, lahsun ka upyog aur iske fayde aur nuksan jpeg, lahsun ka upyog aur iske fayde aur nuksan jpg, lahsun ka upyog aur iske fayde aur nuksan pdf in hindi,  garlic ke fayde in hindi, garlic in hindi, garlic image, garlic jpg, garlic jpeg, garlic png, khali pet khaye in hindi, benefits of garlic with water in hindi, lot of benefits of garlic in hindi, benefits of garlic with water in hindi, khali khali pet lahsun khane ke nuksan in hindi, benefits of garlic lehsun in hindi, pProven Health Benefits of Garlic in hindi, Health Benefits Of Eating Garlic Empty Stomach in hindi, sakshambano ka matlab in hindi सक्षम, sakshambano in hindi, sakshambano in eglish, sakshambano meaning in hindi, sakshambano in hindi, sakshambano ka matlab in hindi, sakshambano photo, sakshambano photo in hindi, sakshambano image in hindi, sakshambano image, sakshambano jpeg, sakshambano site in hindi, sakshambano wibsite in hindi, sakshambano website, sakshambano india in hindi, sakshambano desh in hindi, sakshambano ka mission hin hindi, sakshambano ka lakshya kya hai,  sakshambano ki pahchan in hindi,  sakshambano brand in hindi,  sakshambano company in hindi,   aaj hi sakshambano, abhi se sakshambano, aaj se hi sakshambano, sakshambano se safalta, kiya hai sakshambano, aaj ji dunia sakshambano, sakshambano mantra, sakshambano ka mantra, gyan kaise prapt hota hai in hindi, Images for khali garlic, लहसुन का उपयोग और इसके फायदे और नुकसान in hindi, (Use of garlic and its advantages and disadvantages in hindi) लहसुन का इस्तेमाल आयुर्वेदिक उपचार में किया जाता था in hindi, लहसुन एंटी-ऑक्सीडेंट, एंटी-बैक्टीरियल, एंटी-फंगल और एंटी-वायरल गुणों से भरपूर होता है in hindi, इसमें एलीसीन और सल्फर यौगिक मौजूद होते हैं in hindi, साथ ही लहसुन में एजोइन और एलीन जैसे यौगिक भी मौजूद होते हैं in hindi, जो लहसुन को और ज्यादा लाभदायक औषधि बना देते हैं in hindi, इन तत्वों और यौगिकों की वजह से ही लहसुन का स्वाद कड़वा होता है in hindi, लेकिन यही घटक लहसुन को संक्रमण दूर करने की क्षमता देते हैं in hindi, आमतौर पर लहसुन का प्रयोग खाने को स्वादिष्ट बनाने के लिए किया जाता है in hindi, लहसुन औषधीय गुणों से भरपूर है जो स्वस्थ रखने में भी महत्वपूर्ण भूमिका निभाता है in hindi, सुबह खाली पेट लहसुन का सेवन शरीर को कई लाभ देता है  in hindi, लहसुन को पानी के साथ लेने पर संपूर्ण स्वास्थ्य में सुधार आता है in hindi, लहसुन का रस शरीर की गंदगी को त्वचा के रोम छिद्रों द्वारा बाहर करने में मदद करता है in hindi, जिन्हें दिल की बीमारी हो in hindi, उनके लिए लहसुन बहुत फायदेमंद होता है in hindi, यह कोलेस्ट्रॉल के स्तर को कम करके हार्ट अटैक और हार्ट ब्लॉकेज को रोकता है in hindi, यह खून में इंसुलिन के स्तर को बढ़ाता है in hindi, जिससे शरीर स्वस्थ रहता है in hindi, यह संक्रमण से लड़ने में हमारे शरीर की मदद करता है in hindi, दुनियाभर में लहसुन की 300 से भी ज्यादा किस्में हैं in hindi, 19 अप्रैल को राष्ट्रीय लहसुन दिवस मनाया जाता है in hindi, पहले और दूसरे विश्व युद्ध में लहसुन को एंटीसेप्टिक की तरह घाव के संक्रमण के लिए उपयोग किया गया था in hindi, लहसुन को सिरका और नींबू के रस के साथ मिलाकर डिसइनफेक्टेंट की तरह उपयोग किया जा सकता है in hindi, आयरन और जिंक in hindi, शरीर को स्वस्थ रखने के लिए कई प्रकार के पोषक तत्व जरूरी है और आयरन और जिंक उन्हीं में शामिल हैं in hindi, लहसुन का सेवन खाद्य पदार्थों में मौजूद आयरन और जिंक दोनों को सकारात्मक रूप से प्रभावित कर in hindi, शरीर में अवशोषण करने में मदद कर सकता है in hindi, इससे आयरन या जिंक की कमी को दूर किया जा सकता है in hindi, रोग-प्रतिरोधक क्षमता के लिए in hindi, लहसुन की कली का सेवन रोग-प्रतिरोधक क्षमता में सुधार करने में मददगार साबित होता है in hindi, लहसुन में कई तरह के यौगिक मौजूद होते हैं जो रोग-प्रतिरोधक क्षमता के लिए लाभकारी हो सकते हैं in hindi, लहसुन खाने से शरीर में कई तरह की प्रतिरक्षा कोशिकाओं की संख्या में वृद्धि होती है in hindi, किडनी संक्रमण के लिए in hindi, लहसुन किडनी संक्रमण की रोकथाम में भी मदद कर सकता है in hindi, गार्लिक पी. एरुजिनोसा एक प्रकार का बैक्टीरिया को बढ़ने से रोकने में मदद कर सकता है in hindi, जो यूटीआई और गुर्दे के संक्रमण के लिए जिम्मेदार होता है in hindi, लहसुन में मौजूद एलिसिन यौगिक किडनी की समस्या के जोखिम को कम करने में भी सहायक हो सकता है in hindi, वजन कम करने के लिए in hindi, लहसुन बढ़ते वजन को रोकने में मददगार साबित होता है in hindi, इसका एंटी-ओबेसिटी गुण डाइट के कारण मोटापे को कम करने में मदद कर सकता है in hindi, इसके अलावा लहसुन का सेवन थर्मोजेनेसिस शरीर में गर्मी उत्पादन की प्रक्रिया को बढ़ावा दे सकता in hindi, इससे फैट बर्न होने में मदद मिल सकती है in hindi, लहसुन के तेल में मौजूद एंटी-ओबेसिटी गुण हाई फैट डाइट के कारण बढ़ते वजन की समस्या पर नियंत्रण करता है in hindi, हाई ब्लड प्रेशर के लिए लहसुन in hindi, लहसुन में बायोएक्टिव सल्फर यौगिक in hindi, एस-एललिस्सीस्टीन मौजूद होता है जो ब्लड प्रेशर को कम कर सकता है। सल्फर की कमी से भी हाई ब्ल्ड प्रेशर की समस्या हो सकती है in hindi,  इसलिए शरीर को ऑर्गनोसल्फर यौगिकों वाला पूरक आहार देने से ब्लड प्रेशर को स्थिर करने में मदद मिल सकती है। in hindi, कोलेस्ट्रॉल in hindi, लहसुन कोलेस्ट्रॉल को कम करने में भी लाभकारी होता है in hindi, लहसुन के सेवन से शरीर में एलडीएल कोलेस्ट्रॉल जो कि हानिकारक कोलेस्ट्रॉल होता है in hindi, के स्तर को कम करने में मदद करता है in hindi, लहसुन में मौजूद एंटी-हाइपरलिपिडेमिया गुण टोटल कोलेस्ट्रॉल और हानिकारक  कोलेस्ट्रॉल को कम करने में मदद करता है in hindi, स्वस्थ हृदय के लिए in hindi, लहसुन में कुछ खास तरह के कार्डियो प्रोटेक्टिव गुण मौजूद होते हैं in hindi, इसके साथ ही यह कोलेस्ट्रॉल को कम कर हृदय को स्वस्थ रखने में मदद कर सकता है in hindi,   मधुमेह के लिए: मधुमेह रोगियों के लिए भी आहार में लहसुन को शामिल करना लाभकारी होता है in hindi, लहसुन का सेवन टाइप डायबिटीज के मरीजों में शुगर को नियंत्रित करने में लाभकारी होता है in hindi, मधुमेह की समस्या से परेशान व्यक्ति in hindi, लहसुन का सेवन करना चाहता है in hindi, तो उसके लिए कच्चा लहसुन लाभकारी हो सकता है in hindi, कच्चा लहसुन शुगर की मात्रा को कम करने में सहायक हो सकता हैin hindi, इसके अलावा लहसुन में मौजूद एंटी-डायबिटिक गुण भी डायबिटीज के जोखिम को कम करने में सहायक होता है in hindi, हड्डियों और गठिया के लिए in hindi, लहसुन हड्डियों के लिए भी काफी लाभकारी होता हैin hindi, कच्चा लहसुन या लहसुन युक्त दवा के सेवन से शरीर में कैल्शियम अवशोषण में मदद मिल सकती है in hindi, जिससे ऑस्टियोपोरोसिस हड्डियों के कमजोर होने की बीमारी की समस्या में राहत मिल सकती है in hindi, लहसुन में मौजूद सल्फर यौगिक में एंटी-इन्फ्लेमेटरी और एंटी-अर्थराइटिक गुण मौजूद होता ह in hindi, जिससे गठिया का जोखिम कम होता है in hindi, लिवर के लिए in hindi, लहसुन में पाए जाने वाले एस-एलील्मर कैप्टोसाइटिस्टीन एक प्रकार का यौगिक नॉन अल्कोहलिक फैटी लिवर के उपचार में सहायक हो सकता है in hindi, और लिवर को किसी प्रकार के चोट से बचाव करने में भी मदद कर सकता है in hindi, लहसुन का तेल एंटीऑक्सीडेटिव गुणों से भरपूर होता है in hindi,जो  लिवर के सूजन के लिए लाभकारी हो सकता है in hindi, आंतो के लिए in hindi, लहसुन का सेवन पेट और आंतो के लिए भी लाभकारी हो सकता है in hindi, लहसुन का उपयोग छोटी आंत की क्षति से बचाव में सहायक हो सकता है in hindi, इसका एंटीमाइक्रोबायल गुण आंतों के लाभकारी माइक्रोफ्लोरा और हानिकारक एंटरोबैक्टीरिया के बीच अंतर कर in hindi, हानिकारक बैक्टीरिया को बनने से रोकने में मदद कर सकता है in hindi, कैंसर से बचाता है in hindi, लहसुन कैंसर के जोखिम को कम करने में भी मदद कर सकता है in hindi, इसमें मौजूद एंटी-कैंसर गुण के कारण कैंसर से बचाव कर सकता है in hindi, अल्जाइमर के लिए  in hindi, अल्जाइमर मस्तिष्क से संबंधित एक समस्या जिसमें लोगों को भूलने की बीमारी हो जाती है in hindi, यह डिम्नेशिया मस्तिष्क संबंधी समस्याओं के लक्षणों का समूह का एक प्रकार है in hindi, ऐसे में एंटीऑक्सीडेंट गुणों से भरपूर लहसुन का सेवन से बचाव कर सकता है in hindi, बल्कि अल्जाइमर और डिम्नेशिया से भी बचाव करने में भी मदद कर सकता है in hindi, आंखों के लिए लहसुन in hindi, लहसुन का सेवन आंखों को स्वस्थ रखने में भी सहायक हो सकता है in hindi, एकैंथअमीबा एक प्रकार का अमीबा आंखों के संक्रमण, खासकर केरेटाइटिस आंख के सामने का पारदर्शी हिस्सा कॉर्निया in hindi, जब इसमें सूजन हो जाती है तो यह कारण बन सकता है। लहसुन में अमीबिसाइडल अमीबा को खत्म करने वाला गुण पाया जाता है in hindi, जो इस अमीबा से बचाव कर आंखों को इससे होने वाले संक्रमण के जोखिम को कुछ हद तक कम कर सकता है in hindi, सोरायसिस की रोकथाम के लिए in hindi, सोरायसिस एक प्रकार का त्वचा रोग है जिसमें खुजली होने लगती है in hindi, और त्वचा लाल हो जाती है। यह बीमारी ज्यादातर सिर की त्वचा, कोहनी और घुटनों को प्रभावित करती है in hindi, इस बीमारी का प्रभाव लहसुन के सेवन से कम किया जा सकता है in hindi, झुर्रियों के लिए लहसुन in hindi, लहसुन में एस-एलिल सिस्टीन एक प्रकार का यौगिक पाया जाता है in hindi, जो त्वचा को सूर्य की हानिकारक किरणों की वजह से होने वाली झुर्रियों से बचाने में मदद कर सकता है in hindi, सर्दी-जुकाम: एलिसिन युक्त सप्लीमेंट के सेवन से सर्दी जुकाम की समस्या का जोखिम कम हो सकता है in hindi, लहसुन के अर्क की एक उच्च खुराक से रोग प्रतिरोधक क्षमता में सुधार हो सकता है in hindi, जिससे सर्दी-जुकाम या बुखार का जोखिम कम हो सकता है in hindi, लहसुन किसे नहीं खाना चाहिए? in hindi, ऐसे व्यक्ति जिनको पेट से जुड़ी कोई परेशानी है in hindi, तो वो कच्चे लहसुन का सेवन करने से बचे in hindi, अगर कोई खून को पतला करने की दवाई ले रहा है in hindi, तो वो लहसुन का सेवन न करें in hindi, लिवर के लिए लहसुन लाभकारी है in hindi, लेकिन अगर किसी को लिवर की गंभीर समस्या है in hindi, तो इसके सेवन से पहले डॉक्टरी परामर्श लें in hindi, लहसुन के अत्यधिक सेवन से लिवर को क्षति भी हो सकती है। जिनको माइग्रेन की समस्या है, वो लहसुन का सेवन न करें, क्योंकि हो सकता है in hindi, कि इसकी गंध से समस्या और बढ़ जाए in hindi, जिनको लो ब्लड प्रेशर की शिकायत है, वो लहसुन का सेवन डॉक्टरी सलाह पर ही करें in hindi, लहसुन हाई ब्लड प्रेशर के लिए लाभकारी होता है in hindi, ऐसे में लो ब्लड प्रेशर में यह नुकसानदायक हो सकता है in hindi,  क्यों सक्षमबनो इन हिन्दी में, क्यों सक्षमबनो अच्छा लगता है इन हिन्दी में?, कैसे सक्षमबनो इन हिन्दी में? सक्षमबनो ब्रांड से कैसे संपर्क करें इन हिन्दी में, सक्षमबनो हिन्दी में, सक्षमबनो इन हिन्दी में, सब सक्षमबनो हिन्दी में,अपने को सक्षमबनो हिन्दीं में, सक्षमबनो कर्तव्य हिन्दी में, सक्षमबनो भारत हिन्दी में, सक्षमबनो देश के लिए हिन्दी में,खुद सक्षमबनो हिन्दी में, पहले खुद सक्षमबनो हिन्दी में, एक कदम सक्षमबनो के ओर हिन्दी में, आज से ही सक्षमबनो हिन्दी हिन्दी में,सक्षमबनो के उपाय हिन्दी में, अपनों को भी सक्षमबनो का रास्ता दिखाओं हिन्दी में, सक्षमबनो का ज्ञान पाप्त करों हिन्दी में,सक्षमबनो-सक्षमबनो हिन्दी में, सक्षमबनो इन हिन्दी में, सक्षमबनो इन हिन्दी में,
लहसुन का उपयोग और इसके फायदे और नुकसान
(Use of garlic and its advantages and disadvantages in hindi)

लहसुन का इस्तेमाल आयुर्वेदिक उपचार में किया जाता था। लहसुन एंटी-ऑक्सीडेंट, एंटी-बैक्टीरियल, एंटी-फंगल और एंटी-वायरल गुणों से भरपूर होता है। इसमें एलीसीन और सल्फर यौगिक मौजूद होते हैं। साथ ही लहसुन में एजोइन और एलीन जैसे यौगिक भी मौजूद होते हैं जो लहसुन को और ज्यादा लाभदायक औषधि बना देते हैं। इन तत्वों और यौगिकों की वजह से ही लहसुन का स्वाद कड़वा होता है, लेकिन यही घटक लहसुन को संक्रमण दूर करने की क्षमता देते हैं। आमतौर पर लहसुन का प्रयोग खाने को स्वादिष्ट बनाने के लिए किया जाता है। लहसुन औषधीय गुणों से भरपूर है जो स्वस्थ रखने में भी महत्वपूर्ण भूमिका निभाता है।

लहसुन के औषधीय गुण
(Medicinal Properties of Garlic)

सुबह खाली पेट लहसुन का सेवन शरीर को कई लाभ देता है  (Consuming garlic on an empty stomach in the morning gives many benefits to the body) : लहसुन को पानी के साथ लेने पर संपूर्ण स्वास्थ्य में सुधार आता है। लहसुन का रस शरीर की गंदगी को त्वचा के रोम छिद्रों द्वारा बाहर करने में मदद करता है। जिन्हें दिल की बीमारी हो, उनके लिए लहसुन बहुत फायदेमंद होता है। यह कोलेस्ट्रॉल के स्तर को कम करके हार्ट अटैक और हार्ट ब्लॉकेज को रोकता है। 

इंसुलिन के स्तर को बढ़ाता है (Increases insulin levels) : यह खून में इंसुलिन के स्तर को बढ़ाता है जिससे शरीर स्वस्थ रहता है। यह संक्रमण से लड़ने में हमारे शरीर की मदद करता है। दुनियाभर में लहसुन की 300 से भी ज्यादा किस्में हैं। 19 अप्रैल को राष्ट्रीय लहसुन दिवस मनाया जाता है। पहले और दूसरे विश्व युद्ध में लहसुन को एंटीसेप्टिक की तरह घाव के संक्रमण के लिए उपयोग किया गया था। लहसुन को सिरका और नींबू के रस के साथ मिलाकर डिसइनफेक्टेंट की तरह उपयोग किया जा सकता है।

आयरन और जिंक के लिए लहसुन (Garlic for iron and zinc) : शरीर को स्वस्थ रखने के लिए कई प्रकार के पोषक तत्व जरूरी है और आयरन और जिंक उन्हीं में शामिल हैं। लहसुन का सेवन खाद्य पदार्थों में मौजूद आयरन और जिंक दोनों को सकारात्मक रूप से प्रभावित कर शरीर में अवशोषण करने में मदद कर सकता है। इससे आयरन या जिंक की कमी को दूर किया जा सकता है।

लहसुन रोग-प्रतिरोधक क्षमता के लिए (Garlic for immunity) : लहसुन की कली का सेवन रोग-प्रतिरोधक क्षमता में सुधार करने में मददगार साबित होता है। लहसुन में कई तरह के यौगिक मौजूद होते हैं जो रोग-प्रतिरोधक क्षमता के लिए लाभकारी हो सकते हैं। लहसुन खाने से शरीर में कई तरह की प्रतिरक्षा कोशिकाओं की संख्या में वृद्धि होती है।

लहसुन किडनी संक्रमण की रोकथाम के लिए (Garlic for the prevention of kidney infection) : लहसुन किडनी संक्रमण की रोकथाम में भी मदद कर सकता है। गार्लिक पी. एरुजिनोसा एक प्रकार का बैक्टीरिया को बढ़ने से रोकने में मदद कर सकता है जो यूटीआई और गुर्दे के संक्रमण के लिए जिम्मेदार होता है। लहसुन में मौजूद एलिसिन यौगिक किडनी की समस्या के जोखिम को कम करने में भी सहायक हो सकता है।

सर्दी-खांसी-जुकाम रोकने में भी मददगार
(Also helpful in preventing cold and cough)

सर्दी-खांसी-जुकाम के लिए (For a cold and cough) : लहसुन में एंटीबायोटिक, एंटीवायरल और एंटीफंगल गुण पाए जाते हैं। यह हमारे शरीर को फ्लू के कारण होने वाली सर्दी-खांसी-जुकाम से बचाए रखने में मदद करता है। लहसुन हो हल्का भून कर भी खा सकते हैं।

लहसुन वजन कम करने के लिए (Garlic to lose weight) : लहसुन बढ़ते वजन को रोकने में मददगार साबित होता है। इसका एंटी-ओबेसिटी गुण डाइट के कारण मोटापे को कम करने में मदद कर सकता है इसके अलावा लहसुन का सेवन थर्मोजेनेसिस शरीर में गर्मी उत्पादन की प्रक्रिया को बढ़ावा दे सकता इससे फैट बर्न होने में मदद मिल सकती है। लहसुन के तेल में मौजूद एंटी-ओबेसिटी गुण हाई फैट डाइट के कारण बढ़ते वजन की समस्या पर नियंत्रण करता है।

लहसुन हाई ब्लड प्रेशर के लिए (Garlic for high blood pressure) : लहसुन में बायोएक्टिव सल्फर यौगिक, एस-एललिस्सीस्टीन मौजूद होता है जो ब्लड प्रेशर को कम कर सकता है। सल्फर की कमी से भी हाई ब्ल्ड प्रेशर की समस्या हो सकती है  इसलिए शरीर को ऑर्गनोसल्फर यौगिकों वाला पूरक आहार देने से ब्लड प्रेशर को स्थिर करने में मदद मिल सकती है।

लहसुन कोलेस्ट्रॉल के लिए (Garlic to cholesterol) : लहसुन कोलेस्ट्रॉल को कम करने में भी लाभकारी होता है। लहसुन के सेवन से शरीर में एलडीएल कोलेस्ट्रॉल जो कि हानिकारक कोलेस्ट्रॉल होता है के स्तर को कम करने में मदद करता है। लहसुन में मौजूद एंटी-हाइपरलिपिडेमिया गुण टोटल कोलेस्ट्रॉल और हानिकारक  कोलेस्ट्रॉल को कम करने में मदद करता है।

लहसुन स्वस्थ हृदय के लिए (Garlic for healthy heart) : लहसुन में कुछ खास तरह के कार्डियो प्रोटेक्टिव गुण मौजूद होते हैं। इसके साथ ही यह कोलेस्ट्रॉल को कम कर हृदय को स्वस्थ रखने में मदद कर सकता है। 

लहसुन मधुमेह के लिए (Garlic for diabetes) : मधुमेह रोगियों के लिए भी आहार में लहसुन को शामिल करना लाभकारी होता है। लहसुन का सेवन टाइप डायबिटीज के मरीजों में शुगर को नियंत्रित करने में लाभकारी होता है। मधुमेह की समस्या से परेशान व्यक्ति लहसुन का सेवन करना चाहता है तो उसके लिए कच्चा लहसुन लाभकारी हो सकता है। कच्चा लहसुन शुगर की मात्रा को कम करने में सहायक हो सकता है। इसके अलावा लहसुन में मौजूद एंटी-डायबिटिक गुण भी डायबिटीज के जोखिम को कम करने में सहायक होता है। 

लहसुन हड्डियों और गठिया के लिए (Garlic for bones and arthritis) : लहसुन हड्डियों के लिए भी काफी लाभकारी होता है। कच्चा लहसुन या लहसुन युक्त दवा के सेवन से शरीर में कैल्शियम अवशोषण में मदद मिल सकती है, जिससे ऑस्टियोपोरोसिस हड्डियों के कमजोर होने की बीमारी की समस्या में राहत मिल सकती है। लहसुन में मौजूद सल्फर यौगिक में एंटी-इन्फ्लेमेटरी और एंटी-अर्थराइटिक गुण मौजूद होता है, जिससे गठिया का जोखिम कम होता है।

लहसुन पाचन  के लिए उपयोगी
(Garlic useful for digestion)

लहसुन लिवर के लिए (Garlic for liver) : लहसुन में पाए जाने वाले एस-एलील्मर कैप्टोसाइटिस्टीन एक प्रकार का यौगिक नॉन अल्कोहलिक फैटी लिवर के उपचार में सहायक हो सकता है और लिवर को किसी प्रकार के चोट से बचाव करने में भी मदद कर सकता है। लहसुन का तेल एंटीऑक्सीडेटिव गुणों से भरपूर होता है जो लिवर के सूजन के लिए लाभकारी हो सकता है। 

लहसुन आंतों के लिए के लिए (Garlic for the intestines) : लहसुन का सेवन पेट और आंतो के लिए भी लाभकारी हो सकता है। लहसुन का उपयोग छोटी आंत की क्षति से बचाव में सहायक हो सकता है। इसका एंटीमाइक्रोबायल गुण आंतों के लाभकारी माइक्रोफ्लोरा और हानिकारक एंटरोबैक्टीरिया के बीच अंतर कर हानिकारक बैक्टीरिया को बनने से रोकने में मदद कर सकता है। 

लहसुन कैंसर से बचाता है (Garlic prevents cancer) : लहसुन कैंसर के जोखिम को कम करने में भी मदद कर सकता है। इसमें मौजूद एंटी-कैंसर गुण के कारण कैंसर से बचाव कर सकता है।

लहसुन अल्जाइमर के लिए (Garlic for Alzheimer's) : अल्जाइमर मस्तिष्क से संबंधित एक समस्या जिसमें लोगों को भूलने की बीमारी हो जाती है। यह डिम्नेशिया मस्तिष्क संबंधी समस्याओं के लक्षणों का समूह का एक प्रकार है। ऐसे में एंटीऑक्सीडेंट गुणों से भरपूर लहसुन का सेवन से बचाव कर सकता है, बल्कि अल्जाइमर और डिम्नेशिया से भी बचाव करने में भी मदद कर सकता है।


लहसुन खाने से बीमारियां भागे दूर
(Diseases ran away from eating garlic)

लहसुन आंखों के लिए (Garlic for eyes) : लहसुन का सेवन आंखों को स्वस्थ रखने में भी सहायक हो सकता है। एकैंथअमीबा एक प्रकार का अमीबा आंखों के संक्रमण, खासकर केरेटाइटिस आंख के सामने का पारदर्शी हिस्सा कॉर्निया, जब इसमें सूजन हो जाती है तो यह कारण बन सकता है। लहसुन में अमीबिसाइडल अमीबा को खत्म करने वाला गुण पाया जाता है जो इस अमीबा से बचाव कर आंखों को इससे होने वाले संक्रमण के जोखिम को कुछ हद तक कम कर सकता है। 

लहसुन सोरायसिस की रोकथाम के लिए (Garlic for the prevention of psoriasis) : सोरायसिस एक प्रकार का त्वचा रोग है जिसमें खुजली होने लगती है और त्वचा लाल हो जाती है। यह बीमारी ज्यादातर सिर की त्वचा, कोहनी और घुटनों को प्रभावित करती है। इस बीमारी का प्रभाव लहसुन के सेवन से कम किया जा सकता है।

लहसुन झुर्रियों के लिए (Garlic for wrinkles) : लहसुन में एस-एलिल सिस्टीन एक प्रकार का यौगिक पाया जाता है जो त्वचा को सूर्य की हानिकारक किरणों की वजह से होने वाली झुर्रियों से बचाने में मदद कर सकता है।

लहसुन सर्दी-जुकाम के लिए (Garlic for colds) : एलिसिन युक्त सप्लीमेंट के सेवन से सर्दी जुकाम की समस्या का जोखिम कम हो सकता है। लहसुन के अर्क की एक उच्च खुराक से रोग प्रतिरोधक क्षमता में सुधार हो सकता है, जिससे सर्दी-जुकाम या बुखार का जोखिम कम हो सकता है। 

लहसुन किसे नहीं खाना चाहिए? (Who should not eat garlic?) : ऐसे व्यक्ति जिनको पेट से जुड़ी कोई परेशानी है, तो वो कच्चे लहसुन का सेवन करने से बचे। अगर कोई खून को पतला करने की दवाई ले रहा है, तो वो लहसुन का सेवन न करें। लिवर के लिए लहसुन लाभकारी है, लेकिन अगर किसी को लिवर की गंभीर समस्या है तो इसके सेवन से पहले डॉक्टरी परामर्श लें। 

लहसुन के अत्यधिक सेवन से लिवर को क्षति भी हो सकती है। जिनको माइग्रेन की समस्या है, वो लहसुन का सेवन न करें, क्योंकि हो सकता है कि इसकी गंध से समस्या और बढ़ जाए। जिनको लो ब्लड प्रेशर की शिकायत है, वो लहसुन का सेवन डॉक्टरी सलाह पर ही करें। लहसुन हाई ब्लड प्रेशर के लिए लाभकारी होता है। ऐसे में लो ब्लड प्रेशर में यह नुकसानदायक हो सकता है। 

स्वस्थ स्वास्थ्य के लिए विटामिन जरूरी हैं

     

    No comments