कटहल के सेवन से फायदा कम नुकसान ज्यादा न हो जाए- Jackfruit advantages & disadvantages

Share:


एनीमिया के रोकथाम के लिए कटहल in hindi, Jackfruit for prevention of anemia in hindi, कटहल खाने से अनगिनत फायदे  in hindi, There are countless benefits from eating jackfruit in hindi, स्वास्थ्य के लिए कटहल बेहद अहम in hindi, Jackfruit is very important for health in hindi, कटहल खाने से पहले जानकारी in hindi, Knowledge before eating jackfruit in hindi, Jackfruit consumption can also be harmful to many people's health in hindi,katahal ke sevan se fayda kam nuksan jyada na ho jae in hindi,कटहल के सेवन से फायदा कम नुकसान ज्यादा न हो जाए hindi,  Jackfruit advantages & disadvantages in hindi, kathal ke fayde in hindi, kathal ke barein mein in hindi, kathal ke nuksan in hindi, jackfruit in hindi, jackfruit in hindi recipe in hindi, kathal ki sabji in hindi, कटहल का सेवन कई लोगों के स्वास्थ्य के लिए भी हानिकारक हो सकता है in hindi, (Jackfruit consumption can also be harmful to many people's health in hindi,) इसके साथ कई चीजों के साथ इसका कॉम्बिनेशन करना खतरनाक हो सकता है in hindi, कटहल कई औषधीय गुणों से भरपूर है in hindi, कटहल का वानस्पतिक नाम आर्टोकार्पस हेटेरोफिल्लस है in hindi, कटहल में कई पौष्टिक तत्व पाए जाते हैं in hindi, जैसे विटामिन ए, बी, थाइमिन, पोटैशियम, कैल्शियम, राइबोफ्लेविन, आयरन, नियासिन और जिंक. इसमें खूब सारा फाइबर भी पाया जाता है in hindi, दूध  का सेवन in hindi, खाना खाने के बाद या पहले दूध का सेवन जरूर करते हैं in hindi, अगर आपने कटहल खाने के एक घंटा पहले दूध का सेवन किया हो तो इसका सेवन न करें in hindi, क्योंकि दूध और कटहल एक साथ मिलकर रिएक्शन करते हैं in hindi, जिससे स्किन संबंधी कई समस्याओं का सामना करना पड़ सकता है in hindi, दाद, खाज, खुजली, एग्जीमा, सोरायसिस जैसी समस्या हो सकती है in hindi, पका कटहल in hindi, पका कटहल कटहल कफवर्धन होता है in hindi, ऐसे में अगर पका हुआ कटहल का ज्यादा सेवन कर लिया तो आपको पेट फूलने के अलावा खांसी, सर्दी-जुकाम की समस्या हो सकती हैं in hindi, प्रेग्नेंसी in hindi, कटहल में अघुलनशील फाइबर पाया जाता है in hindi, जो मां और होने वाले बच्चे के लिए खतरनाक हो सकता हैं in hindi, क्यों कि यह जल्दी घुलता नहीं है। प्रेग्नेंसी या फिर जो  महिलाएं बच्चे को दूध पिलाती हैं in hindi, वो कटहल का सेवन न करें in hindi, पित्त की समस्या in hindi, जिन लोगों को पित्त अधिकता की समस्या हैं in hindi, वह लोग तो बिल्कुल भी कटहल का सेवन न करें in hindi, अगर सेवन कर लिया हैं तो खाकर कुछ देर आराम जरूर करें in hindi, कटहल के फायदे in hindi, (Benefits of Jackfruit in hindi) दिल को रखे सेहतमंद in hindi, कटहल में कैलोरी नहीं होती है in hindi, यह दिल के रोगियों के लिये उपयोगी माना जाता है in hindi, कटहल में पोटैशियम पाया जाता है in hindi, जो कि दिल की हर समस्या को दूर करता है क्योंकि यह ब्लड प्रेशर को कम कर देता है in hindi, पाचन in hindi, कटहल फाइबर का अच्छा स्रोत है जो पाचन में मुख्य भूमिका निभाता है in hindi, फाइबर आंतों की कोशिकाओं को स्वस्थ रखने का काम करता है in hindi, फाइबर डाइजेस्टिक ट्रैक में सुधार कर पाचन क्रिया को बढ़ावा देता है in hindi, फाइबर युक्त खाद्य पदार्थ पेट संबंधी समस्याओं जैसे कब्ज, डायरिया व गैस आदि को ठीक करते हैं in hindi, वजन कम करने के लिए in hindi, मोटापा स्वास्थ्य के लिए हानिकारक हो सकता है in hindi, क्योंकि यह हृदय संबंधी बीमारियों, मधुमेह व कैंसर आदि का कारण बन सकता है in hindi, कटहल विटामिन-सी से समृद्ध होता है in hindi, इसलिए यह मोटापे को कम करने में मदद करता है in hindi, कटहल में मौजूद एंटीइंफ्लेमेटरी गुण मोटापे को रोकने में महत्वपूर्ण भूमिका निभाते है in hindi, कटहल रेसवेरेट्रॉल नामक एंटीऑक्सीडेंट का अच्छा स्रोत है in hindi, जो वजन, बीएमआई और फैट मास को कम करने में मदद करता है in hindi, हड्डी के लिए in hindi, हड्डियों की मजबूती के लिए कटहल के गुण बेहद अहम हैं in hindi, कटहल में कैल्शियम पाया जाता है in hindi, जो हड्डियों की मजबूती और विकास के लिए जरूर तत्व है। शरीर कैल्शियम नहीं बनाता है in hindi, कैंसर in hindi, कैंसर जैसी घातक बीमारी से बचने के लिए भी कटहल का सेवन किया जा सकता है in hindi, कटहल लिग्नांस, आइसोफ्लेवोंस और सैपोनिन जैसे फाइटोन्यूट्रिएंट्स से समृद्ध होता है in hindi, जो कैंसर से लड़ने का काम करते हैं in hindi, कटहल में मौजूद एंटीऑक्सीडेंट गुण मुक्त कणों को बेअसर करते हैं और कैंसर को भी रोकते हैं in hindi, कटहल विटामिन-सी का भी अच्छा स्रोत है in hindi, और विटामिन-सी कैंसर को रोकने में एक अहम भूमिका निभाता है in hindi, रोग प्रतिरोधक क्षमता in hindi, शरीर की प्रतिरक्षा प्रणाली के लिए कटहल के फायदे बहुत हैं in hindi, कटहल में विटामिन-सी होता है in hindi,जो शरीर में रोग प्रतिरोधक क्षमता को मजबूत करने का काम करता है in hindi, विटामिन-सी कारगर एंटीऑक्सीडेंट के रूप में कार्य कर इम्यून सिस्टम को स्वस्थ रखता है और शरीर को रोगों से दूर रखने में मदद करता है in hindi, पाचन संबंधी समस्याँ दूर करता है in hindi, कटहल अल्सर और पाचन संबंधी समस्यों को दूर करता है in hindi, कब्ज की समस्याँ को दूर करने में भी यह बहुत फायदेमंद है in hindi, कटहल की पत्तियों की राख अल्सर के इलाज के लिए बहुत उपयोगी होती है in hindi, हरी ताजा पत्तियों को साफ धोकर सुखा लें। सूखने के बाद पत्तियों का चूरन तैयार करें पेट के अल्सर से ग्रस्त व्यक्ति को इस चूरन को खिलाएं in hindi, जोड़ों के दर्द के लिए: कटहल के छिलकों से निकलने वाला दूध अगर सूजन, घाव और कटे-फटे अंगों पर लगाया जाए in hindi, तो आराम मिलता है in hindi, इसी दूध से जोड़ों पर मालिश की जाए तो जोड़ों के दर्द से राहत मिलती है in hindi, मुंह के छालों के लिए in hindi, मुंह में बार-बार छाले होने की शिकायत हो, उन्हें कटहल की कच्ची पत्तियों को चबाकर थूकना चाहिए in hindi, यह छालों को ठीक कर देता है इसमें पाए जाने वाले कई खनिज हार्मोन्स को भी नियंत्रित करते हैं in hindi, आंखों की रोशनी के लिए in hindi, पके हुए कटहल के पल्प को अच्छी तरह से मैश करके पानी में उबालकर पीने से ताजगी आती है in hindi, कटहल में विटामिन ए पाया जाता है जिससे आंखों की रोशनी बढ़ती है in hindi, एनीमिया in hindi,एनीमिया जैसी बीमारी के लिए भी कटहल के बहुत उपयोगी होता है। रक्त में लाल कोशिकाओं की कमी के कारण होती है in hindi, एनीमिया के रोकथाम के लिए कटहल का सेवन किया जा सकता है, क्योंकि यह आयरन का अच्छा स्रोत है और आयरन लाल रक्त कोशिकाओं के विकास में मदद करता है in hindi, इसके अलावा, कटहल में विटामिन-बी6 की भी अधिकता होती है in hindi, यह पोषक तत्व भी लाल रक्त कोशिकाओं का विकास करता है in hindi, रक्त संचालन in hindi, कटहल पोटैशियम और सोडियम से समृद्ध होता है जिस कारण यह रक्तचाप के लिए फायदेमंद हो सकता है। यह रक्त वाहिकाओं को आराम पहुंचाने और उचित रक्तचाप बनाए रखने में मदद करता है in hindi, मधुमेह in hindi, कटहल विटामिन-बी से समृद्ध होता है in hindi, जो मधुमेह रोगियों के लिए इंसुलिन में सुधार कर सकता है in hindi, कच्चा कटहल प्रीडायबिटीज के लक्षणों को उलटने का काम कर सकता है। मधुमेह के लिए कटहल उपयोगी होता है in hindi, थायराइड in hindi, कटहल कॉपर का एक अच्छा स्रोत है जो थायराइड मेटाबॉलिज्म को बनाने में मदद करता है in hindi, कॉपर थायराइड विकारों के लिए भी फायदेमंद होता है in hindi, kathal ki image, kathal ki  jpeg, kathal ki jpg, kathal ki tiff, kathal ki photo, sakshambano in hindi, sakshambano in eglish, sakshambano meaning in hindi, sakshambano ka matlab in hindi, sakshambano photo, sakshambano photo in hindi, sakshambano image in hindi, sakshambano image, sakshambano jpeg, सक्षमबनो इन हिन्दी में in hindi, सब सक्षमबनो हिन्दी में, पहले खुद सक्षमबनो हिन्दी में, एक कदम सक्षमबनो के ओर हिन्दी में, आज से ही सक्षमबनो हिन्दी हिन्दी में, सक्षमबनो के उपाय हिन्दी में, अपनों को भी सक्षमबनो का रास्ता दिखाओं हिन्दी में, सक्षमबनो का ज्ञान पाप्त करों हिन्दी में, aaj hi sakshambano in hindi, abhi se sakshambano in hindi,

कटहल के सेवन से फायदा कम नुकसान ज्यादा न हो जाए
  (Jackfruit advantages & disadvantages in hindi)

कटहल का सेवन कई लोगों के स्वास्थ्य के लिए भी हानिकारक हो सकता है। (Jackfruit consumption can also be harmful to many people's health) इसके साथ कई चीजों के साथ इसका कॉम्बिनेशन करना खतरनाक हो सकता है। कटहल कई औषधीय गुणों से भरपूर है कटहल का वानस्पतिक नाम आर्टोकार्पस हेटेरोफिल्लस है। कटहल में कई पौष्टिक तत्व पाए जाते हैं जैसे विटामिन ए, बी, थाइमिन, पोटैशियम, कैल्शियम, राइबोफ्लेविन, आयरन, नियासिन और जिंक. इसमें खूब सारा फाइबर भी पाया जाता है।

कटहल खाने से पहले जानकारी
(Knowledge before eating jackfruit)

दूध  का सेवन (Milk intake) : खाना खाने के बाद या पहले दूध का सेवन जरूर करते हैं। अगर आपने कटहल खाने के एक घंटा पहले दूध का सेवन किया हो तो इसका सेवन न करें। क्योंकि दूध और कटहल एक साथ मिलकर रिएक्शन करते हैं जिससे स्किन संबंधी कई समस्याओं का सामना करना पड़ सकता है। दाद, खाज, खुजली, एग्जीमा, सोरायसिस जैसी समस्या हो सकती है।

पका कटहल (Ripe jackfruit) :  पका कटहल कटहल कफवर्धन होता है। ऐसे में अगर पका हुआ कटहल का ज्यादा सेवन कर लिया तो आपको पेट फूलने के अलावा खांसी, सर्दी-जुकाम की समस्या हो सकती हैं। 

प्रेग्नेंसी (Pregnancy) : कटहल में अघुलनशील फाइबर पाया जाता है जो मां और होने वाले बच्चे के लिए खतरनाक हो सकता हैं क्यों कि यह जल्दी घुलता नहीं है। प्रेग्नेंसी या फिर जो  महिलाएं बच्चे को दूध पिलाती हैं वो कटहल का सेवन न करें। 

पित्त की समस्या (Bile problem) : जिन लोगों को पित्त अधिकता की समस्या हैं वह लोग तो बिल्कुल भी कटहल का सेवन न करें। अगर सेवन कर लिया हैं तो खाकर कुछ देर आराम जरूर करें।

कटहल के फायदे 
(Benefits of Jackfruit in hindi)

कटहल दिल को रखें सेहतमंद (Keep your heart healthy) : कटहल में कैलोरी नहीं होती है यह दिल के रोगियों के लिये उपयोगी माना जाता है। कटहल में पोटैशियम पाया जाता है जो कि दिल की हर समस्या को दूर करता है क्योंकि यह ब्लड प्रेशर को कम कर देता है।

कटहल पाचन के लिए (Digestion) : कटहल फाइबर का अच्छा स्रोत है जो पाचन में मुख्य भूमिका निभाता है। फाइबर आंतों की कोशिकाओं को स्वस्थ रखने का काम करता है। फाइबर डाइजेस्टिक ट्रैक में सुधार कर पाचन क्रिया को बढ़ावा देता है। फाइबर युक्त खाद्य पदार्थ पेट संबंधी समस्याओं जैसे कब्ज, डायरिया व गैस आदि को ठीक करते हैं।

कटहल वजन कम करने के लिए (To lose weight) : मोटापा स्वास्थ्य के लिए हानिकारक हो सकता है क्योंकि यह हृदय संबंधी बीमारियों, मधुमेह व कैंसर आदि का कारण बन सकता है। कटहल विटामिन-सी से समृद्ध होता है इसलिए यह मोटापे को कम करने में मदद करता है। कटहल में मौजूद एंटीइंफ्लेमेटरी गुण मोटापे को रोकने में महत्वपूर्ण भूमिका निभाते है। कटहल रेसवेरेट्रॉल नामक एंटीऑक्सीडेंट का अच्छा स्रोत है जो वजन, बीएमआई और फैट मास को कम करने में मदद करता है।

स्वास्थ्य के लिए कटहल बेहद अहम
(Jackfruit is very important for health)

कटहल हड्डियों के लिए (For Bones): हड्डियों की मजबूती के लिए कटहल के गुण बेहद अहम हैं। कटहल में कैल्शियम पाया जाता है जो हड्डियों की मजबूती और विकास के लिए जरूर तत्व है। शरीर कैल्शियम नहीं बनाता है। 

कटहल कैंसर से बचने के लिए (Cancer) : कैंसर जैसी घातक बीमारी से बचने के लिए भी कटहल का सेवन किया जा सकता है। कटहल लिग्नांस, आइसोफ्लेवोंस और सैपोनिन जैसे फाइटोन्यूट्रिएंट्स से समृद्ध होता है जो कैंसर से लड़ने का काम करते हैं। कटहल में मौजूद एंटीऑक्सीडेंट गुण मुक्त कणों को बेअसर करते हैं और कैंसर को भी रोकते हैं। कटहल विटामिन-सी का भी अच्छा स्रोत है और विटामिन-सी कैंसर को रोकने में एक अहम भूमिका निभाता है। 

कटहल रोग प्रतिरोधक क्षमता के लिए (For Immunity) : शरीर की प्रतिरक्षा प्रणाली के लिए कटहल के फायदे बहुत हैं। कटहल में विटामिन-सी होता है, जो शरीर में रोग प्रतिरोधक क्षमता को मजबूत करने का काम करता है। विटामिन-सी कारगर एंटीऑक्सीडेंट के रूप में कार्य कर इम्यून सिस्टम को स्वस्थ रखता है और शरीर को रोगों से दूर रखने में मदद करता है।

कटहल पाचन संबंधी समस्याँ दूर करता है (Relieves digestive problems): कटहल अल्सर और पाचन संबंधी समस्यों को दूर करता है। कब्ज की समस्याँ को दूर करने में भी यह बहुत फायदेमंद है। कटहल की पत्तियों की राख अल्सर के इलाज के लिए बहुत उपयोगी होती है। हरी ताजा पत्तियों को साफ धोकर सुखा लें। सूखने के बाद पत्तियों का चूरन तैयार करें पेट के अल्सर से ग्रस्त व्यक्ति को इस चूरन को खिलाएं।

अपनाएं आयुर्वेद लाइफस्टाइल (Adopt ayurveda lifestyle in hindi)


कटहल खाने से अनगिनत फायदे 
(There are countless benefits from eating jackfruit)

कटहल जोड़ों के दर्द के लिए (For joint pain) : कटहल के छिलकों से निकलने वाला दूध अगर सूजन, घाव और कटे-फटे अंगों पर लगाया जाए तो आराम मिलता है। इसी दूध से जोड़ों पर मालिश की जाए तो जोड़ों के दर्द से राहत मिलती है।

कटहल मुंह के छालों के लिए (For mouth aphthae) : मुंह में बार-बार छाले होने की शिकायत हो, उन्हें कटहल की कच्ची पत्तियों को चबाकर थूकना चाहिए। यह छालों को ठीक कर देता है इसमें पाए जाने वाले कई खनिज हार्मोन्स को भी नियंत्रित करते हैं।

आंखों की रोशनी के लिए (For eyesight) : पके हुए कटहल के पल्प को अच्छी तरह से मैश करके पानी में उबालकर पीने से ताजगी आती है। कटहल में विटामिन ए पाया जाता है जिससे आंखों की रोशनी बढ़ती है।

एनीमिया के रोकथाम के लिए कटहल
(Jackfruit for prevention of anemia)

कटहल एनीमिया के लिए (Anemia) : एनीमिया जैसी बीमारी के लिए भी कटहल के बहुत उपयोगी होता है। रक्त में लाल कोशिकाओं की कमी के कारण होती है। एनीमिया के रोकथाम के लिए कटहल का सेवन किया जा सकता है, क्योंकि यह आयरन का अच्छा स्रोत है और आयरन लाल रक्त कोशिकाओं के विकास में मदद करता है। इसके अलावा, कटहल में विटामिन-बी6 की भी अधिकता होती है। यह पोषक तत्व भी लाल रक्त कोशिकाओं का विकास करता है।

कटहल रक्त संचालन के लिए (Blood circulation) : कटहल पोटैशियम और सोडियम से समृद्ध होता है जिस कारण यह रक्तचाप के लिए फायदेमंद हो सकता है। यह रक्त वाहिकाओं को आराम पहुंचाने और उचित रक्तचाप बनाए रखने में मदद करता है।

कटहल मधुमेहके लिए (Diabetes) : कटहल विटामिन-बी से समृद्ध होता है जो मधुमेह रोगियों के लिए इंसुलिन में सुधार कर सकता है। कच्चा कटहल प्रीडायबिटीज के लक्षणों को उलटने का काम कर सकता है। मधुमेह के लिए कटहल उपयोगी होता है।

कटहल थायराइड के लिए (Thyroid) : कटहल कॉपर का एक अच्छा स्रोत है जो थायराइड मेटाबॉलिज्म को बनाने में मदद करता है। कॉपर थायराइड विकारों के लिए भी फायदेमंद होता है।